सिर्फ वजन ही नहीं, तनाव भी कम करती है साईकिलिंग

 

(हेल्थ ब्यूरो)

सिवनी (साई)। साईकिल चलाने से वजन घटता है, यह तो हम सभी जानते हैं लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि साईकिल चलाना तनाव को घटाता है और आपको डिप्रेशन में जाने से रोकता है।

है ऐरोबिक एक्सरसाईज : साईकिलिंग ऐरोबिक एक्सरसाईज है जिसके कई फायदे हैं। इससे दिल के रोगों का खतरा कम होता है।

होती है प्रसन्नता महसूस : साईकिल चलाने से सिरोटोनिन, डोपामाइन व फेनिल इथिलामीन जैसे रसायनों का दिमाग में उत्पादन बढ़ता है, जिससे आप खुशी महसूस करते हैं और तनाव दूर होता है।

होता है पैरों का पूरा व्यायाम : लगातार साईकिल चलाना घुटने व जोड़ों के दर्द से परेशान लोगों को आराम पहुँचाता है। इससे घुटनों के जोड़ों व आपके पैरों का पूरा व्यायाम होता है।

पहले पीयें पर्याप्त मात्रा में पानी : डायबिटीज के रोगियों को साईकिल चलाने से पहले पर्याप्त मात्रा में पानी पीना चाहिये। टाइप-1 डायबिटीज के रोगी यदि 01 घण्टे से ज्यादा साईकिल चलाते हैं तो उन्हें कुछ कॉर्बाेहाईड्रेट युक्त आहार साथ में रखना चाहिये।

करायें ब्लड शुगर की जाँच : डायबिटीज वाले मरीज़ यदि नियमित तौर पर लंबी दूरी, साईकिल से तय करते हैं तो उन्हें एक्सरसाईज से पहले व बाद में ब्लड शुगर की जाँच कराना चाहिये। यह जाँच फिंगर स्टिक स्टाइल ब्लड ग्लूकोज मीटर से हो सकती है।

पड़ता है घुटनों पर बहुत कम दबाव : साईकिल चलाने से स्वास्थ्य संबंधी सभी फायदे मिलते हैं। दौड़ने की तुलना में साईकिल चलाने से आपके घुटनों पर बहुत कम दबाव पड़ता है और पैर की माँसपेशियों का व्यायाम होता है।