ग्रीष्मावकाश में भी शिक्षक लेंगे ऑनलाइन कक्षा

(ब्यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। जहां एक तरफ शासन की ओर से 01 मई से 07 जून तक शिक्षकों व विद्यार्थियों को ग्रीष्मावकाश दे दिया गया है, वहीं दूसरी तरफ स्कूल शिक्षा विभाग की ओर से निर्देश दिए गए हैं कि शिक्षकों को हर रोज ऑनलाइन उपस्थित दर्ज करानी होगी। शिक्षकों को प्रतिदिन सुबह 10ः45 बजे व्हाट्सएप पर उपस्थिति लगानी है।

अगर वाट्सएप पर शिक्षकों ने उपस्थित दर्ज नहीं कराई तो उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई भी की जाएगी। साथ ही एक फीडबैक फार्म भी भरना होगा। इसके बाद शिक्षकों के व्हााट्सएपग्रुप पर शैक्षणिक सामग्री उपलब्ध कराई जाएगी। विभाग ने अभिभावकों के नाम एक पत्र भी लिखा है, जिसमें ऑनलाइन माध्यम से कक्षाएं संचालित कराने की अपील की गई है।

शासन के इस आदेश का प्रदेश के अनेक शिक्षक संगठनों ने विरोध किया है कि ग्रीष्मावकाश में सभी की छुट्टी घोषित की गई है, तब ऑनलाइन कक्षाएं संचालित करने का फायदा कैसे मिलेगा। शिक्षकों ने ग्रीष्मावकाश के दिनों में किए गए कार्यों के लिए अर्जित अवकाश की मांग की है।

अभिभावकों को लिखा पत्र : शिक्षा विभाग के सूत्रों की मानें तो लोक शिक्षण संचालनालय ने अभिभावकों को पत्र लिखकर ग्रीष्मावकाश के दौरान भी विद्यार्थियों की पढ़ाई जारी रखने के लिए कहा है। पत्र में लिखा है कि अभिभावक विद्यार्थियों को 01 घंटे के लिए पढ़ाई के लिए अपना मोबाइल दें।

सत्रों ने यह भी बताया कि पालकों से कहा गया है कि इस दौरान उन पर नजर रखें कि वे उसके माध्यम से पढ़ाई कर सकें और अन्य कोई वीडियो न देखें। सायबर सेफ्टी नियमों का पालन करें। ऑनलाइन पढ़ाई करते समय विद्यार्थियों के पास कॉपी व पेन होना चाहिए। ग्रीष्मावकाश के दौरान भी व्हामट्सएप ग्रुप से ऑनलाइन कक्षाएं जारी रहेंगी। साथ ही रेडियो स्कूल भी संचालित होगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *