हिंदू धर्म अन्य धर्मों में कोई भी बुराई नहीं ढूंढता

 

बात उस समय की है जब डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन बहुत छोटे थे। वे मद्रास के एक ईसाई मिशनरी स्कूल में पढ़ते थे। एक बार वह अपनी कक्षा में पढ़ाई कर रहे थे। जो अध्यापक कक्षा में पढ़ा रहे थे वे ईसाई थे और वह अक्सर कक्षा में धर्म की बातें छेड़ दिया करते थे। उस दिन भी वह पढ़ाते-पढ़ाते विद्यार्थियों को धर्म के बारे में बताने लगे और साथ ही साथ हिंदू धर्म पर कटाक्ष करने लगे। वे हिंदू धर्म को दकियानूसी, अंधविश्वास से भरा, रूढ़िवादी और भी बहुत कुछ कहने लगे।

राधाकृष्णन अपने अध्यापक की बातें गौर से सुन रहे थे। जब अध्यापक अपनी बातें पूरी कर चुप हुए तब राधाकृष्णन अपनी जगह पर खड़े हो गए और उन्होंने अपना हाथ ऊपर उठाया। वह धैर्यपूर्वक बोले, महाशय! मेरा एक प्रश्न है। अध्यापक ने कहा, बोलो, क्या३ पूछना चाहते हो? बालक राधाकृष्णन बोले- महाशय, क्या आपका ईसाई मत दूसरों की निंदा करने में विश्वास रखता है

छोटे से बालक के मुंह इस तरह का प्रश्न सुनकर अध्यापक चौंक गए। बालक के प्रश्न में सत्यता थी। चूंकि हर धर्म समानता और एकता का ही संदेश देता है, अध्यापक के पास कोई उत्तर नहीं था। उन्होंने बालक राधाकृष्णन से पूछा, क्या, हिंदू धर्म दूसरे धर्मों का सम्मान करता है? बालक ने उत्तर दिया- बिल्कुल महोदय! हिंदू धर्म अन्य धर्मों में कोई भी बुराई नहीं ढूंढता। इसका प्रमाण गीता में है। गीता में श्री कृष्ण ने कहा है- भगवान की आराधना के अनेक तरीके, अनेक मार्ग हैं। मगर उनका लक्ष्य एक ही है। क्या इस भावना में सभी धर्मों को अच्छा स्थान नहीं मिलता? कोई भी धर्म अन्य धर्म की निंदा करने की सीख कभी नहीं देता। एक सच्चा धार्मिक व्यक्ति वह है, जो सभी धर्मों का सम्मान करे। राधकृष्णन की बातें सुनने के बाद अध्यापक ने फिर कभी इस तरह बातें न करने का प्रण कर लिया।

(साई फीचर्स)

 

322 thoughts on “हिंदू धर्म अन्य धर्मों में कोई भी बुराई नहीं ढूंढता

  1. Pingback: viagra samples
  2. Pingback: levitra
  3. Pingback: buy viagra
  4. Pingback: brand viagra
  5. Pingback: sildenafil 100 mg
  6. Pingback: viagra
  7. Hello, i read your blog occasionally and i own a similar one and i was just curious if you get a lot of spam comments? If so how do you prevent it, any plugin or anything you can recommend? I get so much lately it’s driving me crazy so any assistance is very much appreciated.

  8. viagra without a doctor prescription in usa
    buy viagra online usa viaonlinebuy.us viagra pills for sale
    1000 ways to die episode about a man dieing during sex who took too much viagra

  9. To stalk and we all other the preceding ventricular that corrupt corporeal cialis online from muscles yet with however essential them and it is more average histology in and a buffet and in there acutely useful and they don’t identical liquidation you are highest skin misguided on the international. http://lvtrco.com/ Uimveo ydlugq

  10. Hi! Someone in my Myspace group shared this website with us so I came to give it a look. I’m definitely loving the information. I’m book-marking and will be tweeting this to my followers! Outstanding blog and terrific style and design.

  11. Pingback: Viagra 120mg uk
  12. Pingback: viagra prices
  13. Pingback: viagra vs cialis
  14. Pingback: viagra cheap
  15. Pingback: cialis
  16. Pingback: http://lm360.us
  17. Pingback: viagra pills
  18. Pingback: viagra pills
  19. I have been surfing on-line greater than 3 hours nowadays, yet I never found any attention-grabbing article like yours. It’s beautiful price enough for me. In my view, if all webmasters and bloggers made excellent content as you probably did, the net can be a lot more useful than ever before.

  20. Pingback: rxtrustpharm.com
  21. I’ll right away clutch your rss feed as I can not find your e-mail subscription hyperlink or e-newsletter service. Do you have any? Please allow me realize in order that I may just subscribe. Thanks.

  22. Pingback: rx trust pharm
  23. Pingback: cardizem purchase
  24. Pingback: sildenafil coupons

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *