प्री मानसूनी सिस्टम से हुई बूंदाबांदी

(ब्‍यूरो कार्यालय)

जबलपुर (साई)। गर्मी से लोगों को जल्द ही राहत मिलेगी। एक पखवाड़े के भीतर मानसून के प्रदेश में पहुंचने की सम्भावना है। मौसम वैज्ञानिकों का अनुमान है कि मानसून का 15 से 18 जून के बीच शहर में प्रवेश हो सकता है। इस वर्ष मानसूनी सिस्टम से अच्छी बारिश का अनुमान है। इधर, मानसून की दस्तक के साथ ही प्री मानसूनी बादल सक्रिय हो गए है। सोमवार को सुबह सूरज के तेवर के दिखाने बाद दोपहर में अचानक मौसम का मिजाज बदला। तेज गति से धूल भरी हवा चली। आसमान काले बादल से घिर गए। शहर में कुछ जगहों पर बूंदाबांदी हुई।

मौसम विज्ञान केन्द्र में वैज्ञानिक सहायक देवेन्द्र कुमार तिवारी के अनुसार पश्चिमी विक्षोभ का प्रभाव बना हुआ है। उत्तर प्रदेश से उड़ीसा, पूर्वी मध्यप्रदेश होते हुए छत्तीसगढ़ तक द्रोणिका बनी हुई है। उसके प्रभाव से सोमवार को दोपहर बाद मौसम में परिवर्तन आया। तेज गति से हवा चली। कहीं-कहीं बूंदाबांदी हुई है। हालांकि यह वर्षा रेकॉर्ड नहीं हुई है। मंगलवार को वर्षा या गरज-चमक के साथ बौछार या धूल भरी आंधी चलने की सम्भावना है।

दिन में ठहरा रहेगा पारा, रात में चढ़ेगा
मौसम वैज्ञानिकों के अनुसार केरल में मानसून पहुंच गया। अरब सागर में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है। शहर में अरब सागर से नमी भरी हवा आ रही है। इससे मौसम में परिवर्तन आने की सम्भावना है। दोपहर बाद स्थानीय बादल बनकर बूंदाबांदी कर सकते है। 3 और 4 जून को हल्की वर्षा होने का अनुमान है। बदले मौसम और नमी भरी हवा चलने से दिन में अभी तापमान में कमी आएगी। लेकिन रात में तापमान में कुछ वृद्धि हो सकती है। पश्चिमी हवा में उत्तर की हवा घुलने से तापमान में कमी आयी। लेकिन सुबह सूर्य की तपिश बढऩे से गर्मी महसूस हुई। फिर बादल उमडऩे और बूंदाबांदी से बढ़ी उमस-गर्मी से लोग बेचैन रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *