कोरोना : यहाँ माँस-मछली बेचने पर लगी रोक

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। देश-विदेश में फैल रही महामारी कोरोना वायरस की गंभीरता को समझते हुए ग्राम पंचायत घंसौर के सरपंच प्रधान अनंत मरकाम ने सड़क किनारे खुले में माँस के क्रय – विक्रय को प्रतिबंधित कर दिया है।

सरपंच प्रधान अनंत मरकाम की उपस्थिति में शक्ति सिंह ने सरपंच प्रधान द्वारा उठाये गये इस कदम की मौखिक रूप से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि कोरोना वायरस के खतरे को लेकर ऐहतियातन यह कदम उठाया जा रहा है। घंसौर के कई स्थानों पर खुले में सड़क के आसपास आवागमन वाले मार्गों पर माँस – मछली का क्रय – विक्रय किया जा रहा है। माँस से निकलने वाले अपशिष्ट को खुले में फेंकने तथा माँस सड़ने – गलने की वजह से बीमारी फैलने की आशंका बनी रहती है। ऐसे में सावधानी बरतने तथा लोगों को किसी बीमारी की चपेट में आने की आशंका से पहले ही यह कदम उठाना आवश्यक है।

माँस-मछली के क्रय – विक्रय वाली दुकानों का संचालन तब तक नहीं करने के लिये कहा गया है जब तक इन दुकानों के खोलने कोई उचित स्थल चयनित नहीं कर लिया जाये। घंसौर जनपद अध्यक्ष रहे रविन्द्र परते, उपाध्यक्ष विजय तिवारी, गोंगपा ब्लॉक अध्यक्ष मनीराम ककोड़िया सहित अन्य लोगों द्वारा पुलिस थाना घंसौर में आयोजित बैठक में कोरोना वायरस के खतरे तथा बीमारी फैलने से रोकने के लिये माँस – मछली के सार्वजनिक स्थलों एवं आवागमन वाले मार्गों के क्रय विक्रय पर रोक लगाने तथा सार्वजनिक स्थलों से ऐसी दुकानों को हटाकर अन्य स्थानों पर स्थानांतरित करने की मांग उठायी गयी थी।

इसके बाद ग्राम पंचायत सरपंच ने तुरंत कदम उठाये हैं तथा नवीन स्थल का चयन होने तक क्रय – विक्रय प्रतिबंधित किया है। दुकानदारों को 24 घण्टे के भीतर आदेश का पालन करने के लिये कहा गया है। अब देखना यह है कि सरपंच प्रधान द्वारा जारी आदेश का पालन हो पायेगा या दुकानदारों को कोई रियायत मिल पायेगी।