बुधवार 12 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में बुधवार 12 अगस्त 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद बहुत ही तेजी से बढ़ रही है। संक्रमित मरीजों का आंकड़ा सवा 23 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 23 लाख 34 हजार 279 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 09 लाख 95 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक सक्रिय मरीजों की तादाद 06 लाख 34 हजार 279 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 16 लाख 41 हजार 085 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 46 हजार 230 है। अब तक देश में कुल 02 करोड़ 60 लाख 15 हजार 297 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। इधर, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद 40 हजार को पार कर गई है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 21 हजार 491 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 40 हजार 734 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 09 हजार 105, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 30 हजार 596 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 1 हजार 33 है। प्रदेश में अब तक 09 लाख 30 हजार से ज्यादा लोगों का टेस्ट कराया जा चुका है।
प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के संक्रमित मरीजों की तादाद पांच सौ से ज्यादा है उनमें वर्तमान में इंदौर में 08 हजार 900 कुल मरीजों में से एक्टिव मरीजों की तादाद 02 हजार 563 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 336 है, भोपाल में 07 हजार 870 कुल मरीज, एक्टिव मरीजों की तादाद 1 हजार 717, जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 226, ग्वालियर में 03 हजार 64 कुल मरीजों में एक्टिव मरीजों की तादाद 706 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 18 मुरैना में कुल मरीजों की संख्या 1 हजार 814 एवं सक्रिय मरीजों की तादाद 159 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 11, उज्जैन में एक हजार 341 कुल में से एक्टिव मरीजों की तादाद 174 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 75, जबलपुर में कुल 01 हजार 939 संक्रमित मरीजों में से 566 एक्टिव एवं 40 लोग कालकलवित हुए हैं, खरगौन में कुल मरीजों की संख्या 954, एक्टिव मरीजों की तादाद 138 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 19, बड़वानी में कुल 918 में से एक्टिव मरीजों की तादाद 239 एवं जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 08, नीमच में कुल मरीजों की संख्या 847 एवं एक्टिव मरीजों की तादाद 96 व जिनका निधन हुआ उनकी तादाद 09, सागर में 807 कुल एवं एक्टिव 144 व जिनका निधन हुआ उनकी संख्या 37, खण्डवा में 720 कुल मरीजों में से संक्रमित मरीज 65 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 20, रतलाम में कुल 574 मरीजों में से एक्टिव मरीज 103 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 14, भिण्ड में कुल 508 संक्रमित मरीजों में से एक्टिव मरीज 33 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 02, धार में कुल 509 मरीजों में से 98 संक्रमित व जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 10 एवं बुरहानपुर में कुल 502 मरीजों में से एक्टिव मरीज 21 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 25 है। प्रदेश में एक भी जिले में एक्टिव मरीजों की तादाद शून्य नहीं है।
—–
प्रदेश के सिवनी शहर में पुलिस ने पांच लोगों को हिरासत में लिया है। ये सभी लोग शहर की एक होटल में ठहरे हुए थे इनके पास से 1 करोड़ 25 लाख रुपए का सोना-चांदी और कैश बरामद हुआ है। पुलिस के मुताबिक हिरासत में लिए गए लोगों में से तीन इंदौर के और दो पंजाब के रहने वाले हैं। उनके पास सोना-चांदी और लाखों रुपए से कैश कहां से आया इसके बारे में अभी तक संतोषप्रद जवाब नहीं मिला है।
पुलिस सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि मंगलवार-बुधवार की दरम्यानी रात उन्हें शहर की वीनस होटल में कुछ बाहरी संदिग्ध लोगों के आकर रुकने की सूचना मिली थी। पुलिस ने इस सूचनना को गंभीरता से लिया और जब होटल पहुंचकर तलाशी ली तो होटल संचालक के लॉकर में रुके हुए लोगों का एक काले रंग का बैग मिला जिसमें 540 ग्राम सोने के आभूषण थे। इसके बाद जब होटल में रुके हुए संदिग्ध लोगों की तलाशी ली गई तो उनके पास से 45.64 लाख रुपए नकद, करीब 44 किलो चांदी के आभूषण, सिल्लियां और 1 किलो 400 ग्राम सोना बरामद हुआ है।
शुरुआती तफ्तीश में हिरासत में लिए गए लोगों ने बताया है कि सभी आभूषण पंजाब अमृतसर के व्यापारी का होना बताया है जिसके बाद पंजाब पुलिस को सूचना दे दी गई है। पुलिस का कहना है कि आरोपी जेवरात और कैश उनका होने की बात तो स्वीकार रहे हैं लेकिन उनके पास इससे संबंधित किसी भी तरह के दस्तावेज नहीं हैं जिससे मामला संदिग्ध लग रहा है। जिन लोगों को हिरासत में लिया गया है उनमें इंदौर के रहने वाले मनोज, ललित और नमित जबकि पंजाब के अवतार और मनप्रीत शामिल हैं। आखिरकार ये लोग कौन हैं और इतना पैसा और जेवरात लेकर सिवनी क्या करने के लिए आए थे पुलिस फिलहाल इसकी तफ्तीश कर रही है।
—–
कोरोना वायरस का असर न सिर्फ इंसानी स्वास्थ पर पड़ रहा है, बल्कि ये इंसानी व्यवस्थाओं पर भी गहरा प्रभाव डाल रहा है। मार्च के महीने से लेकर अब तक जितने भी त्यौहार-आयोजन गुजरे उन सभी पर कोरोना का असर रहा। इसी तरह अब स्वतंत्रता दिवस का कार्यक्रम भी कोरोना के असर के चलते सिकुड़ सा गया है। प्रदेशभर में सिर्फ भोपाल में ही सरकारी समारोह आयोजित होगा। हालांकि, यहां भी हर साल जैसी परेड नहीं होगी। सिर्फ 8 टुकड़ियों को समारोह में शिरकत के करने की अनुमति होगी। वो भी परेड न कर मैदान में एक जगह खड़ी रहेगी। समारोह के दौरान मैदान में सोशल डिस्टेंसिंग के तहत मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में सिर्फ 500 लोगों को शामिल किया जाएगा।
बता दें कि, अब तक स्वतंत्रता दिवस की परेड में 18 टुकड़ियां शामिल होती थीं। कोरोना संकट के कारण इस बार सिर्फ आठ दल ही समारोह में शामिल हो सकेंगे। स्काउट गाइड, एनसीसी, शौर्य दल और सेना के रिटायर जवानों की टुकड़ी इस बार आयोजन में शामिल नहीं होंगी। केवल आठ दल ही समारोह में शामिल होंगे, इनमें महिला प्लाटून, जिला पुलिस बल, स्पेशल आर्म्ड फोर्स फोर्स, एसटीएफ (एसएएफ), होमगार्ड, जेल और पुलिस बैंड के सदस्य शामिल होंगे।
स्वतंत्रता दिवस समारोह में शामिल होने वाले और जवानों के बीच सोशल डिस्टेंस का पालन कराया जाएगा। हर दल और जवान के बीच करीब 6 फीट दूरी बनाकर रहेंगे। हर टुकड़ी में अब तक 45 जवान शामिल होते थे, लेकिन इस बार सोशल डिस्टेंस मेंटेन रखने के लिए टुकड़ी में सिर्फ 28 जवान और उनके प्लाटून कमांडर मौजूद रहेंगे।
हर बार की तरह समारोह में शामिल हो रहे दल लाल परेड ग्राउंड में खड़े रहेंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जिप्सी में सवार होकर परेड का निरीक्षण करेंगे। सम्मान में तीन हर्ष फायर होंगे। परेड 16 कदम बढ़ाकर समीक्षा क्रम में बीच मैदान में खड़ी होगी। मुख्यमंत्री के भाषण के बाद परेड का विसर्जन किया जाएगा।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
प्रदेश के पन्ना जिले के पुलिस अधीक्षक मयंक अवस्थी के जूते में सांप घुस कर बैठा हुआ था। इस बात का उन्हें अंदाजा नहीं था कि सांप उनके जूते में बैठा है। सोमवार को वहं लंच के बाद अपने सरकारी आवास से ऑफिस जाने के लिए जूता उठाया था। मोजा निकालने के लिए उन्होंने जैसे ही जूता में हाथ डाला, तो उन्हें लगा कि अंदर कुछ है। उसके बाद उन्होंने जूते के अंदर जो देखा, उसे देख कर हैरान रह गए।
जूते के अंदर एक छोटा जहरीला सांप बैठा हुआ था। हाथ डालते ही वह फुफकारने लगा था। जूते के अंदर पन्ना एसपी मयंक अवस्थी का हाथ सांप से टच हुआ था। सांप को देख उन्हें लगा कि सांप ने डस लिया है। क्योंकि एसपी के हाथ में जलन हो रहा था। उसके बाद तुंरत उन्होंने अपने स्टॉफ को खबर दी। उसके बाद एसपी कोठी में हड़कंप मच गया। इसके बाद उनकी जांच की गई, बाद में वे अन्य जांच के लिए जबलपुर चले गए, जहां उनका स्वास्थ्य बेहतर बताया जा रहा है।
—–
भोपाल शहर के आसपास बाघों का मूवमेंट अकसर देख गया है। कलियासोत के करीब पिछले दिनों भी 4 बाघों का मूवमेंट देखा गया था। अब मिंडोरा इलाके में एक बाघिन ने बछड़े का शिकार किया है। वन विभाग को जैसे ही इसकी सूचना मिली, तो टीम तुरंत मौके पर पहुंच गई। गाड़ी की आवाज सुन कर बाघिन पर सड़क पर आ गई। बाघिन की दहाड़ सुन वनकर्मी वापस लौट गए। इस दौरान मिंडोरा सड़क को 2 घंटे तक बंद कर दिया गया है। वनकर्मी दूर से ही बाघिन पर निगरानी रख रहे थे।
बताया जा रहा है कि बाघिन अपने शावकों को शिकार करना सिखा रही थी। वह सड़क से एक बछड़े को पकड़ कर ले गई थी। वहीं, मौके पर पहुंचे वन कर्मी उसे ट्रैप कैमरा से बांधने जा रहे थे। लेकिन गाड़ी की आहट सुन वह सड़क पर आकर दहाड़ने लगी। उसके बाद किसी की हिम्मत आगे बढ़ने की नहीं हुई। हालांकि बाघिन अपने शावकों को सड़क पर नहीं आने दी।
—–
राजधानी में विधायकों के लिए रचना नगर आवास योजना में बने गरीबों के मकान भी विधायकों को आवंटित करने का मामला सामने आया है। इस प्रावधान के कारण यहां न तो गरीब आवास बुक कर पा रहे और न ही विधायकों ने बुकिंग की है। सवाल यह भी उठ रहा है कि एक लाख रुपए से अधिक वेतन -भत्ते पाने वाले विधायक गरीब कैसे हो सकते हैं।
प्रदेश के वर्तमान और पूर्व विधायकों व सांसदों के लिए 6.16 एकड़ में आवास बन रहे हैं। प्रथम चरण की लॉटरी 21 अगस्त को निकलेगी। यहां एचआइजी, सीनियर एमआइजी, जूनियर एमआइजी समेत विभिन्न श्रेणी के मकान हैं। विधायक और सांसदों ने बुकिंग तो कर दी, लेकिन एलआईजी और ईडब्ल्यूएस श्रेणी के आवासों की बुकिंग नहीं की। इसका प्रमुख कारण यह है कि ये आवास विधायकों की हैसियत से छोटे हैं और विधायक गरीबों की श्रेणी में नहीं आते हैं।
रचना नगर प्रोजेक्ट वर्ष 1995 में शुरू हुआ था। 2018 तक आवास विधायकों, सांसदों को मिल जाना चाहिए था। अब प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने इसमें रुचि दिखाई और आवास संघ को निर्देश दिया कि किसी भी स्थिति में अगस्त में विधायकों को उनके आवास दिए जाएं। वरना पेनल्टी लगाई जाएगी। इसी के तहत अब लॉटरी खुलेगी।
इस बारे में आवास संघ के एमडी अरविंद सिंह तोमर का कहना है कि चूंकि योजना वर्तमान, पूर्व विधायकों और सांसदों के लिए है, इसलिए सभी आवास इन्हीं को आरक्षित किए जाने का प्रावधान है। सभी श्रेणी के मकान इन्हें ही मिलेंगे।
इन मकानों में 120 आवास एचआइजी श्रेणी के, 120 सीनियर एमआइजी, 40 जूनियर एमआइजी, 16 एमआइजी, 24 एलआइजी एवं 24 ईडब्ल्यूएस श्रेणी के हैं।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में बुधवार 12 अगस्त का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। ब्रहस्पतिवार 13 अगस्त को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।