कोरोना से खतरनाक है यह कचरा!

 

खुले में ढुल रहे कचरे पर प्रशासन का मौन संदिग्ध!

(संजीव प्रताप सिंह)

सिवनी (साई)। नगर पालिका परिषद के द्वारा खुले में कचरा ढोया जा रहा है। यह शहर के लिए कोरोना से खतरनाक हो सकता है। दरअसल, परिवहन के दौरान यह कचरा सड़कों पर गिर रहा है, जिससे संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है।

नगर पालिका की कचरा गाड़ी घरों घर से कचरा एकत्र करती है। इस कचरा गाड़ी से गीले कचरे का पानी सड़कों पर टपकता रहता है। इसके अलावा यह गाड़ी जहां से भी गुजरती है, वहां कचरे की दुर्गंध से नागरिक बुरी तरह परेशान हो जाते हैं। देखा जाए तो हाफलन नियम के अनुसार कचरे का परिवहन ढंककर किया जाना चाहिए।

शहर में जहां तहां नगर पालिका के ट्रेक्टर में भी कचरा खुले में ही परिवहन किया जाता है। इस कचरे को डंपिंग यार्ड तक ले जाते समय इसका परिवहन तिरपाल या पालीथिन से ढंककर किया जाना चाहिए किन्तु इस नियम का पालन नगर पालिका के द्वारा नहीं किया जा रहा है।

कचरा परिवहन में देखा गया है कि सड़क या फिर रहवासी कॉलोनियों से गुजरने वाले इस वाहनों से कचरा सड़क पर गिरता है। गाड़ी चलने के दौरान हवा से भी ये कचरा उड़ता है। कई बार ऐसे हालात बने हैं जिसमें परिवहन के दौरन कचरा उड़कर अन्य वाहन पर भी गिरा है।

लोगों का कहना है कि अगर कचरा ले जा रही ट्राली या अन्य वाहन के पीछे अगर आप दो पहिया वाहन से चल रहे हैं तो आपके ऊपर उस वाहन से उड़कर कचरा गिरना तय ही है। नगर पालिका के पास पर्याप्त संसाधन होने के बाद भी उसका उपयोग क्यों नहीं किया जाता यह बात शोध का ही विषय मानी जा सकती है।