दिल्ली पहुंचा उज्जैन की बेटी आबेदा का ‘सरल ठेला’

 

(ब्यूरो कार्यालय)

उज्‍जैन (साई)। शहर की बेटी आबेदा बी का सरल ठेलाअब दिल्ली में धूम मचाएगा। मंगल कॉलोनी निवासी कक्षा 7वीं की होनहार छात्रा आबेदा ने कबाड़ से जुगाड़ बैठाकर ऐसा ठेला बनाया है, जो राज्य स्तर पर मध्य प्रदेश शासन से पुरस्कृत होने के बाद अब दिल्ली में होने वाली इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी में रखा जाएगा।

ये प्रदर्शनी अप्रैल में लगने की संभावना है। आबेदा, खिलचीपुर स्थित शासकीय कन्या हाईस्कूल दौलतगंज क्रमांक 2 की छात्रा है। उसके पिता सिद्दिक शाह फेरी लगाकर रोजी-रोटी का प्रबंध करते हैं। आबेदा ने बताया कि एक दिन उसके पिता पुलिया पर हाथ ठेला धका रहे थे और ठेले को नियंत्रित करने में उन्हें काफी दिक्कत आ रही थी।

ऊंचाई चढ़ाने में ताकत लग रही थी और ढलान पर संतुलन बनाने, उसे रोकने में भी। तभी आइडिया आया कि क्यों न इस दिक्कत का समाधान किया जाए। ठेले में स्टेयरिंग, ब्रेक, गियर लगा दिए जाए। ये आइडिया उसने भारत सरकार की इंस्पायर अवार्ड के लिए वेबसाइट पर शेयर किया। सरकार को आइडिया पसंद आया तो 10 हजार स्र्पए मॉडल बनाने को दिए। अटाले वाले से एक पाइप खरीदकर स्टेयरिंग बनाया। पुरानी साइकिल का ब्रेक और पुराने स्कूटर का गियर लिया।

छोटा ठेला बनाकर उसमें इसे फीट किया और ये मॉडल सफल हो गया। हाल ही में भोपाल में रखी राज्य स्तरीय इंस्पायर अवार्ड विज्ञान प्रदर्शनी में ये प्रदर्शित हुआ तो सबने सराहा। मॉडल को प्रदेश के टॉप-23 मॉडल में चुना गया। अब ये मॉडल लेकर राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी में शामिल होउंगी। मॉडल का निर्माण प्राचार्य विवेक तिवारी, शिक्षक जानकी कुशवाह और रचना परमार के मार्गदर्शन में किया था।

अक्ष ने बनाया मलेरिया से बचने को मच्छर मारने का फार्मूला

ये हैं शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय माधवनगर में अध्ययरनत 10वीं के छात्र अक्ष जोशी। रंगों के जरिए कैसे मच्छरों को एक जगह एकत्रित कर उन्हें नष्ट किया जा सकता है, इसका मॉडल इन्होंने बनाया और इसे भोपाल में लगी इंस्पायर अवार्ड राज्य विज्ञान प्रदर्शनी में प्रदर्शित कर पुरस्कार पाया। ये भी अब दिल्ली में लगने वाली राष्ट्रीय विज्ञान प्रदर्शनी में अपना मॉडल लेकर जाएंगे। उन्होंने बताया कि ये मॉडल उन्होंने व्याख्याता डॉ. योगेंद्र कोठारी के मार्गदर्शन में तैयार किया था।

 

23 thoughts on “दिल्ली पहुंचा उज्जैन की बेटी आबेदा का ‘सरल ठेला’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *