सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में पुरानी बातों पर नहीं हुई चर्चा!

 

04 अक्टूबर को सांसद की उपस्थिति में बैठक में दिये गये थे निर्देश

(अय्यूब कुरैशी)

सिवनी (साई)। लगभग साढ़े तीन माह बाद संपन्न हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में 04 अक्टूबर को दिये गये दिशा निर्देशों का कितना अनुपालन हुआ इस बात पर चर्चा किये बिना ही नये निर्देश जारी कर दिये गये हैं। इस बैठक में 06 दिन में यातायात सिग्नल चालू करने के निर्देश दिये गये थे, साढ़े तीन माह बाद एक बार फिर इन सिग्नल को ठीक कराने के निर्देश दे दिये गये हैं।

मंगलवार को केद्रीय इस्पात राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते की अध्यक्षता में संपन्न हुई जिला सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन, सिवनी विधायक दिनेश राय, केवलारी विधायक राकेश पाल सिंह, जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक कमलेश खारपुसे सहित अन्य अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।

इस बैठक में सड़क दुर्घटनाओं में कमी लाने, यातायात को सुगम बनाने पर चर्चा हुई। बैठक की अध्यक्षता कर रहे केंद्रीय मंत्री श्री कुलस्ते ने मुख्य मार्गों के संभावित दुर्घटना वाले स्थानों को चिन्हांकित कर उन्हें दुरूस्त कराने एवं सूचक चिन्ह लगाये जाने के निर्देश दिये।

उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अधिकारियों को निर्देश दिये कि ग्रामीण अंचलों के जो भी मार्ग एनएच में आकर मिलते हैं उनके मुहानों पर गति अवरोधक बनाये जायें ताकि राष्ट्रीय राजमार्ग में प्रवेश करते समय वाहनों की गति कम रहे, और दुर्घटनाए ंन घट सकें।

इसके साथ ही साथ फग्गन ंिसंह कुलस्ते ने शहरी खेत्रों में यातायात व्यवस्थित करने के निर्देश नगर पालिका अधिकारी को दिये। उन्होंने शहर के डिवाईडर्स को एक बार फिर पेंट किया जाकर सड़कों पर प्रकाश की उचित व्यवस्था के निर्देश दिये। तीन माह पूर्व छः दिन में यातायात सिग्नल को ठीक करने के निर्देश के बाद एक बार फिर इनको चालू करवाने के निर्देश दिये गये। इस बार इसकी समय सीमा तय नहीं की गयी है।

ज्ञातव्य है कि पिछले साल 04 अक्टूबर को सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन की अध्यक्षता में संपन्न हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में नगरीय यातायात व्यवस्था हेतु प्रभुख रूप से नेहरू रोड, गांधी भवन चौक, सर्किट हाउस चौक एवं छिंदवाड़ा चौक पर अस्थायी प्लास्टिक के तीन लेफ्ट टर्न डिवाईडर लगाने के निर्देश नगर पालिका को दिये गये थे, ये निर्देश आज भी अमली जामा नहीं पहन सके हैं।

इसके साथ ही साथ पिछले साल हुई बैठक में सर्किट हाउस चौक से बाहुबली चौक तक की सड़क को चौड़ी करने के निर्देश, बंद पड़े सिग्नल को लेकर 06 दिन (10 अक्टूबर तक) में अनुबंधित फर्म से सुधार कराकर, उनके समय मंे सुधार हेतु निर्देशित किया गया था।

इस बैठक में सांसद डॉ.ढाल सिंह बिसेन द्वारा अधिकारियों से कहा गया था कि शहर में बढ़ते यातायात दबाव के लिये कार्ययोजना बनाकर कार्यवाही की जाये। जबलपुर, नागपुर की ओर से आने वाले भारी वाहनों को बायपास के साथ अन्य सड़कों से डायवर्ट किया जाये, ताकि शहर में यातायात का दबाव कम हो सके। ये निर्देश भी प्रतीक्षारत ही हैं।

सांसद डॉ.बिसेन ने इस बैठक में यह भी कहा था कि मुख्य मार्गों के ठेलों में लगायी जा रही फल सब्जी की दुकानों को लेकर बैठक में निर्णय लिया गया कि इन सभी ठेलों को चिन्हांकित कर पुरानी सब्जी मण्डी में लगवाया जाये ताकि मार्गांे में अन्यत्र लगने वाली दुकानों के कारण आने वाले व्यवधानों से निजात मिले। इसी तरह सड़क पर बैठे रहने वाले पशुओं के मालिकों को समझाईश देते हुए पशु पालकों द्वारा पशुओं को सड़क पर छोड़ने पर कार्यवाही के निर्देश दिये गये थे। विडंबना ही कही जायेगी कि 04 अक्टूबर को संपन्न हुई सड़क सुरक्षा समिति की बैठक में दिये गये निर्देशों में से कितनों का पालन हुआ, इस बात पर मंगलवार को हुई बैठक में चर्चा नहीं की गयी लेकिन नये निर्देश दिये जाकर रस्म अदायगी अवश्य कर दी गयी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *