भद्रा रहित प्रदोष बेला में होगा होलिका का दहन

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। भद्रा रहित प्रदोष बेला में सोमवार को गली, मोहल्लों, चौराहों आदि स्थानों पर होलिका का दहन किया जायेगा।

मराही माता स्थित कपीश्वर हनुमान मंदिर के मुख्य पुजारी उपेंद्र महाराज ने बताया कि पूर्णिमा तिथि 09 मार्च को सुबह 03ः04 बजे से 09 मार्च को रात 11ः17 बजे तक रहेगी। भद्रा सुबह 03ः03 से दोपहर 01ः10 मिनिट रहेगी। वैसे ज्योतिषी के जानकारों के अनुसार माना जाता है कि होलिका दहन भद्रा रहित पूर्णिमा तिथि में प्रदोष वेला में ही किया जाना चाहिये।

उन्होंने बताया कि इस वर्ष दोपहर में भद्रा के समाप्त होने से होलिका दहन के शुभ समय अर्थात प्रदोष बेला में निर्विघ्न होलिका दहन किया जा सकता है।

उल्लेमखनीय है कि होली दहन की तैयारियां होलिका दहन समितियों ने पूरी कर ली हैं। इस बार भी पर्यावरण संरक्षण और गौ शालाओं के संवर्धन के लिये शहर में जगह – जगह गाय के गोबर से बने कंडों और लकड़ियों से होलिका का दहन किया जायेगा।

ज्योतिषाचार्यों के अनुसार होलिका पूजन एवं दहन का समय इस तरह है : प्रदोष बेला में शाम 06.20 से 07.44 बजे तक होलिका का दहन किया जा सकता है।

चौघड़िया के अनुसार मुहूर्त इस प्रकार है : चर मुहूर्त शाम 06.27 से 07.59 बजे तक। लाभ : रात 11.02 से रात 12.34 बजे तक। शुभ: रात 02.05 से 03.37 बजे तक (शुभ) एवं अमृत : सुबह 03.38 से 05.09 बजे तक रहेगा।