ब्रहस्पतिवार 25 जून का प्रदेश स्तरीय आडियो बुलेटिन पढ़िए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में ब्रहस्पतिवार 25 जून 2020 का प्रदेश स्तरीय आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
देश में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा पौने पांच लाख के करीब पहुंच रहा है। वर्तमान में यह आंकड़ा चार लाख 74 हजार 587 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग छियानवे हजार ज्यादा ठीक होने वालों की तादाद हो गई है। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 01 लाख 86 हजार 981 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद दो लाख 72 हजार 636 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 14 हजार 915 है। मध्य प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 07 हजार 32 ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 12 हजार 448 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 02 हजार 441, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 09 हजार 473 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 534 है।
जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद दो सौ से ज्यादा है उनमें इंदौर में 04 हजार 461, एक्टिव मरीजों की तादाद 964, भोपाल में 02 हजार 601, एक्टिव मरीजों की तादाद 668, उज्जैन में 849, एक्टिव मरीजों की तादाद 70, नीचम में 432 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 32, बुरहानपुर में 391, एक्टिव मरीजों की तादाद 06, जबलपुर में 372 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 62, ग्वालियर में कुल संक्रमित मरीजों की तादाद 309 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 52, सागर में 302 कुल एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 61, खण्डवा में 292 एक्टिव मरीजों की तादाद 12, खरगोन में 269 कुल एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 43, मुरैना में कुल मरीजों की तादाद 214 एवं एक्टिव मरीजों की संख्या 66 एवं देवास में कुल मरीजों की तादाद 206 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 36 है। प्रदेश में दतिया, अलीराजपुर एवं उमरिया में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य है।
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में एक जुलाई से डोर-टू- डोर स्वास्थ्य सर्वे के कार्य की जिलों में तैयारियाँ पूर्ण करें। सर्वे दल के गठन, उन्हें प्रशिक्षण और सर्वे कार्य के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन दिया जाए। जिला कलेक्टर्स के साथ ही विभिन्न संभागों के लिए समीक्षा का दायित्व निभा रहे वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी सर्वे कार्य की तैयारियों को सुनिश्चित करें।
मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय से वीडियो कान्फ्रेंस द्वारा प्रदेश में कोरोना नियंत्रण की जानकारी प्राप्त कर रहे थे। कान्फ्रेंस के दौरान बताया गया कि प्रदेश में कोरोना का ग्रोथ रेट 1.46 प्रतिशत है जो अन्य प्रांतों से सबसे कम है। बैठक में मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य मोहम्मद सुलेमान उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि मध्यप्रदेश में टेस्टिंग की सुविधाओं में वृद्धि, उपचार के लिए बिस्तर क्षमता बढ़ाने, सोशल डिस्टेसिंग के पालन और फीवर क्लीनिक के संचालन से वायरस को नियंत्रित करने में सफलता मिली है। प्रदेश में कोरोना ग्रोथ रेट को कम करने के प्रयास सफल हुए है, जिसका मतलब है कि संक्रमण रोकने में मध्यप्रदेश ज्यादा सफल रहा है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिए कि कान्टेक्ट हिस्ट्री पर नजर रखने का कार्य लगातार होना चाहिए और पॉजीटिव रोगियों की संख्या भी कम होकर शून्य तक आना चाहिए। उन्होंने स्वास्थ्य आयुक्त डॉ. संजय गोयल को निर्देश दिए कि प्रदेश में रोगियों के स्वास्थ्य में पूर्ण सुधार हो और उन्हें रोग की गंभीर स्थिति से बचाने के पूरे प्रयास हों।
समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि प्रदेश में बुधवार को 6617 टेस्ट संपन्न हुए हैं। प्रदेश में उपलब्ध रोगी बिस्तर क्षमता का उपयोग भी कम हो रहा है। सामान्य बेड, आईसीयू बेड पर्याप्त हैं, जिनका प्रबंध संक्रमण बढ़ने की आशंका को ध्यान में रखकर किया गया था। इन्दौर जिले में 16 प्रतिशत जनरल वार्ड और 30 प्रतिशत आईसीयू वार्ड का उपयोग हो रहा है। भोपाल में मात्र 15 प्रतिशत आईसीयू वार्ड भरे हुए हैं। इन्दौर और भोपाल जिलों को छोड़कर प्रदेश के अन्य जिलों में औसतन जनरल बेड 9 प्रतिशत और आईसीयू बेड 6 प्रतिशत ही उपयोग में लाये जा रहे हैं। कुल 76.4 प्रतिशत रिकवरी रेट के साथ मध्यप्रदेश देश में दूसरे स्थान पर है। भारत के बड़े प्रांतों में एक्टिव केस संख्या की दृष्टि से मध्यप्रदेश की स्थिति काफी ठीक हुई है। इस समय मध्यप्रदेश 2441 एक्टिव केस के साथ 13वें नंबर पर है। मध्यप्रदेश का पॉजीविटी रेट देश के पॉजीविटी रेट 6.26 से काफी कम 3.92 प्रतिशत है।
प्रदेश का डब्लिंग रेट 47.7 दिवस है जो अन्य बड़े राज्यों में ज्यादा है। इसका अर्थ है कि प्रदेश में संक्रमण की रफ्तार को कम करने में ज्यादा सफलता मिली है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री चौहान ने धार और जबलपुर जिलों की पृथक समीक्षा की। कोन्फ्रेंस में जानकारी दी गई कि प्रदेश में 47 जिलों में कम से कम एक एक्टिव केस और 23 जिलों में 10 से कम एक्टिव केस हैं। पांच जिलों में एक भी एक्टिव केस नहीं है। प्रदेश में अभी 1119 कन्टेनमेंट क्षेत्र हैं। इनमें 7.63 लाख आबादी निवासरत है। प्रदेश में करीब 9 हजार पुलिस अधिकारियों और कर्मचारियों द्वारा कोविड-19 में दायित्व निर्वहन किया जा रहा है।
—–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्वैच्छानुदान मद से तीन माह में प्रदेश के 48 जिलों के 1801 जरूरतमंदों को 8 करोड़ 86 लाख 92 हजार 586 रुपये की सहायता की है। मुख्यमंत्री स्वैच्छानुदान निधि से स्वीकृत यह राशि संबंधितों के खाते में अंतरित की जा चुकी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरोना संकटकाल में प्राप्त आवेदनों पर त्वरित कार्यवाही कराते हुए जरूरतमंदों को आर्थिक मदद पहुँचाई है।
इस अवधि में 1801 यानि प्रतिमाह 600 और प्रतिदिन 20 लोगों को स्वैच्छानुदान मद से आर्थिक मदद दी गई। इनमें आगर-मालवा जिले के 13 लोगों को 4 लाख 50 हजार, अनूपपुर में 3 को 2 लाख 50 हजार, अशोकनगर में 20 को 8 लाख 80 हजार, बड़वानी में 9 को 14 लाख 45 हजार, बालाघाट में 6 को एक लाख 90 हजार, बैतूल में 24 को 9 लाख 35 हजार, भिण्ड में 35 को 2 लाख 20 हजार, भोपाल में 435 को एक करोड़ 73 लाख, छतरपुर में 14 को 24 लाख 75 हजार, छिंदवाड़ा में 21 को 8 लाख 70 हजार, दमोह में 12 को 5 लाख 20 हजार, दतिया में 9 को 3 लाख 40 हजार, देवास में 61 को 31 लाख 50 हजार, धार में 15 को 9 लाख 85 हजार, गुना में 29 को 17 लाख 45 हजार, ग्वालियर में 32 को 22 लाख 35 हजार, हरदा में 32 को 16 लाख 65 हजार, होशंगाबाद में 89 को 35 लाख 75 हजार, इंदौर में 121 को 54 लाख, जबलपुर में 8 को 5 लाख 80 हजार, झाबुआ में एक को 50 हजार, कटनी में 5 को एक लाख 45 हजार की आर्थिक सहायता दी गई।
इसी प्रकार खण्डवा में 11 को 9 लाख 10 हजार, खरगोन में 12 को 6 लाख 70 हजार, मण्डला में 5 को 2 लाख 25 हजार, मंदसौर में 3 को 55 हजार, मुरैना में 28 को 8 लाख 25 हजार, नरसिंहपुर में 11 को 5 लाख 5 हजार, नीमच में एक को 5 हजार, पन्ना में 6 को 2 लाख, रायसेन में 103 को 35 लाख 76 हजार 111, राजगढ़ में 86 को 30 लाख 80 हजार, रतलाम में 12 को 8 लाख 85 हजार, रीवा में 91 को 37 लाख 5 हजार, सागर में 43 को 19 लाख, सतना में 19 को 9 लाख 65 हजार, सीहोर में 141 को 53 लाख 98 हजार, सिवनी में 5 को 2 लाख 55 हजार, शहडोल में 8 को 64 लाख 13 हजार 475, शाजापुर में 51 को 25 लाख 75 हजार, श्योपुर में 2 को एक लाख 50 हजार, शिवपुरी में 6 को 4 लाख 10 हजार, सीधी में 7 को 2 लाख 40 हजार, सिंगरौली में 3 को 2 लाख 15 हजार, टीकमगढ़ में 2 को 4 लाख 10 हजार, उज्जैन में 66 को 29 लाख 70 हजार, उमरिया में 2 को 26 लाख 50 हजार और विदिशा जिले के 83 व्यक्तियों को 40 लाख 95 हजार रुपये की सहायता शामिल है।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें।
—–
आपदा प्रबंधन टीम एवं स्थानीय प्रशासन द्वारा मयार नदी से चार मासूम बच्चों को सकुशल बाहर निकाला गया। सिंगरौली के ग्राम जरहा थाना माड़ा के पास स्थित मयार नदी में मछली पकड़ने गये चार मासूम बच्चे अचानक बारिश होने से नदी में आई बाढ़ के कारण एक टीले में जा फँसे। स्थानीय प्रशासन और आपदा प्रबंधन टीम के सदस्यों के अथक प्रयासों से बच्चों को बचा लिया गया। बच्चों के माता-पिता ने प्रशासन और आपदा प्रबंधन टीम को धन्यवाद दिया।
—–
कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम के लिए सिवनी के जिला प्रशासन द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग मानकों व मास्क के उपयोग किए जाने के लिए आमजनों से सतत रूप से अपील की जा रही है।
उल्लंघन किए जाने पर कार्रवाई की जा रही है। बुधवार को सिवनी जिले के जिला सहाकारी केंद्रीय बैंक के महाप्रबंधक आरएस पटेल बिना मास्क लगाए बैठक में आने पर कलेक्टर डॉ राहुल हरिदास फटिंग के निर्देशन पर एक हजार रूपये की चालानी कार्रवाई की।
उल्लंघन पर दस प्रकरण बने -बिना मास्क लगाकर शहर में शारीरिक दूरी नियमों का उल्लंघन कर घूम रहे दस लोगों पर पुलिस ने धारा 188 के तहत प्रकरण दर्ज कर कार्रवाई की है। 30 जून तक जिले में लॉकडाउन प्रभावशील है।
—–
मध्यप्रदेश की खूबसूरत लोकेशंस पर एक बार फिर फिल्म, सीरियल एवं वेब सीरीज की शूटिंग शुरू हो सकेगी। मध्यप्रदेश पर्यटन ने इसके लिए एडवाइजरी जारी कर दी है। मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड की अपर प्रबंध संचालक सोनिया मीणा ने बताया कि गाइडलाइंस का पालन करते हुए प्रॉडक्शन हाउस शूटिंग शुरू कर सकते हैं। सीरियल्स की शूटिंग 28 जून से और फिल्मों की शूटिंग जुलाई के पहले सप्ताह में शुरू हो सकती है।
टूरिज्म बोर्ड के फिल्म फैसिलिटेशन सेल ने एडवाइजरी जारी की है। शूटिंग में भाग लेने वाले लोगों को स्वस्थ्य रहने का घोषणापत्र एनेक्जर-ए भरना होगा। यह फॉर्म निर्माता द्वारा संबंधित पदाधिकारी को फिल्म शूट की अनुमति के लिए भी पेश करना होगा। एडवाइजरी के तहत लोकेशन पर 15 क्रू मेंबर इनडोर शूटिंग के लिए तथा ऑउटडोर पर 30 व्यक्तियों की ही अनुमति होगी, साथ ही शूटिंग के उपकरण रोजाना सेनिटाइज करना होगा।
अगर कोई व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया जाता है तो उस व्यक्ति को तुरंत आइसोलेट कर दिया जाएगा और शूटिंग लाकेशन को खाली करा दिया जाएगा। पूरी जांच होने के बाद ही शूटिंग पुनः शुरू हो सकेगी। शूटिंग से पहले और शूटिंग के बाद सभी उपकरणों को रोजाना सैनिटाइज करना होगा। अगर किसी प्राइवेट लोकेशन पर शूटिंग कर रहे हैं तो संपत्ति मालिक के साथ अनुबंध करना जरूरी होगा। शूटिंग लोकेशन पर किसी भी बाहरी व्यक्ति के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। शूटिंग के समय चिकित्सक को लोकेशन पर नियुक्त करना होगा।
शूटिंग लोकेशन पर सिर्फ उन लोगों को रहने की अनुमति होगी जो पूरी तरह से स्वस्थ होंगे, चाहे वह एक्टर-एक्ट्रेस हों या टेक्नीशियन। शूटिंग लोकेशन में एंट्री से पहले आईआर थर्माेमीटर से बुखार चेक किया जाएगा अगर 37.3 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा है तो आइसोलेट होकर रहना होगा। लोकेशन पर सिर्फ सीमित आवश्यक सेवाओं की ही अनुमति होगी। मेकअप हेयर ड्रेसिंग और ड्रेस अप एक्टिविटी के लिए एहतियाती उपाय का ध्यान रखना होगा।
भोपाल में लॉकडाउन के पहले फिल्म दुर्गावती और शेरनी की शूटिंग चल रही थी। दुर्गावती की शूटिंग लगभग पूरी हो चुकी है। इस फिल्म को आसपास के जंगलों में शूट किया जाना है। सूत्रों के मुताबिक फिल्मों की शूटिंग जुलाई के पहले सप्ताह से शुरू हो सकती है। इसी प्रकार टीवी सीरियल एक दूजे के वास्ते- 2 की पूरी शूटिंग भेल क्षेत्र में होनी है, जो 28 जून से शुरू होने की संभावना है। इन तीनों को मिलाकर प्रदेश में 24 प्रोजेक्ट प्रस्तावित हैं।
—–
भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आरोप लगाते हुए कहा कि राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन की कुछ संस्थाओं ने 300 हजार अमेरिकी डॉलर मुहैया कराए हैं। उन्होंने कहा कि चीन और कांग्रेस के बीच गुपचुप रिश्ता भी है। राजीव गांधी फाउंडेशन की चेयरपर्सन सोनिया गांधी हैं और कई कांग्रेस नेता इससे जुड़े हुए हैं। इस फाउंडेशन को लगभग एक दशक पहले पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना और चीन ने इतनी मोटी रकम क्यों दी? उन्होंने कहा कि देश जानना चाहता है कि फाउंडेशन को इतना पैसा किस उद्देश्य से दिया गया। नड्डा ने गुरुवार को मध्यप्रदेश की वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे।
जगत प्रकाश नड्डा ने कहा कि ये लोग चीन से पैसा लेते हैं और उससे जो स्टडी कराई जाती है, वो देशहित में नहीं है। उन्होंने कहा कि इसी तरह गलवान घाटी में हुई घटना पर भी कांग्रेस ने राजनीति की। ये वही कांग्रेस है, जिसने 2017 के अगस्त माह में जब चीन और भारत आमने सामने थे, तब राहुल गांधी चीन के राजदूत के साथ गुपचुप मुलाकात कर रहे थे। और अब ये लोग चीन के मामले में सवाल उठा रहे हैं।
जे.पी. नड्डा ने नेहरू परिवार पर भी हमला बोला। कहा- एक ही परिवार, जिसे जनता ने वर्तमान में नकार दिया है, वह संपूर्ण विपक्ष नहीं हो सकता है। उन्होंने इस परिवार की नीयत और नीति पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि उसकी ही गलती के कारण देश की 43 हजार वर्ग किलोमीटर जमीन चली गई। जब गलवान घाटी को लेकर सभी राजनैतिक दल केंद्र की मोदी सरकार के साथ हैं, वहीं एक परिवार सवाल खड़े कर रहा है।
मध्यप्रदेश भाजपा की ओर से आयोजित वर्चुअल रैली से एक करोड़ से ज्यादा लोगों को जोड़ने का लक्ष्य बनाया था। बताया जा रहा है कि इसमें राज्यभर से लाखों लोग जुड़े और उन्हें सुना। नड्डा ने दिल्ली से संबोधित किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और अन्य भाजपा नेताओं ने इसे भोपाल में संबोधित किया और सुना भी।
—–
भोपाल में बुधवार को कांग्रेस से लेकर भाजपा तक ने कई जगहों पर प्रदर्शन किए। ऐसे में लॉकडाउन के नियमों का पालन किसी ने भी नहीं किया। भोपाल पुलिस ने पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के खिलाफ टीटी नगर पुलिस थाने में एफआईआर की। सिंह पर 11 दिन में यह दूसरा केस दर्ज किया गया है। इससे पहले 14 जून को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का एडिट वीडियो शेयर किए जाने पर एफआईआर दर्ज की गई थी। बुधवार को कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद और भाजपा विधायक कृष्णा गौर पर भी एमपीनगर पुलिस स्टेशन में केस दर्ज किए गए। इसमें उनके समर्थकों पर भी एफआईआर की गई है।
पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने बुधवार दोपहर करीब 150 कार्यकर्ताओं के साथ पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों के विरोध में रैली निकाली थी। इस दौरान उन्होंने सोशल डिस्टें सिग का पालन नहीं किया। एमपीनगर पुलिस ने दिग्विजय और 150 अन्य पार्टी कार्यकर्ताओं के खिलाफ धारा 341, 188, 143, 269 और 270 के तहत केस दर्ज किया।
भोपाल मध्य से कांग्रेस विधायक आरिफ मासूद ने पेट्रोल-डीजल के दामों को लेकर दोपहर करीब 4 बजे बोर्ड ऑफिस पर धरना-प्रदर्शन किया था। एमपीनगर पुलिस ने आरिफ मसूद और उनके 5 अन्य समर्थकों के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की।
भोपाल के गोविंदपुरा विधानसभा सीट से विधायक कृष्णा गौर ने बोर्ड ऑफिस चौराहा पर बुधवार देर शाम जीतू पटवारी का पुतला जलाया।
भोपाल की गोविंदपुरा सीट से भाजपा विधायक कृष्णा गौर ने बोर्ड ऑफिस चौराहा पर बुधवार देर शाम प्रदर्शन किया। भाजपा की महिला मोर्चा की कार्यकर्ताओं ने विधायक के साथ पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के बेटियों को लेकर ट्वीट का विरोध जताया। इसके बाद पटवारी का पुतला दहन किया। पटवारी ने बुधवार को प्रधानमंत्री पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया था। एमपीनगर पुलिस ने विधायक कृष्णा गौर और उनके 6 से 7 समर्थकों के खिलाफ धारा 188 के तहत कार्रवाई की।
मध्य प्रदेश समेत पूरे देश में पेट्रोल और डीजल की कीमतों को लेकर विरोध-प्रदर्शन चल रहा है। गुरुवार को 19वें दिन फिर कीमतें बढ़ीं। आज पेट्रोल पर प्रति लीटर 16 पैसे की बढ़ोतरी की गई, जबकि डीजल के दाम 13 पैसे बढ़ाए गए। अब भोपाल में पेट्रोल प्रति लीटर 87.55 रुपए हो गए हैं। डीजल प्रति लीटर 79.46 रुपए हो गया है।
—–
मध्य प्रदेश के डीजीपी विवेक जौहरी ने प्रदेश के आईपीएस अफसरों को एक बार फिर से पत्र लिखा है। इस बार उन्होंने कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर सभी ज़िलों के पुलिस अधीक्षकों और दूसरे अफसरों को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए गाइडलाइन का पालन कराएं। अगर इसमें लापरवाही बरती गई तो इसके लिए जिले के एसपी जवाबदेह होंगे।
डीजीपी जौहरी ने प्रदेश के सभी पुलिस अधीक्षकों, सेनानियों, विशेष सशस्त्रा बल और रेल पुलिस अधीक्षकों को पत्र जारी कर निर्देशित किया। डीजीपी ने कहा- कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए विभाग द्वारा समय-समय पर जारी गाइडलाइन का पालन अनिवार्य रूप से कराने की जिम्मेभदारी संबंधित पुलिस अधीक्षक की रहेगी। अगर इसके पालन में किसी भी तरह की लापरवाही पाई गई तो संबंधित एसपी पर कार्रवाई की जाएगी।
पुलिस कर्मियों द्वारा ड्यूटी के दौरान सुरक्षात्मीक उपाय जैसे प्रिवेंटिव मेडिसिन लेना, सोशल डिस्टेंरसिंग का पालन, मास्कत और सैनिटाइजर की उपलब्धटता और उपयोग, कार्यस्थघ्ल और वाहनों का सैनिटाइजेशन, वर्दी की स्वमच्छकता, कंटेनमेंट एरिया, कोविड अस्प्ताल में बिना पीपीई किट के ड्यूटी नहीं करना, मेस में बर्तनों और खाद्य सामग्री को सही ढंग से सैनिटाइज करना आदि निर्देशों का अनिवार्य रूप से पालन करना होगा।
डीजीपी के पत्र के बाद पुलिस इकाइयों में पदस्थ पुलिस अफसरों के बीच हड़कंप मच गया है। अब सभी आईपीएस अफसर गाइडलाइन को मैदानी स्तर पर सख्ती से पालन कराने पर ध्यान दे रहे हैं।
—–
मध्यप्रदेश में लगातार मौसम बदल रहा है। मंगलवार से सक्रिय हुए मानसून ने बुधवार को पूरे प्रदेश को कवर कर लिया। अब यह ग्वालियर-चंबल संभागों में भी पहुंच गया। 16 से 22 जून तक सात दिन यह इंदौर, रायसेन, खजुराहो में अटका था, लेकिन मंगलवार और बुधवार को 48 घंटे में यह पूरे प्रदेश में पहुंच गया। वहीं बात भोपाल शहर की करें तो यहां पर बुधवार दोपहर के बाद से बादलों का आना-जाना लगा। वहीं गुरुवार को बादलों ने अपना डेरा डाले रखा हालांकि धूप भी रही।
मौसम विभाग के अनुसार आगामी 24 घंटों में रीवा, सागर, शहडोल, ग्वालियर जबलपुर, भोपाल, होशंगाबाद संभाग और उज्जैन संभागों में बारिश हो सकती है। साथ ही ग्वालियर एवं चंबल संभागों सहित इंदौर में कहीं-कहीं वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारे पड़ सकती हैं।
मौसम विभाग ने येलो अलर्ट जारी करते हुए आगामी 24 घंटों में भोपाल संभागों, नरसिंहपुर, छिंदवाड़ा, दमोह, सागर, होशंगाबाद और मंदसौर जिलों में चेतावनी जारी की है। इन सभी जगहों पर तेज बारिश के साथ गरज चमक व बिजली गिरने की संभावना है।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में ब्रहस्पतिवार 25 जून का प्रदेश स्तरीय आडियो बुलेटिन। शुक्रवार 26 जून को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।