भारत vs चीन, कुछ इस तरह रही कोरोना की चाल

(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। भारत में कोरोना वायरस के मामले काफी तेजी से बढ़ रहे हैं। पिछले 9 दिनों से तो हर रोज 3500 से ज्यादा नए मामले सामने आ रहे हैं।

अब भारत कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित देशों की सूची पर चीन के ठीक बाद 12वें नंबर पर पहुंच गया है। देश में जिस गति से कोरोना का संक्रमण बढ़ रहा है, उसके हिसाब से तो आज ही भारत कोरोना के मामले में चीन को भी पीछे छोड़ देगा। देश में गुरुवार तक 82,085 मामलों की पुष्टि हो चुकी थी, जबकि चीन में 82,933 मामले हैं।

पूरी दुनिया में चीन से ही कोरोना वायरस फैला। वहां नवंबर-दिसंबर में कोरोना के मामले आने शुरू हो चुके थे लेकिन वायरस की पहचान बाद में हुई। भारत में 30 जनवरी को पहला केस सामने आया। भारत में पिछले 9 दिनों से लगातार साढ़े 3 हजार से ज्यादा कोरोना के केस मिल रहे हैं। दूसरी तरफ चीन में जब वायरस का कहर अपने उच्च स्तर पर था तब भी वहां सिर्फ 4 दिन ही साढ़े तीन हजार से ज्यादा केस मिले थे। चीन में 12 फरवरी को 14 हजार से ज्यादा केस सामने आए थे जो वहां किसी एक दिन में सबसे ज्यादा आंकड़ा था।

चीन में कोरोना के केसों में बहुत ही मामूली बढ़ोतरी हो रही है। दूसरी तरफ भारत में मामले बहुत तेजी से बढ़ रहे हैं। गुरुवार को सिर्फ 4 देशों में ही भारत से ज्यादा नए मामले आए। ये देश हैं अमेरिका जहां 27 हजार से ज्यादा नए केस सामने आए। उसके बाद ब्राजील जहां गुरुवार को 13 हजार से ज्यादा केस सामने आए। रूस इस मामले में तीसरे (9,974 नए केस) नंबर, पेरू चौथे (4,298 नए केस) और भारत पांचवें (3995 नए केस) नंबर पर रहा।

चीन में 100 से भी कम ऐक्टिव केस, भारत में 51 हजार

चीन के अलावा जर्मनी, तुर्की और ईरान में भी भले ही कोरोना के कुल मामले भारत से ज्यादा हैं लेकिन इन देशों में ऐक्टिव केसेज कम हैं। भारत में फिलहाल 51 हजार से ज्यादा ऐक्टिव केस हैं यानी वैसे मरीज जिनका अभी इलाज चल रहा है। चीन में तो 100 से भी कम ऐक्टिव केस हैं। वहां फिलहाल कोरोना के 91 मरीजों का इलाज चल रहा है। बाकी सभी या तो ठीक हो चुके हैं या फिर उनकी मौत हो चुकी है।

One thought on “भारत vs चीन, कुछ इस तरह रही कोरोना की चाल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *