शहर ने ओढ़ी कोहरे की चादर

 

रात 09 बजे के बाद अचानक छाया कोहरा, रात गहराते ही दृश्यता हुई बेहद कम

(महेश रावलानी)

सिवनी (साई)। सोमवार और मंगलवार की दरमियानी रात हुई बारिश के चलते मंगलवार को अपेक्षाकृत सर्दी महसूस हुई। मंगलवार की रात लगभग नौ बजे से कोहरा छाना आरंभ हुआ, जो रात गहराते तक बढ़ता ही गया। आलम यह था कि हाथ को हाथ दिखाई नहीं दे रहा था। दृश्यता बेहद कम हो गई थी।

शहर में बारिश के कारण मंगलवार को मौसम बदला गया है। आसमान पर बादलों का डेरा अभी भी बना हुआ है और सुबह से रिमझिम बारिश हुई। दोपहर में कुछ समय के लिए बारिश थमी फिर शाम को एक बार बूंदाबांदी आरंभ हुई। बारिश शुरू होते ही नमी और सर्दी बढ़ गई है। लोग रेनकोट और छतरी के सहारे घर से बाहर निकले और जरूरी कामकाज निपटाए। मौसम बदलने के कारण सड़कों और चौक – चौराहों पर सन्नाटे जैसी स्थिति बन गई। ज्यादातर लोग घरों में ही दुबके रहे।

मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के प्रभावी होने से बारिश शुरू हुई है। इसके चलते दो दिन तक बादल छाये रहेंगे और रूक-रूक कर बारिश हो सकती है।

इस कारण बदला मौसम : सूत्रों के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ के प्रभावी होने से बारिश शुरू हुई है। इसके साथ ही दक्षिण पश्चिमी प्रदेश के ऊपर कम दबाव का चक्रवात बना है। 48 घंटे तक बादल छाए रहने और रुक-रुक कर बारिश होने का पूर्वानुमान है। दक्षिणी पूर्वी हवा की औसत रफ्तार 03 से 04 किलो मीटर प्रति घंटा रही। बंगाल की खाड़ी से नमी आने के कारण घने बादल छाये हैं।

सूत्रों ने बताया कि जिस तरह का पूर्वानुमान दिख रहा है उसके हिसाब से अभी 09 फरवरी तक मौसम का मिज़ाज नरम गरम रहने की उम्मीद है। इसका सीधा मतलब यही है कि फरवरी माह में अंत तक सर्दी का कहर लोगों को झोलने पर मजबूर होना पड़ सकता है।

ओलावृष्टि की संभावनाएं : सूत्रों ने यह भी बताया कि जिस तरह का पूर्वानुमान मिल रहा है उसके हिसाब से 09 फरवरी तक कहीं – कहीं ओलावृष्टि की संभावनाएं भी दिख रहीं हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *