सोमवार 13 जुलाई 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में सोमवार 13 जुलाई 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.

देश में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद अब तेजी से बढ़ती दिख रही है। संक्रमित मरीजों का आंकड़ा नौ लाख के करीब पहुंच रहा है। वर्तमान में यह आंकड़ा आठ लाख 79 हजार 904 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग दो लाख 53 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 03 लाख 01 हजार 400 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 05 लाख 54 हजार 922 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 23 हजार 200 है। अब तक देश में कुल 01 करोड़ 18 लाख 06 हजार 256 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों के मिलने का आंकड़ा साढ़े सत्रह हजार पार कर गया है। प्रदेश में कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 08 हजार 773 ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 17 हजार 632 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 04 हजार 103, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 12 हजार 876 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 653 है।

प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद दो सौ से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 05 हजार 260 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 01 हजार 14 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 265 है, भोपाल में 03 हजार 502 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 739, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 121, उज्जैन में 887, एक्टिव मरीजों की तादाद 29 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 71, मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 945 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 458 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 5, नीचम में 496 कुल एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 49 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 08, ग्वालियर में कुल 906 संक्रमित मरीजों में से 49 एक्टिव एवं यहां महज 3 लोग ही कालकलवित हुए हैं, जबलपुर में कुल मरीजों की संख्या 542, एक्टिव मरीजों की तादाद 129 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 14, बुरहानपुर में कुल 428 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 25 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 23, सागर में कुल मरीजों की संख्या 446 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 49 व जिनका निधन हुआ उनकी तादाद 22, खण्डवा में 402 कुल एवं एक्टिव 79 व जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 17, खरगौन में कुल 375 मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 72 व जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 15, भिण्ड में 341 कुल संक्रमित मरीजों में से एक्टिव मरीज 79 है। भिण्ड में कोरोना से अब तक किसी ने भी दम नहीं तोड़ा है। देवास में कुल मरीज 258 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 41 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 10 एवं रतलाम में कुल तादाद 222 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 49 व जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 06 है। प्रदेश में एक भी ऐसा जिला वर्तमान में नहीं है जहां एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य हो।

—–

मध्य प्रदेश के सरकारी विश्वविद्यालयों से संबंद्ध प्राइवेट और सरकारी कॉलेजों की अंतिम सेमेस्टर या वर्ष की कक्षाओं में इस साल सितंबर में परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी। विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की नई गाइडलाइन के आधार पर सरकार ने यह निर्णय लिया है। इसके पहले सरकार ने निर्णय लिया था कि सभी कक्षाओं में जनरल प्रमोशन दिया जाएगा। हालांकि जो छात्र अपने अंक सुधारने के मकसद से परीक्षा देना चाहेंगे वे परीक्षा दे सकेंगे। छात्रों के लिए परीक्षा देना वैकल्पिक किया गया था। लेकिन अब आयोग की नई गाइडलाइन के कारण अंतिम सेमेस्टर या वर्ष के छात्रों को परीक्षा देना अनिवार्य होगा।

इस संबंध में उच्च शिक्षा विभाग ने प्रदेश के सभी सरकारी विश्वविद्यालयों के कुलपतियों को परीक्षा कराने की तैयारी करने के आदेश दे दिए हैं। इसके साथ ही आयोग की नई गाइडलाइन के अनुसार राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय ने भी तकनीकी शिक्षा के छात्रों की परीक्षा कराने का निणर्य लिया है।

राज्य सरकार के द्वारा बार बार निर्णय बदले गए हैं। पहले राज्य सरकार ने निर्णय लिया था कि किसी भी कक्षा में जनरल प्रमोशन नहीं दिया जाएगा। एक कक्षा से अगली कक्षा में जाने के लिए परीक्षा देना अनिवार्य होगा। इसके बाद सरकार ने निर्णय लिया कि अंतिम सेमेस्टर या वर्ष के छात्र एच्छिक तौर पर अपने अंक सुधारने के लिए परीक्षा दे सकेंगे। जो छात्र परीक्षा नहीं देगा उसे जनरल प्रमोशन दिया जाएगा। लेकिन अब आयोग के कारण सरकार ने एक बार फिर अपना फैसला पलटते हुए परीक्षा कराने का निर्णय लिया है।

उच्च शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव अनुपम राजन ने कहा है कि आयोग की नई गाइडलाइन का पूरी तरह पालन किया जाएगा। गाइडलाइन के अनुसार सितंबर में परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी। इस मामले में कुलपतियों को परीक्षा कराने की तैयारी करने के आदेश देने के साथ ही टाइम टेबल तैयार करने के आदेश दिए गए हैं। इसके बाद सरकार और राजभवन से टाइम टेबल का अनुमोदन कराकर परीक्षाएं आयोजित कराई जाएंगी।

—–

कुपोषण मुक्त होने के लाख दावे-वादे और घोषणाएं की जाएं परंतु विभागीय आंक़ड़े सबकी पोल खोलकर रख रहे हैं। साल 2019 दिसंबर में पूरे प्रदेश में 10 लाख से ज्यादा बच्चे कम वजन और 1 लाख से ज्यादा अतिकम वजन वाले सामने आए हैं। मतलब साफ है कि प्रदेश में कुपोषण थम नहीं रहा है। जनवरी 2020 में कम वजन वाले 12 हजार से ज्यादा तो 1573 बच्चे अति कम वजन वाले दर्ज किए गए हैं।

मध्य प्रदेश में कुपोषण लगातार पैर पसार रहा है। साल 2017 से लेकर 2019 तक की बात करें तो 10 लाख से ज्यादा बच्चे कम और अति कम वजन वाले दर्ज किए गए हैं। 2020 में विभाग पोर्टल पर आंकड़ा दर्ज नहीं कर पा रहा है क्योंकि कोरोना संक्रमण के कारण महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने काम ही नहीं किया है।

—–

महाकौशल क्षेत्र में मामूली बारिश होने और दिन भर धूप रहने से उमस की स्थिति बन रही है, लेकिन रविवार शाम हुई बौछार वाली बारिश से दिन भर की तपन से राहत मिली। बीते तीन दिनों से बारिश नहीं होने से प्रदेश के अधिकांश हिस्सों में गर्मी भी बढ़ रही थी। अब आने वाले दिनों में अच्छी बारिश के आसार नजर आ रहे हैं। मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इसके पीछे का कारण यह है कि बीते दिनों से आसमान में जो द्रोणिका राजस्थान से हिमालय क्षेत्र की ओर झुक रही थी। अब बिहार से छत्तीसगढ़ की ओर द्रोणिका का झुकाव हो गया है, जिसके पूर्वी मध्यप्रदेश और जबलपुर के आस-पास खिसने के आसार हैं। इससे तेज बारिश होने की अनुकूल परिस्थितियां दो से तीन दिन बात बन सकती हैं। वहीं मौसम विभाग की मानें तो अगले 24 घंटे के दौरान संभाग के जिलों में कुछ स्थानों पर ही वर्षा या गरज चमक के साथ बौछार की संभावना है।

—–

देश के भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आइआइटी) और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) में इस वर्ष प्रवेश की प्रक्रिया में बदलाव हो सकता है। देश के इन सभी संस्थानों में प्रवेश के लिए 12वीं में 75 फीसद अंक की अनिवार्यता खत्म हो सकती है। इस पर विचार करने के लिए आइआइटी दिल्ली द्वारा 17 जुलाई को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए बैठक होगी। इसमें आइआइटी इंदौर के कार्यवाहक निदेशक भी शामिल रहेंगे। आइआइटी और एनआइटी में हर वर्ष जेइइ एडवांस परीक्षा के अंक और 12वीं के अंक के आधार पर प्रवेश दिया जाता है। कोरोना के कारण इस बार प्रवेश प्रक्रिया में मात्र 12वीं पास विद्यार्थी को प्रवेश मिल सकता है, जबकि पहले 12वीं में 75 फीसद अंक होने पर ही प्रवेश मिलता था।

—–

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि बेटियों के विरुद्ध अपराध करने वाले पूरी मानवता के दुश्मन है, मैं उन्हें छोडूंगा नहीं। अपराधों में संलग्न सफेदपोशो को चिन्हित कर उनके विरुद्ध सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। भोपाल में नाबालिग बेटियों के साथ अपराध करने वाला जघन्य अपराधी है, जहां कहीं भी हो उसे ढूंढ कर उसके विरुद्ध कार्रवाई की जाए। प्रदेश में अभियान चलाकर आदतन अपराधियों, माफियाओं, अतिक्रमणकारियों, अवैध शराब का कारोबार करने वालों और चिटफंड धोखेबाजों के विरुद्ध कार्रवाई करें।

मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में वरिष्ठ अधिकारियों के साथ प्रदेश में कानून व्यवस्था की स्थिति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, पुलिस महानिदेशक श्री विवेक जौहरी, अपर मुख्य सचिव गृह श्री एस.एन. मिश्रा, एडीजी इंटेलिजेंस सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि भोपाल में बेटियों के विरुद्ध अपराध करने वाले आरोपी प्यारे मियां को आवंटित शासकीय आवास एवं उसको पत्रकार के रूप में दी गई अधिमान्यता तुरंत निरस्त की जाए।

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कोरना के दौरान अच्छा कार्य करने के लिए प्रदेश पुलिस की सराहना की। उन्होंने कहा कि कोरोना संकटकाल में जिस तरह हमारे पुलिस बल ने रात-दिन एक कर जनता सेवा की है, वह प्रशंसनीय है। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त के मौके पर श्रेष्ठ कार्य करने वाले पुलिस कर्मियों को सम्मानित किया जाएगा।

गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने निर्देश दिए कि ऐसे व्यक्ति जो चिटफंड चलाकर जनता के साथ धोखाधड़ी करते हैं उनके विरुद्ध कैंप लगाकर सार्वजनिक रूप से कारवाई की जाए, जिससे ऐसा कार्य करने वालों के मन में डर बैठे। किसी को भी जनता के साथ धोखाधड़ी नहीं करने दी जाएगी।

मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने निर्देश दिए कि प्रदेश में आदतन अपराधियों, माफियाओं, सफेदपोश व्यक्तियों के विरुद्ध कार्रवाई करते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि उनके विरुद्ध हर एंगल से कार्रवाई होनी चाहिए। ऐसे व्यक्ति किसी भी प्रकार का अवैध लाभ लेने में नहीं चूकते।

पुलिस महानिदेशक विवेक जौहरी ने कानून व्यवस्था की जानकारी देते हुए बताया कि प्रदेश में अभियान चलाकर अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। आगामी 15 जुलाई से 15 अगस्त तक प्रदेश में वाहन चेकिंग अभियान भी चलाया जाएगा।

—–

राष्ट्रीय बाँस मिशन के तहत प्रदेश के किसानों को 50 प्रतिशत अनुदान पर उन्नत गुणवत्ता वाले बाँस के पौधे उपलब्ध कराये जा रहे हैं। प्रति पौधा 240 रूपये लागत वाला यह पौधा किसानों को 120 रूपये में मिलेगा। राशि अनुदान का वितरण तीन वर्षाे तक किया जायेगा। पहले साल में 60 रूपये प्रति पौधा, दूसरे में 36 रूपये और तीसरे साल में किसानों को 24 रूपये प्रति पौधा अनुदान मिलेगा। पहले वर्ष में रोपित सभी पौधों पर अनुदान दिया जायेगा। दूसरे साल 80 प्रतिशत पौधों की जीवितता पर (मृत पौधा बदलाव सहित) और तीसरे साल शत-प्रतिशत पौधों की जीवितता (मृत पौधा बदलाव सहित) सुनिश्चित करने पर अनुदान दिया जायेगा।

—–

11 दिन बाद सीएम शिवराज ने अपने मंत्रियों को विभाग दे दिया है। उम्मीद के मुताबिक कैबिनेट बंटवारे में ज्योतिरादित्य सिंधिया के लोगों को तवज्जो दी गई है। कैबिनेट में जगह नहीं मिलने की वजह से कई लोग पहले से ही नाराज था। विभाग बंटवारे के बाद विधायक और पूर्व मंत्री अजय विश्नोई ने फिर से बागी रूख अख्तियार किया है। विश्नोई ने पार्टी को नसीहत दी है।

अजय विश्वोई बीजेपी के सीनियर नेता हैं। विश्नोई पाटन से बीजेपी के विधायक हैं। उन्होंने लिखा है कि इस हाथ दे-उस हाथ ले, का शानदार उदाहरण प्रस्तुत हुआ है। एमपी की वर्तमान राजनीति में। आज जब सरकार ना तो बनानी थी और न गिराना। फिर यह क्यों किया गया? आप बीजेपी को कहां ले जाना चाहते हैं? जनता को बताए, न बताए बीजेपी को यह बताना होगा। या फिर हमें संस्कारों का उल्टा पाठ पढ़ाना होगा। उन्होंने कहा है कि बीजेपी में भी कई बदलाव आए हैं।

दरअसल, अजय विश्नोई को उम्मीद थी कि इस बार कैबिनेट में उन्हें जगह मिलेगी। लेकिन सिंधिया समर्थकों की वजह से उन जैसे कई वरिष्ठ नेताओं का पत्ता कट गया। उसके बाद से ही मुखर होकर विश्नोई अपनी बात रख रहे हैं। पिछले दिनों उन्होंने इसे लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान को चिट्ठी भी लिखी थी।

वहीं, अजय विश्नोई के ट्वीट को एमपी कांग्रेस ने भी रिट्वीट किया है। साथ ही लिखा है कि मलाई बट गई। अब जल्दी-जल्दी खाओ, क्योंकि समय बहुत कम है।

—–

गैंगेस्टर विकास दुबे के बाद एमपी से शहडोल से अतीक अहमद के शूटर मो. अख्तर को गिरफ्तार किया गया है। शहडोल एसपी ने इसे यूपी के बदमाश अतीक अहमद के गैंग का बताया है। पुलिस इसकी गिरफ्तारी के बाद यह जांच में जुटी है कि यह क्या करने एमपी आया था। शहडोल पुलिस ने यूपी के इलाहाबाद के प्रयागराज जिला अतासुइया थाना क्षेत्र के रहने वाले शूटर मो. अख्तर को जिले के सोहागपुर थाना क्षेत्र से पकड़ा है। यह यूपी के नामी बदमाश अतीक अहमद गैंग का बताया जा रहा है। जिसके खिलाफ यूपी में 10 से 12 संगीन अपराध दर्ज हैं। शहडोल पुलिस को सूचना मिली कि उत्तर प्रदेश का शातिर अपराधी शहडोल में आया हुआ है। पुलिस ने नगर के सोहागपुर थाना अंतर्गत कोनी के एक घर में दबिश दी तो इलाहाबाद के प्रयागराज जिला अतासुइया थाना क्षेत्र के रहने वाले शातिर बदमाश शूटर मो. अख्तर उर्फ बालम मिला। पूछताछ में उसने खुद को महशूर गैंगस्टर और अतीक अहमद का साथी बताया है। अतीक अहमद वर्तमान में गुजरात की जेल में बंद है।

—–

आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में सोमवार 13 जुलाई का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 14 जुलाई को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।