चाँद के पास पहुँचेंगे तीन ग्रह

 

सात दिनों में घटेगी अद्भुत खगोलीय घटना

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। आने वाले सात दिनों के अंदर तीन ग्रह चंद्रमा के समीप जीरो डिग्री पर पहुँचेंगे। इनमें गुरु, शुक्र और शनि ग्रह शामिल हैं। मंगल ग्रह चंद्रमा के समीप जीरो डिग्री में पहुँच गया है। मंगल के चंद्रमा के समीप पहुँचने से पृथ्वी पर गर्मी बढ़ सकती है।

07 दिनों में चार ग्रहों के चंद्रमा के समीप पहुँचना बड़ी खगोलीय घटना मानी जाती है। यह सभी नज़ारे टेलीस्कोप से देखे जा सकते हैं। प्रत्येक ग्रह चंद्रमा के समीप 06 से 07 घण्टे तक रहेगा। इन ग्रहों की स्थिति के कारण शुक्ल पक्ष भी 15 की जगह 16 दिन के होंगे। साथ ही भारत में बड़े राजनीतिक बदलाव भी देखने को मिलेंगे।

मराही माता स्थित कपीश्वर हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी उपेंद्र महाराज ने बताया कि मंगल ग्रह मंगलवार को पृथ्वी की कक्षा में भ्रमण करता हुआ चंद्रमा के नजदीक जीरो डिग्री पर पहुँच गया है। मंगल और चंद्रमा की इस नजदीकी से पृथ्वी पर मौसम में बदलाव देखने को मिलेगा। पृथ्वी पर गर्मी और उमस बढ़ सकती है। इसके बाद 28 जनवरी तक तीन और खगोलीय घटनाएं होंगी।

इसमें 23 जनवरी को देवगुरु बृहस्पति, 24 जनवरी को शनि और 28 जनवरी को शुक्र चंद्रमा के समीप जीरो डिग्री पर आ जायेंगे। यह सभी ग्रह 06 से 07 घण्टे तक इस स्थिति में रहेंगे। इस खगोलीय घटना को ज्योतिष की भाषा में युति कहा जाता है। चंद्रमा के नजदीक ग्रहों का आना सामान्य घटना होती है। लेकिन 09 दिनों के अंदर चार ग्रहों का एक के बाद एक करके चंद्रमा के समीप जीरो डिग्री पर आ रहे हैं यह दुर्लभ संयोग है।

कब कौन सा ग्रह होगा चंद्रमा के समीप : 20 जनवरी की रात 12 बजकर 44 मिनिट पर मंगल चंद्रमा के पास जीरो डिग्री पर आ गया था। उस समय मंगल की स्थिति दक्षिण दिशा में देखी गयी थी। 23 जनवरी को दोपहर 02 बजकर 45 मिनिट पर बृहस्पति चंद्रमा के समीप होगा। इसे पश्चिम दिशा से देखा जा सकता है।

24 जनवरी को चंद्रमा के पास शनि के आ जाने से पृथ्वी चंद्रमा और शनि तीनों एक ही लाईन में रहेंगे। यह स्थिति दोपहर 08 बजकर 08 मिनिट पर बनेगी। इस दौरान शनि को पश्चिम दिशा से चंद्रमा के पास देखा जा सकेगा। 28 जनवरी को शाम 07 बजकर 28 मिनिट पर शुक्र चंद्रमा के पास आ जायेगा। इसे उत्तर दिशा से चंद्रमा के पास देखा जा सकेगा। चंद्रमा के समीप जो ग्रह गुजरेंगे। वह बिलकुल जीरो डिग्री पर एक सीध में दिखायी देगा।

यह बनेंगे योग और देखने को मिलेंगे बदलाव : उन्होंने बताया कि इन खगोलीय घटनाओं के कारण अचानक मौसम में बदलाव आयेगा। दिन में गर्मी बढ़ेगी और रात में ठण्ड रहेगी। देश के कुछ हिस्सों में अचानक बारिश और कोहरा भी बढ़ सकता है। साथ ही चंद्रमा मंगल के साथ होने से महालक्ष्मी योग बना। वहीं बृहस्पति के साथ चंद्रमा के होने से गजकेसरी योग बनेगा। वहीं शनिदेव के साथ चंद्रमा के होने से विष योग भी बनेगा।

इन दो शुभ और एक अशुभ योग के प्रभाव से देश में बड़े राजनीतिक बदलाव देखने को मिलेंगे। इस दौरान देश की सीमाओं से जुड़े बड़े फैसले सरकार ले सकती है। वहीं इन दिनों शनि के राशि परिवर्तन से सूर्य और शनि एक राशि में आ जायेंगे तथा चंद्रमा धनु राशि में चतुर ग्रह योग भी बनायेगा। इससे देश में बदलाव की स्थिति बन सकती है। साथ ही राहु और केतु व शनि के कारण सीमा पर तनाव बढ़ सकता है।

16 दिन का रहेगा शुक्ल पक्ष : माघ माह के शुक्ल पक्ष इस बार 15 दिन का नहीं बल्कि 16 दिनों का रहेगा। इस पक्ष में तृतीया तिथि बढ़ जाने से ऐसी स्थिति बनेगी। ज्योतिष शास्त्र में शुक्ल पक्ष के दिन बढ़ने को शुभ माना गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *