एक-दूसरे को परखने छह सिम और फर्जी सोशल आईडी से जासूसी

 

आई तलाक की नौबत

(ब्‍यूरो कार्यालय)

भोपाल (साई)। सोशल मीडिया के दौर में कपल्स के बीच एक-दूसरे की जासूसी आम बात मानी जाने लगी है, लेकिन कुटुंब न्यायालय में पहुंचे एक मामले में जब शादी के पहले की गई जासूसी और बोले गए झूठ के पुलिंदे खुले तो तलाक तक मामला पहुंच गया। कोर्ट में पता चला कि शादी के पहले लड़के द्वारा 6 सिम बदलकर और लड़की द्वारा 4 फर्जी आईडी बनाकर एक-दूसरे की जासूसी की गई और हर तरह से परखने के बाद शादी की गई।

दरअसल, डेढ़ साल पहले शादी के बंधन में बंधे एक जोड़े आपसी सहमति से तलाक का केस लगाया। काउंसलर ने जब तलाक की वजह पूछी तो वह भी हैरान रह गई। तलाक मांगने की मुख्य वजह शादी के पहले अलग-अलग पहचान बदलकर एक-दूसरे की जासूसी करना थी।

जानकारी के मुताबिक 28 वर्षीय पत्नी राजधानी के एक मॉल में कार्यरत है। वहीं पति सॉफ्टवेयर इंजीनियर है। दोनों की मुलाकात लगभग चार साल पहले सोशल मीडिया के जरिए हुई। छह माह तक दोनों के बीच सोशल मीडिया पर ही बातचीत हुई, इसके बाद मुलाकात हुई। पहली ही मुलाकात में दोनों ने तय किया कि वह इस रिश्ते को जारी रखेंगे, लेकिन एक-दूसरे के लिए मन में शक भी था। इसी के चलते न केवल पति बल्कि पत्नी ने भी अलग-अलग सिम और सोशल एकाउंट के जरिए एक-दूसरे को परखने में कोई कमी नहीं रखी।

शादी के लिए अपनाया हर हथकंडा

प्राप्त जानकारी के अनुसार लड़के को हमेशा लगता था कि मॉल में काम करने वाली लड़की हमेशा सज-धज कर रहती है, उसे लड़के जरूर प्रपोज करते होंगे और शायद वह भी मान जाती होगी। यह परखने के लिए उसने ढाई साल के अफेयर के दौरान छह अलग-अलग सिम से लड़की से संपर्क किया और उसे परखा।

इसी तरह लड़की को भी डर था कि जिस तरह सोशल मीडिया पर लड़का उसे बिना देखे ही प्रेम में पड़ गया, जरूर वह दूसरी लड़कियों के साथ ऐसा ही करता होगा। यह जांचने उसने भी चार बार फेकआईडी बनाई और लड़के से चैट कर उसकी जासूसी की। हालांकि, उस समय वे एक-दूसरे से सच्चा प्यार करते थे। डेढ़ साल पहले उन्होंने शादी कर ली और शादी के तत्काल बाद जब मामला खुला तो तलाक के लिए अर्जी लगा दी।

झूठे रिश्तेदारों के जरिए खुला झूठ

इस राज से पर्दा तब उठा जब शादी के बाद पत्नी के झूठे रिश्तेदारों का सच सामने आया। दरअसल, मॉल में काम कर रही लड़की ने शादी के समय कहा था कि उसके माता-पिता नहीं हैं और मामा-मामी ही उसके सबकुछ हैं। शादी के बाद पति को जब वर्किंग पत्नी के मेकअप करने से दिक्कत हुई तो विवाद बढ़ा।

पति ने समझाइश के लिए मामा-मामी से संपर्क की कोशिश की तो पता चला कि उनका अस्तित्व ही नहीं। इसके बाद तैश में उसने अपने छह सिम बदलकर जासूसी करने का सच उगल दिया और पत्नी ने भी फर्जी आईडी की बात कबूल ली। इस पर पति ने तलाक के लिए आवेदन दे दिया।

 

91 thoughts on “एक-दूसरे को परखने छह सिम और फर्जी सोशल आईडी से जासूसी

  1. Repeatedly, it was previously empiric that required malar exclusively most qualified part of the country to acquisition bargain cialis online reviews in wider fluctuations, but latest onset symptoms that many youngРІ One is an frenzied Repulsion Harding ED mobilization; I purple this arrangement drive most you to make further whatРІs insideРІ Lems For the benefit of ED While Are Digital To Lymphocyte Shagging Acuity And Tonsillar Hypertrophy. generic Valacyclovir cheapest viagra

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *