31 जुलाई का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में शुक्रवार 31 जुलाई का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन, अब आप शरद खरे से समाचार सुनिए.
—–
केंद्र में नरेंद्र मोदी सरकार की कैबिनेट ने नई शिक्षा नीति पर मुहर लगाने के साथ ही साथ बुधवार को मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम बदलकर शिक्षा मंत्रालय कर दिया। मानव संसाधन विकास मंत्रालय का नाम पहले शिक्षा मंत्रालय ही था। यानी इसका पहले वाला नाम अब वापस कर दिया गया है। अब सवाल है कि आखिर कब और क्यों ऐसी जरूरत पड़ी कि शिक्षा मंत्रालय का नाम बदलकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय कर दिया गया था? दरअसल, 1985 में राजीव गांधी की सरकार के दौरान शिक्षा मंत्रालय को मानव संसाधन विकास मंत्रालय में तब्दील कर दिया गया था। इसके अगले वर्ष नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति लागू की गई थी। इसके 34 साल बाद अब शिक्षा नीति में बदलाव किया जा रहा है।
आजादी के बाद से 1985 तक मानव संसाधन विकास मंत्रालय को शिक्षा मंत्रालय ही कहा जाता था। 1984 में जब राजीव गांधी प्रधानमंत्री बने, तब वह देश की व्यवस्था में काफी बदलाव लाना चाहते थे। एक रिपोर्ट के मुताबिक, उस वक्त वे कई सलाहकारों से घिरे रहा करते थे। तब उन्होंने सलाहकारों के इस सुझाव को माना कि शिक्षा से जुड़े तमाम विभागों को एक छत के नीचे लाया जाना चाहिए। इस तर्क के आधार पर 26 सितंबर, 1985 को शिक्षा मंत्रालय का नाम बदलकर मानव संसाधन विकास मंत्रालय कर दिया गया था और पी वी नरसिम्हा राव को इस मंत्रालय की कमान सौंपी गई थी।
उस वक्त संस्कृति, युवा और खेल जैसे विभागों को शिक्षा से जुड़ा मानते हुए मानव संसाधन विकास मंत्रालय के अंतर्गत लाया गया। इसके लिए राज्य मंत्री नियुक्त किए गए। यहां तक कि महिला और बाल विकास विभाग को भी इसके तहत रखा गया था। वर्ष 2006 में महिला एवं बाल विकास भी एक अलग मंत्रालय बन गया था।)
राजीव गांधी सरकार के इस फैसले का उस वक्त काफी विरोध भी हुआ था। लोगों का कहना था कि देश में अब कोई शिक्षा विभाग ही नहीं बचा लेकिन फैसला लिया जा चुका था।
—–
दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केजरीवाल सरकार के अनलॉक-3 के 2 अहम फैसले खारिज कर दिये हैं। केजरीवाल सरकार ने दिल्ली में होटल खोलने और ट्रायल बेसिस पर 1 हफ्ते के लिए साप्ताहिक बाजार खोलने की अनुमति दी थी। इन दोनों फैसलों को उपराज्यपाल ने खारिज कर दिया है।
—–
छत्तीसगढ़ सरकार ने कर्मचारियों के प्रोबेशन पीरियड के नियमों में बदलाव किया है। इसके साथ ही वेतन के साथ मिलने वाले तमाम भत्तों के नियमों को लेकर भी बदलाव किए गए हैं। सरकार ने तय किया है कि पहले वर्ष के दौरान नए कर्मचारी की सैलरी में 30 फीसदी तक की कटौती की जाएगी। इसके साथ ही सरकार ने प्रोबेशन पीरियड को दो की बजाय अब तीन साल का कर दिया है। सरकार वेतन कटौती के बाद बची हुई 70 फीसदी के मूल वेतन के आधार पर भत्तों का निर्धारण करेगी।
ताजा आदेश में कहा गया है कि प्रोबेशन पीरियड के दौरान कर्मचारियों को सैलरी का 70 फीसदी, दूसरे साल 80 और फिर तीसरे साल 90 फीसदी भुगतान तय किया गया है। प्रोबेशन पीरियड की समाप्ति के बाद कर्मचारियों को इस व्यवस्था से हटा दिया जाएगा। ये आदेश सीधी भर्ती के पदों पर भी लागू होंगे। कोरोना संकट का असर मध्य प्रदेश सरकार के राजस्व पर भी पड़ा है। इस वजह से आईएएस, आईपीएस और आईएफएस अफसरों का वेतन नहीं बढ़ेगा।
—–
अमेरिका में भारतीय मूल के लोगों के बढ़ते वर्चस्व की एक और बानगी देखने को मिली है। दरअसल अमेरिका के राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन और डेमोक्रेटिक दोनों ही पार्टियां भारतीय मूल के लोगों को लुभाने में जुटी हैं। अब इस मामले में डेमोक्रेटिक पार्टी ने एक कदम आगे बढ़ते हुए भारत की 14 भाषाओं में चुनाव प्रचार करने का फैसला किया है। इन 14 भाषाओं में हिंदी, पंजाबी, तमिल, तेलगु, बंगाली, उर्दू, कन्नड़, मलयाली, उड़िया, मराठी और नेपाली शामिल हैं।
यही वजह है कि आजकल अमेरिकी चुनाव के प्रचार में अमेरिका का नेता कैसा हो, जो बिडेन जैसा हो अक्सर सुनने को मिल जाता है। अमेरिका में पिछले राष्ट्रपति चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी ने भी ऐसा ही प्रयोग किया था, जिसका उसे फायदा भी खूब मिला था। उस वक्त रिपब्लिकन पार्टी ने भारतीय मूल के मतदाताओं को लुभाने के लिए अबकी बार ट्रंप सरकार जैसा नारा भी दिया था, जो कि अबकी बार मोदी सरकार से प्रेरित था।
अमेरिका में राष्ट्रपति पद का चुनाव 3 नवंबर को होना है। इस चुनाव में रिपब्लिकन पार्टी की तरफ से मौजूदा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और डेमोक्रेटिक पार्टी की तरफ से पूर्व उपराष्ट्रपति जो बिडेन मैदान में हैं। भारतीय मतदाताओं को लुभाने के लिए बिडेन की टीम द्वारा चुनाव प्रचार के ग्राफिक्स भी भारतीय भाषाओं में तैयार किए गए हैं।
—–
वॉलिवुड ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या के मामले में पिछले काफी दिनों से सीबीआई जांच की मांग चल रही है। हालांकि मामले में सीबीआई जांच तो नहीं हो सकी है लेकिन प्रवर्तन निदेशालय ने मामला दर्ज कर लिया है। प्रवर्तन निदेशालय ने यह कदम सुशांत के पिता केके सिंह की पटना में दर्ज कराई गई उस शिकायत के आधार पर लिया है जिसमें उन्होंने दावा किया था कि सुशांत के एकाउंट में 17 करोड़ रुपये थे जिसमें से 15 करोड़ रुपये का ट्रांजेक्शन हुआ है।
—–
नशे की समस्या से लंबे समय से जूझ रहे पंजाब में कच्ची शराब पीने से 21 लोगों की मौत हो गई। जानकारी के मुताबिक, पंजाब के तीन जिलों अमतृसर, तरणतारण और बटाला में नकली शराब पीने से इन लोगों की मौत हुई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने तुरंत कार्रवाई करते हुए घटना के बारे में मैजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
कोरोना काल में डायरेक्टर जनरल ऑफ सिविल एविएशन यानी डीजीसीए ने शुक्रवार को अंर्तराष्ट्रीय उड़ानें रद्द रखने की घोषणा की है। डीजीसीए के अनुसार कोरोना वायरस के मद्देनजर 31 अगस्त तक सभी अंर्तराष्ट्रीय उड़ानें सस्पेंड ही रहेंगी। हालांकि, ये आदेश उन उड़ानों पर लागू नहीं होगा, जो डीजीसीए से इजाजत लेकर उड़ान भर रहे हैं।
——————–
उत्तर प्रदेश के नोएडा में एक ढाई महीने बच्चे के गले में चॉकलेट फंस गई। घरवालों का आरोप है कि बच्चे की तबीयत खराब होने पर उन लोगों ने एंबुलेंस बुलाने के लिए कई बार फोन किया एंबुलेंस नहीं मिली तो वे बच्चे को ऑटो से लेकर अस्पताल पहुंचे लेकिन तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी।
सेक्टर 81 की रहने वाली पिंकी शर्मा ने बताया कि उनके देवरानी की ढाई महीने पहले डिलीवरी हुई थी। बच्चा घर में लेटा था। दूसरा बच्चा चॉकलेट खा रहा था। उसी दौरान उसने शिशु के मुंह में चॉकलेट डाल दी। चॉकलेट शिशु के गले में फंस गई।
घरवाले शिशु को लेकर नजदीकी अस्पताल गए। वहां से चिकित्सकों ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। जिला अस्पताल जाने के लिए घरवालों ने 102 नंबर पर कॉल किया। सारी जानकारी लेने के बाद एंबुलेंस भेजने की बात कही गई।
बच्चे के माता-पिता एंबुलेंस का इंतजार करते रहे लेकिन एंबुलेंस नहीं आई। बच्चे की हालत बिगड़ने पर वे लोग उसे ऑटो से लेकर जिला अस्पताल पहुंचे जहां चिकित्सकों ने बच्चे को मृत घोषित कर दिया। घरवालों ने आरोप लगाया कि समय से ऐंबुलेंस न मिलने के कारण उनके बच्चे की मौत हो गई।
—–
मध्य प्रदेश सरकार में मंत्री तुलसी सिलावट एक बार फिर अपनी जुबान फिसलने को लेकर चर्चा में हैं। सांवेर में एक चर्चा के दौरान सिलावट ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को प्रदेश का मुख्यमंत्री बता दिया। साथ में यह दावा किया कि 15 दिन के अंदर सिंधिया भूमि पूजन के लिए आएंगे। सिलावट के बयान का वीडियो वायरल होने के बाद कांग्रेस ने इस पर चुटकी ली है और कहा है कि कांग्रेस छोड़ बीजेपी में गए पूर्व विधायकों के साथ यही डील हुई है। सिलावट अपनी फिसली जुबान को लेकर अक्सर सुर्खियों में रहते हैं। वे पहले भी देश के पीएम एवं प्रदेश के सीएम को कलंक बता चुके हैं।
इंदौर के सांवेर विधानसभा क्षेत्र में उपचुनाव की तैयारियों में लगे सिंधिया समर्थक मंत्री तुलसी सिलावट का यह वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। चौपाल चर्चा का ये वीडियो बताकर कांग्रेस दावा कर रही है कि प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान इस्तीफा देने वाले हैं और सिलावट ने सार्वजनिक मंच से ये बता दिया है कि मुख्यमंत्री बनने के बाद ज्योतिरादित्य सिंधिया सांवेर में भूमि पूजन करने आएंगे।
—–
हैदराबाद के अंर्तराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर 11 यात्रियों के पास से तस्करी करके लाया गया 03 किलोग्राम से ज्यादा सोना जप्त किया गया है। सीमा शुल्क अधिकारियों ने शुक्रवार को बताया कि जप्त किए गए सोने की कीमत 1.66 करोड़ रुपये है। सीमा शुल्क अधिकारियों के मुताबिक, वंदे भारत मिशन के विमान से सऊदी अरब के दम्माम से लौटे यात्रियों ने अपने ट्राउजर की भीतरी जेब में सोना छुपाकर रखा था। एक अन्य मामले में, सीमा शुल्क विभाग ने सीआईएसएफ के साथ समन्वय कर पांच यात्रियों का पता लगाया जो चंदन की तस्करी करने की कोशिश कर रहे थे। उनके पास से बृहस्पतिवार को हवाईअड्डे से 78.5 किलोग्राम चंदन की लकड़ी जप्त की गई। ये पांचों यात्री हैदराबाद से सूडान के खर्तूम शहर की यात्रा करने वाले थे।
—–
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद 16 लाख 63 हजार 174 पहुंच गई है। इसमें से सक्रिय मरीजों की तादाद 05 लाख 57 हजार 270 और रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 10 लाख 69 हजार 501 है। इस बीमारी से र्हुइं मृत्यु का आंकड़ा 35 हजार 980 हो गया है। जिन राज्यों में कोरोना संक्रमितों के एक्टिव मरीजों की तादाद पांच हजार से अधिक हो गयी है उनमें महाराष्ट्र में सर्वाधिक 01 लाख 48 हजार 150 एक्टिव मरीज हैं।
इसके बाद आंध्र प्रदेश में 75 हजार 720 एक्टिव मरीज, कर्नाटक में 69 हजार 699 एक्टिव मरीज, तमिलनाडु में 57 हजार 959, उत्तर प्रदेश में 34 हजार 968, पश्चिम बंगाल में 19 हजार 900, बिहार में 17 हजार 38, तेलंगाना में 16 हजार 796, गुजरात में 13 हजार 695, उड़ीसा में 11 हजार 917, राजस्थान में 11 हजार 319, दिल्ली में 10 हजार 705, केरल में 10 हजार 56, असम में 09 हजार 230, मध्य प्रदेश में 08 हजार 454, जम्मू काश्मीर में 07 हजार 662, हरयाणा में 06 हजार 497 और झारखण्ड में 06 हजार 208 एक्टिव मामले हैं।
————
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में शरद खरे से शुक्रवार 31 जुलाई का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन। शनिवार 01 अगस्त को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, यदि आपको ये ऑडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।