ठण्ड ने फिर दी दस्तक, सतर्क रहें, रखें अपना ख्याल

 

ठण्ड ने फिर एक बार दस्तक दे दी है, अभी तक सुबह शाम की ठंडक थी पर अब दोपहर ढलते ही मौसम में ठंडक शुरू हो जाती है। वैसे तो ये गुलाबी ठण्ड कहा जाता है, लेकिन अगर ध्यान ना रखे जाये तो ये ठण्ड आपको बीमार भी कर सकती है। बुजुर्ग और बच्चे ठंड के मौसम में सबसे ज्यादा परेशानियों का सामना करते हैं।

मौसम बदलने का सीधा असर उन पर पड़ता है। उनमें से बुजुर्ग तो अपनी तकलीफ बता व समझा कर निदान ढूंढ सकते हैं, पर छोटे बच्चे के लिए यह बिल्कुल मुश्किल है। ऐसे में छोटे बच्चों की ठंड में बेहतर देखभाल की जरूरत होती है। विशेषज्ञ बताते हैं कि अचानक मौसम परिवर्तन का असर सभी पर होता और इससे छोटे बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होते हैं। सर्दी, जुकाम और गले में इंफेक्शन के अलावा छोटे बच्चों को परेशानियां सबसे ज्यादा होती हैं।

वर्तमान समय में रात का तापमान 10 से 15 डिग्री सेल्सियस हो गया है। जिस कारण रात के समय में ठंड बढ़ने लगी है। मौसम के करवट बदलने से लोगों की सेहत भी बिगड़ने लगी है। शहर के अस्पताल में खांसी और जुकाम के केसों में लगातार बढ़ोतरी होने लगी है। मौसम बदलने के साथ ही इंफेक्शन बढ़ रहा है।

जिस कारण खांसी, जुकाम और बुखार के मरीज क्लीनिक में अधिक पहुंच रहे हैं। अस्थमा के मरीज के लिए तो सबसे अधिक सावधानी बरतने की जरूरत है। अस्थमा के मरीज को अपनी दवा हमेशा अपने पास रखनी चाहिए। मौसम के करवट लेते ही बुजुर्ग सबसे अधिक प्रभावित होते हैं उन्हें गर्म कपड़ों में रहना चाहिए। सर्दी जुकाम होने से तुरंत डॉक्टर से कंसल्ट करना चाहिए।

त्वचा का रखें ख्याल- सर्दी शुरू होते ही शरीर से पसीना आना बंद हो जाता है। इससे त्वचा में खिंचाव जाता है। जिसे त्वचा फटनी भी शुरू हो जाती है। सर्दी में त्वचा पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है। इस मौसम में नहाते समय साबुन का इस्तेमाल भी देखकर करें। अधिक कास्टिक वाली साबुन का इस्तेमाल करें। साथ ही मॉस्चराइजर का भी जरूर इस्तेमाल करना चाहिए।

खाने-पीने का रखें ख्याल- इसमौसम में यदि आपके खाने-पीने का चार्ट बिगड़ा तो इससे आपकी सेहत तो बिगड़ेगी ही। साथ ही आपकी फिगर पर भी बुरा असर पड़ सकता है सर्दी के मौसम में रोजाना सैर एक्सरसाइज को रेगुलर रखने की जरूरत बताई।

इसके साथ ही कुछ और बातों का भी ध्यान रखें- फुल बाजू कपड़े पहनें, रात के समय गर्म कपड़े पहने, पानी को उबाल कर पीएं, इंफेक्शन वाले मरीज से दूर रहे, बुढ़े व बच्चे रात के समय में नहीं घुमे, अस्थमा के मरीज हमेशा दवा साथ रखें, ब्लड प्रेसर के मरीज नियमित जांच कराएं। शुगर के मरीज भी सावधान रहें, बदलता मौसम इनके लिए परेशानी बढ़ा सकता है।

(साई फीचर्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *