हिंदू नववर्ष 2077 के दौरान शनि अपनी ही राशि मकर में

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। हिंदू नववर्ष संवत्त 2077 का आगाज हो चुका है। इस संवत के आरंभ में शनि महाराज का संचार अपनी राशि मकर में हो रहा है और इस पूरे संवत में शनि महाराज मकर राशि में संचार करेंगे जहां 11 मई को यह वक्री होंगे और 29 सितंबर को मार्गी होंगे। अपनी राशि में संचार करते हुए शनि किन्हें लाभ देंगे किन्हें करेंगे परेशान आइए देखें

मेष: विशेष लाभ के योग

शनि के अपनी ही राशि मकर में रहने से मेष राशि के जातकों को धन-लाभ होगा। इसके अलावा उच्चर शिक्षा की दिशा में चल रहे प्रयासों में भी सफलता के योग बनेंगे। कार्यक्षेत्र में पदोन्न ति के योग बन रहे हैं। आय क्षेत्र में कुछ परेशानघ्यिां आ सकती हैं। लेकिन दिव्यांदग जनों को दान करने से सब शुभ होगा।

वृषः इसमें बढ़ेगी रुचि

अपनी ही राशि मकर में शनघ् िके विराजमान होने से वृष राशि वालों को अपने रिश्तों को लेकर थोड़ा समझदारी से काम लेना होगा। अन्यशथा रिश्तेिदारों के साथ बहस का योग बन रहा है। इसके अलावा विरोधों का भी सामना करना पड़ सकता है। कुछ उथल-पुथल भी हो सकती है। आय में वृद्धि होगी साथ ही धार्मिक कार्यों में भी रुचि बढ़ेगी।

मिथुन: उलझनें बढ़ सकती हैं

शनि के मकर राशि में होने से मिथुन राशि के जातकों के लिए उलझनें बढ़ सकती हैं। यह घर-परिवार के अलावा कार्यक्षेत्र में भी हो सकती है। हालांकि इस दौरान बिगड़ते काम बनने लगेंगे। पारिवारिक सुख में भी वृद्धि होगी। धर्म-कर्म में मन लगेगा। भागदौड़ के चलतेे खर्चों में वृद्धि होने के योग हैं। वाहन सुख का भी योग बन रहा है।

कर्क: अवसरों में वृद्धि

मकर राशि में शनि कर्क राशि के जातकों के लिए शुभ फल लेकर आया है। धार्मिक कार्यों में वृद्धि होगी। दान-धर्म में योगदान करेंगे। स्वाधस्य्ख भी अच्छाम रहेगा। इसके अलावा उन्नंति के भी अवसर मिलेंगे। कार्यक्षेत्र में संघर्ष का सामना करना पड़ सकता है। खर्चों में भी बढ़ोत्त होगी।

सिंह: सुधार के योग

हिंदू संवत 2077 में शनि के मकर राशि में होने से सिंह राशि के जातकों के लिए सुधार के योग हैं। हालांकि कुछ दिक्क तों का सामना करना पड़ सकता है। मसलन धन प्राप्ति के लिए कठिन प्रयास करने होंगे। इसके अलावा अचानक से खर्चे बढ़ सकते हैं। स्वातस्य्न संबंधी समस्याच भी हो सकती है। लेकिन जल्दीभ ही स्थितियां सुधरेंगी और शुभ कार्यों का योग बनेगा। इसके अलावा पदोन्नंति के भी अवसर मिलेंगे। व्यकवसाय करते हैं तो लाभ के अवसर भी आएंगे।

कन्या: पारिवारघ्कि सुखों में वृद्धि

शनि के मकर राशि में होने से कन्या राशि के जातकों के पारिवारिक सुखों में वृद्धि होगी। इसके अलावा किये जा रहे कार्यों में धन-लाभ के भी योग हैं। बीते वक्तो में किये गए कार्यों से भी लाभ मिल सकता है। इसके अलावा भूमि-वाहन में भी निवेश कर सकते हैं। कार्यक्षेत्र में गाहे-बगाहे किसी बात को लेकर टेंशन हो सकती है। बेवजह के आपसी मतभेद भी हो सकते हैं। वाणी में माधुर्य बनाए रखें।

तुला: सतर्कता बरतनी जरूरी

शनि अपनी ही राशि मकर में हैं। ऐसे में तुला राशि के जातकों को दिव्यांतग और निराश्रितों को यथाशक्ति दान करते रहना चाहिए। ताकि वह अशुभ प्रभावों से बच सकें। बता दें कि धन हानि और अपनों के साथ विवाद होने के योग हैं। इसके अलावा परिवार में भी कलह हो सकता है। कार्यक्षेत्र में भी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। गुप्त शत्रु भी टेंशन का कारण हो सकते हैं।

वृश्चिक: शुभ कार्यों का योग

मकर राशि में शनि के होने से वृश्चिक राशि के जातकों के लिए शुभ समय है। इस दौरान घर-परिवार में शुभ कार्यों का आयोजन होने के योग बन रहे हैं। मकान-वाहन सुख के भी योग हैं। व्य वसाय या नौकरी में हैं तो सफलता के योग हैं। सोचे हुए कार्यों में भी सफलता मिलेगी। दान-पुण्यं और धार्मिक कार्यों में भी आपकी रुचि बढ़ेगी।

धनुः वाहन सुख का योग

शनि के मकर राशि में होने से धनु राशि के जातकों को शुभ प्रभाव देखने को मिलेंगे। आर्थिक समस्याश के चलते कुछ उलझनें हो सकती हैं। लेकिन जल्दी ही स्थितियां आपके हक में हो सकती हैं। तो मन को शांत रखने का प्रयास करें। वाहन सुख का योग बन रहा है। इसके अलावा भूमि में भी निवेश कर सकते हैं। यह आपको भविष्यग में लाभ दिला सकता है।

मकर: धन लाभ का योग

शनि क्योंिकि अपनी ही राशि मकर में है तो इस राशि के जातकों के लिए समय काफी शुभ है। अगर काफी समय से आप वघ्दिेश जाने का प्रयास कर रहे हैं लेकिन जा नहीं पा रहे हैं तो यह समय आपके लिए तमाम अवसर लेकर आ रहा है। कार्यक्षेत्र में भी धन लाभ का योग बन रहा है। इसके अलावा वाहन और भूमि का भी सुख मिल सकता है। यानी कि यह साल आपके लिए खुशहाली भरा रहेगा।

कुंभ: स्ट्रेस हो सकता है

कुंभ राशि के जातकों के लिए मकर राशि में शनि कुछ परेशानियां लेकर आएगा। रिश्तों में तनाव की स्थितियां आ सकती हैं। दांपत्य जीवन में भी छोटी-मोटी बातों को लेकर बहस हो सकती है। इसके अलावा स्वास्थ्य को लेकर थोड़ा स्ट्रेस हो सकता है। कार्यक्षेत्र में भी उठा-पटक लगी रह सकती है। आय कम और खर्च में अधिकता होने से भी तनाव और भी बढ़ सकता है। हालांकि शनि देव की पूजा और दिव्यां गों की मदद से परेशानियां कम होती दिखेंगी।

मीनः संघर्ष की अधिकता रहेगी

शनि के अपने ही राशि मकर में होने से पत्नि के स्वा स्य्को को लेकर चिंता हो सकती है। कार्य-व्यवसाय में भी सहयोगिया या फिर साझेदारों के साथ वाद-विवाद हो सकता है। इससे तनाव बढ़ सकता है। धन लाभ और उन्नसति का योग बन रहा है। इसके अलावा अरसे पहले किये गए कार्य से लाभ मिल सकता है। वाहन संबंधी भी चिंता हो सकती है।