सरकारी काम में बाधा डालने पर मामला कायम

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

कुरई (साई)। घर से अवैध सागौन जप्त होने के बाद बौखलाये परिवार के लोगों द्वारा वन अमले को रोककर धमकाने और गाली गलौच करने के मामले में कुरई थाना पुलिस ने पोटिया गाँव निवासी एक परिवार के चार लोगों के खिलाफ प्रकरण दर्ज किया है।

संबंधितों के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा पहुँचाने और जान से मारने की धमकी देने सहित गाली गलौच करने की विभिन्न धाराओं के तहत प्रकरण दर्ज किया गया है। पेंच टाईगर रिज़र्व खवासा बफर के अमले ने 27 जनवरी को आरोपी मूलचंद भालेकर के घर से 51 नग सागौन के पटिये 0.387 घनमीटर लकड़ी जप्त की थी।

खवासा बफर रेंजर अजय सागर ने जानकारी देते हुए बताया कि पूछताछ में आरोपी मूलचंद भालेकर ने बफर के जंगल से सागौन लठ्ठा लाकर पटिये तैयार करने की बात स्वीकार की थी। संबंधित के खिलाफ वन अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्यवाही की जा रही थी।

इस कार्यवाही से बौखलाये मूलचंद भालेकर, गिरजा नंदन भालेकर, विजय, सुरेंद्र ने 28 जनवरी की दोपहर पोटिया वन नाका पहुँचकर यहाँ तैनात वन रक्षक संतोष डोंगरे व देवाशीष डहेरिया के साथ अभद्रता कर उन्हें धमकाया। आरोपियों द्वारा कर्मचारियों के साथ गाली गलौच करते हुए उन्हें जान से मारने की धमकी दी गयी।

इसके साथ ही साथ अधिकारियों पर भी अभद्र टिप्पणी करते हुए गाँव में नहीं घुसने देने और वन नाका को तोड़ने की धमकी दी गयी थी। इस मामले की सूचना अमले ने कुरई थाने में दर्ज करायी थी। कुरई थाना प्रभारी जी.एस. उईके ने बताया कि वन कर्मियों की शिकायत पर चारों आरोपियों के खिलाफ धारा 294, 341, 186, 506, 34 भादवि के तहत प्रकरण दर्ज कर मामले को जाँच मे ले लिया गया है। पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है।