प्राकृतिक तरीके से सर्दी से छुटकारा पाएँ . . 11

 

एक डॉक्टर को कब मिलना है यह पता होना चाहिए: कई मामलों में, डॉक्टर इस लेख में उपचार के साथ एक आम सर्दी का इलाज करने के लिए आपको बता देंगे। हालांकि, अगर आपको सर्दी या फ़्लू के गंभीर लक्षण हैं या पहले से एक सांस की बीमारी के साथ का निदान किया गया है, तो आपको तुरंत चिकित्सक सहायता लेनी चाहिए। यदि आपको निम्न लक्षणों में से कोई भी है तो तुरंत डॉक्टर से मिलिए।

तेज बुखार ( 102 डिग्री के ऊपर), कान या नाक संक्रमण, हरा, भूरा, या खूनी रंग का नाक से बहाव, हरी कफ के साथ खाँसी, खांसी जो दूर नही हो रही, त्वचा के चकत्ते, सांस फूलना।

सलाह

आराम करिए। अपने शरीर को अधिक धक्काने का मतलब है आप ठीक होने में लंबा समय लगाएँगे। आप अपनी नाक पोंछने के बाद, अपने हाथ धो लो और एक साफ टिश्यू ग्रहण करें। नियमित रूप से अपने हाथ धोते रहें। जब आप बाहर निकले तो एक हँड सॅनिटाइजर का उपयोग करें। एक स्वस्थ आहार खाएँ और अपने शरीर को जल्दी से स्वस्थ होने के लिए अधिक आराम करें।

यदि आपको सर्दी है तो, धूम्रपान या कल्पित धूम्रपान से बचना चाहिए। धूम्रपान आपके श्लेष्मा झिल्ली को परेशान करता है और आपके लक्षण और खराब हो सकते हैं। जितना आराम हो सके उतना करना चाहिए। इसका मतलब है सप्ताहांत के दौरान आराम और कुछ दिन के लिए काम बंद कर देना चाहिए। निरंतर तरल पदार्थ (पानी सर्वाेत्तम) का खूब सेवन करें।

लहसुन के 4 लौंग, 1 चम्मच अदरक, 2 कप चिकन शोरबा, 1 नींबू, और 1 चम्मच लाल शिमला मिर्च को लेकर एक सूप बनायें। अपने चेहरे पर ठंडे पानी का छिड़काव करिए। यह आपको ताजा महसूस करा देगा। बहरहाल, यह केवल ठीक होने का एक अस्थायी तरीका है; इसका प्रभाव सिर्फ़ 30 मिनट तक ही रहेगा। जुकाम को रोकने के लिए कुछ कसरत करनी चाहिए। रिसर्च से पता चला है कि नियमित रूप से, उदारवादी व्यायाम करने से सर्दी को पकड़ने की संभावना कम होती हैं।

चेतावनी

एक चिकित्सक से मिलें यदि आपके लक्षण 7-10 दिनों तक ठीक नही होते, या आप कोई ऐसे लक्षण महसूस कर रहे हैं जैसे तेज बुखार (102 डिग्री फारेनहाइट से ऊपर), नाक से बहाव, एक उत्पादक खांसी का विकास (कफ के साथ खांसी),या त्वचा पर चकत्ते। यदि आपको फेफड़ों की खास बीमारी जैसे दमा या एंफिजीमा हो, तो जब भी सर्दी हो अपने चिकित्सक को तुरंत सूचित करें। किसी भी हर्बल उपचार लेने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें। जड़ी बूटी कुछ दवाओं या चिकित्सा शर्तों को प्रभावित कर सकते हैं। यदि आप गर्भवती हैं तो, कुछ दवाए, जड़ी बूटी, और पूरक आहार आपके और आपके बच्चे के लिए हानिकारक हो सकते हैं और उन्हे नहीं लिया जाना चाहिए।

(साई फीचर्स)

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *