दिल्ली हिंसा: सोनिया के बाद प्रियंका ने अमित शाह से की इस्तीफे की मांग

 

अधीर रंजन ने बताया शर्मनाक घटना

(ब्यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। देश की राजधानी दिल्ली के नॉर्थ-ईस्ट इलाके में हुई हिंसा राजनीतिक बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रहा है। कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के बाद पार्टी की महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने भी गृह मंत्री अमित शाह से इस्तीफा देने की मांग की है। वहीं लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने आरोप लगाया है कि जानबूझकर हिंसा भड़काया गया।

पूरी तरह विफल रही मोदी सरकार: प्रियंका गांधी

कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी वाड्रा ने बुधवार को सरकार पर दिल्ली में कानून व्यवस्था बनाये रखने में विफल रहने का आरोप लगाया और गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग की। दिल्ली हिंसा के खिलाफ पार्टी के शांति मार्च के दौरान कांग्रेस कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए प्रियंका ने उनसे प्रभावित इलाकों में जाने तथा शांति एवं भाईचारे का संदेश फैलाने की अपील की।

उन्होंने सरकार पर दिल्ली को बर्बाद करने का आरोप लगाया। कांग्रेस महसचिव ने कहा, ‘यह हमारी दिल्ली है। लोग यहां काम की तलाश में आते हैं। आज इस शहर में आग और हिंसा फैलायी जा रही है। हम उस पार्टी से हैं जिसने स्वतंत्रता संघर्ष में योगदान दिया और शांति एवं सौहार्द बनाये रखना हमारा कर्तव्य है।

उन्होंने कहा, ‘मैं आप सभी से आग्रह करती हूं कि प्रेम और भाईचारे का संदेश फैलायें।प्रियंका ने आरोप लगाया, ‘राष्ट्रीय राजधानी में शांति लौटाना सरकार, गृह मंत्री का काम है लेकिन वे विफल रहे।उन्होंने आरोप लगाया कि दिल्ली आपका शहर है और इसे नष्ट किया जा रहा है, सरकार शांति बनाए रखने में विफल रही है। कांग्रेस नेता ने कहा, ‘हम गृह मंत्री के आवास तक जाना चाहते थे और इस्तीफा मांगना चाहते थे, लेकिन पुलिस ने हमें रोक दिया।

कहां थे शाहपर सोनिया को बीजेपी का जवाब

कहां थे शाहपर सोनिया को बीजेपी का जवाबदिल्ली में हिंसा लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने आज गृह मंत्री अमित शाह को घेरा और उनके पांच सवाल पूछ डाले। खास तौर पर सोनिया ने हिंसा की शुरुआत के वक्त शाह की मौजूदगी को लेकर सवाल खड़े किए। बीजेपी की ओर से इसका जवाब केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दिया। उन्होंने कहा कि अमित शाह पहले दिन से हिंसा को रोकने के काम में लगे हुए थे। उन्होंने सोनिया के सवाल के जवाब में राहुल गांधी पर तंज कस दिया।

गौरतलब है कि उत्तर पूर्वी दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) का समर्थन करने वाले और विरोध करने वाले समूहों के बीच संघर्ष ने साम्प्रदायिक रंग ले लिया था। उपद्रवियों ने कई घरों, दुकानों तथा वाहनों में आग लगा दी और एक-दूसरे पर पथराव किया। इन घटनाओं में बुधवार तक कम से कम 24 लोगों की जान चली गई।

दिल्ली में जानबूझकर भड़काई गई हिंसा: अधीर रंजन चौधरी

लोकसभा में कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने बुधवार को केंद्र सरकार और दिल्ली पुलिस पर राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा रोकने के लिए पर्याप्त प्रयास नहीं करने का आरोप लगाते हुए दावा किया कि यह देश में जानबूझकर हिंसा भड़काने की कोशिशथी। दिल्ली में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) को लेकर भड़की सांप्रदायिक हिंसा में बुधवार तक 22 लोगों की मौत हो चुकी है।