विजय माल्या मामले में भारत को इस अफसर ने दिलाई कामयाबी

जानें कौन हैं सुमन कुमार

(ब्‍यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। विजय माल्या (Vijay Malya) के खिलाफ बैंक धोखाधड़ी मामले में सीबीआई अधिकारी सुमन कुमार (CBI Officer Suman Kumar) की चुनौतीपूर्ण और सावधानीपूर्वक जांच के साथ-साथ लंदन की उनकी अनगनित यात्राएं आखिरकार तीन साल के बाद रंग ले आईं।

बंद हो चुकी किंगफिशर एयरलाइंस (Kingfisher Airlines) के मालिक रहे माल्या को गुरुवार को उस समय बड़ा झटका लगा जब ब्रिटेन की सर्वोच्च अदालत में प्रत्यर्पण के खिलाफ अपील की अनुमति मांगने का उसका आवेदन अस्वीकृत हो गया। अब माल्या के प्रत्यर्पण की प्रक्रिया 28 दिन के अंदर पूरी करनी होगी। प्रत्यर्पण का यह मामला आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank) से 900 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी से जुड़ा है।

माल्या के खिलाफ बैंकों के एक समूह से 9,000 करोड़ रुपये की कथित धोखाधड़ी के मामले की भी जांच चल रही है। सीबीआई अधिकारी सुमन कुमार को अक्टूबर 2015 में मुंबई के बैंकिंग धोखाधड़ी और प्रतिभूति प्रकोष्ठ के डीएसपी के तौर पर माल्या के खिलाफ मामले की जांच का जिम्मा सौंपा गया था। कुमार फिलहाल सीबीआई में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक हैं।

सीबीआई में मौजूद सूत्रों ने कहा था गंभीर आरोपों के बावजूद कर्ज देने वाले बैंकों ने माल्या के खिलाफ धोखाधड़ी का मामला दर्ज नहीं कराया तो सीबीआई के लिए मुश्किल खड़ी हो गई थी। हालांकि, एजेंसी ने अपने सूत्रों पर आधारित जानकारी का इस्तेमाल कर माल्या के खिलाफ 900 करोड़ रुपये के कथित कर्ज धोखाधड़ी मामले में प्राथमिकी दर्ज कर अपना कदम आगे बढ़ाने का फैसला किया और कुमार को इस मामले की जांच सौंपी गई।

कई पदकों से सम्मानित हैं अधिकारी

23 साल की आयु में उप-निरीक्षक के तौर पर सीबीआई में कदम रखने वाले कुमार का सफेदपोश अपराधों की जांच में शानदार रेकॉर्ड रहा है। तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने उन्हें साल 2002 के सीबीआई के सर्वश्रेष्ठ जांच अधिकारी के स्वर्ण पदक से नवाजा था। सीबीआई की पारंपरिक जांच शैली में माहिर कुमार (55) को 2008 में सराहनीय सेवा के लिए पुलिस पदक, 2013 में उत्कृष्ट जांचकर्ता और 2015 में राष्ट्रपति पुलिस पदक से भी सम्मानित किया जा चुका है। 2015 में ही उन्होंने माल्या मामले की जांच शुरू की थी।

One thought on “विजय माल्या मामले में भारत को इस अफसर ने दिलाई कामयाबी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *