बीमार मां को छोड़ कोरोना के खिलाफ जंग लड़ रहीं घंसौर बीएमओ

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। जबलपुर में अस्वस्थ मां की परवाह किए बगैर जिले के घंसौर अस्पताल में पदस्थ बीएमओ डॉ भारती सोनकेसरिया मानव सेवा का धर्म बखूबी निभा रही हैं।

कोरोना महामारी में कर्मवीर योद्धा के तौर पर दिन रात मरीजों के इलाज के लिए डॉ भारती तत्पर रहती हैं। अस्पताल पहुंचने वाले सामान्य मरीजों को देखने के साथ ही वे कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए ब्लाक के गांव में बाहर से पहुंचे लोगों का भी लगातार फालोअप ले रही हैं।

आपके द्वारा स्क्रीनिंग के बाद क्वारंटाइन किए गए लोगों की अपडेट फील्ड में पहुंचकर लगातार ली जा रही है। फील्ड से लौटने के बाद इसकी जानकारी वरिष्ठ अधिकारियों तक भी भेजी जाती है। दिन में 12 से 13 घंटे काम करने के बाद डॉ भारती घंसौर अस्पताल में रात के समय पहुंचने वाले इमरजेंसी केस को भी हैंडिल कर रही हैं। पूरी तत्परता से डॉ भारती अस्पताल आने वाले मरीजों का इलाज कर रही हैं।

घर-घर जाकर किया सर्वे

बीएमओ डॉ भारती सोनकेसरिया द्वारा अब तक 1850 व्यक्तियों की घर घर जाकर जांच की जा चुकी है। गांव का दौरा कर बीएमओ इंदौर व अन्य प्रभावित क्षेत्रों से आए लोगों की लगातार स्क्रीनिंग कर रही हैं। क्वारंटाइन सेंटर में रह रहे लोगों का भी लगातार फालोअप लिया जा रहा है। इसके अलावा दवा दुकानों, बैंक, एटीएम, गैस एजेंसी, उपार्जन केंद्रों पर पहुंचकर बीएमओ ने बचाव से जुड़े उपाय लोगों तक पहुंचाए हैं।

समन्वय बनाकर कर रहे टीम वर्क

बीएमओ डॉ भारती ने बताया कि मेडिकल स्टॉफ व अधीनस्थ कर्मचारियों से समन्वय बनाकर पूरी टीम कोविड-19 को हराने में लगी हुई है। लॉकडाउन प्रारंभ होने के बाद वे जबलपुर स्थित घर नहीं गई हैं। मोबाइल पर वीडियो कॉलिंग के जरिए ही अस्वस्थ मां का हाल जान लेती हैं। इस संकट में लोगों की सेवा करना वे अपना फर्ज समझती हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *