17 अगस्त का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में सोमवार 17 अगस्त का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन, अब आप शरद खरे से समाचार सुनिए.
—–
कई आशंकाओं और सवालों के बीच रूस ने अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन का ऐलान कर दिया। भले ही लोग इसे लेकर अभी भी आश्वस्त न हों, लेकिन दो और वैक्सीन हैं जिनके इस साल के आखिर तक उपलब्ध होने की थोड़ी उम्मीद है। ब्रिटेन की वैक्सीन टास्कफोर्स केंट बिंघम ने एक समाचार एजेंसी को बताया है कि साल के अंत तक दो वैक्सीन बनने की संभावना है जिनमें से एक आक्स-फोर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन और दूसरी जर्मनी की कंपनी बायो एन-टेक की वैक्सीन है। हालांकि, ज्यादा संभावना है कि ये अगले साल की शुरुआत में आएं लेकिन बिंघम का कहना है कि अगर सब कुछ ठीक रहा तो ये साल के अंत तक आ भी सकती हैं।
बिंघम ने कहा है, मुझे लगता है कि हमारे पास इस साल वैक्सीन मिलने का मौका है। दो संभावित कैंडिडेट हैं- एक ऑक्सफर्ड की और दूसरी बायो एन टेक की जर्मन वैक्सीन। उन्होंने कहा कि ये दोनों ऐसी हैं कि अगर सबकुछ ठीक रहा तो इन्हें बनाकर इस साल डिलिवर किया जा सकता है। ऑक्सफर्ड और अस्ट्राक जेनेका की वैक्सीन इस रेस में सबसे आगे मानी जाती रही है। हालांकि, रूस ने अपनी वैक्सीन को रजिस्टर करा लिया है और चीन ने अभी एक वैक्सीन का पेटेंट करा लिया है।
बिंघम ने यह भी बताया कि बुजुर्ग लोगों को युवाओं से अलग वैक्सीन दिए जाने की भी संभावना है क्योंकि उनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है। वैक्सीन दिए जाने पर 65 की उम्र के लोगों को प्राथमिकता दी जाएगी। साथ ही, दूसरी बीमारियों से ग्रस्त लोगों, फ्रंटलाइन हेल्थ और सोशल केयर वर्कर्स को भी यह पहले दी जाएगी।
इसलिए बिंघम ने इन लोगों से ज्यादा से ज्यादा संख्या में ट्रायल के लिए रजिस्टर करने की भी अपील की है। उन्होंने कहा है कि सिर्फ स्वस्थ्य युवाओं पर ट्रायल नहीं किया जा सकता है। यह सुनिश्चित करना होगा कि ब्रिटेन में क्षेत्रीय, शारीरिक स्वास्थ्य और उम्र की विविधता के हिसाब से यह टेस्ट किया जाए कि हर किसी के लिए वैक्सीन असरदार और सुरक्षित है।
—–
भारतीय स्टेट बैंक (एसबीआई) के अर्थशास्त्रियों ने चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 16.5 प्रतिशत की गिरावट की आशंका जताई है। इससे पहले, मई में एसबीआई रिपोर्ट में चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी में 20 प्रतिशत से अधिक की गिरावट की आशंका जताई गई थी। हालांकि वर्तमान अनिश्चित परिदृश्य में कुछ शर्तों के साथ अब इसमें 16.5 प्रतिशत की गिरावट का अनुमान जताया गया है।
एसबीआई के अर्थशास्त्रियों ने सोमवार को जारी अपनी रिपोर्ट इकोरैप में कहा कि जहां तक सूचीबद्ध कंपनियों के परिणाम का सवाल है, कॉरपोरेट जीवीए (कुछ वित्तीय और गैर-वित्तीय कंपनियों के उम्मीद से बेहतर परिणाम) वित्त वर्ष 2020-21 में आय में गिरावट के मुकाबले बेहतर रहा है। अब तक करीब 1,000 सूचीबद्ध इकाइयों ने पहली तिमाही के वित्तीय परिणाम की घोषणा की है। परिणाम बताते हैं कि कंपनियों की सकल आय में 25 प्रतिशत से अधिक की गिरावट आई है जबकि शुद्ध आय यानी लाभ में 55 प्रतिशत से अधिक की कमी दर्ज की गई है। हालांकि कॉरपोरेट जीवीए (सकल मूल्य वर्धन) में गिरावट केवल 14.1 प्रतिशत है।
—–
महाराष्ट्र में बीते छह महीने के अंदर 01 हजार 74 किसानों ने आत्महत्या कर ली। जनवरी से जून के बीच हुई इन आत्महत्याओं के आंकड़े डराने वाले हैं। आंकड़ों के हिसाब से हर रोज छह किसानों ने आत्महत्या की। सबसे ज्यादा किसानों के आत्महत्या करने के मामले जून में आए, इस दौरान 214 केस दर्ज किए गए।
लॉकडाउन के दौरान किसान बहुत प्रभावित हुए। सबसे ज्यादा सब्जी और फलों के किसान परेशान हुए। लॉकडाउन में ट्रांसपॉर्ट रुकने से किसानों की सब्जियां और फल बड़ी थोक मंडी में नहीं जा सके। कई किसानों के उत्पाद खराब हो गए।
जून तक की अवधि के दौरान लॉकडाउन के चलते सामानों की सप्लाई चेन टूट गई थी। थोक बाजार में उत्पादों के दाम गिर गए। हालांकि बीते दशकों में कॉटन जैसी फसलों की सरकारी खरीद बढ़ी है।
—–
बॉलीवुड स्टार आमिर खान इन दिनों फिल्म लाल सिंह चड्ढा की शूटिंग के लिए तुर्की में हैं। इस दौरान उन्होंने तुर्की के राष्ट्रपति की पत्नी एमिन एर्दाेआन से मुलाकात की है। फर्स्ट लेडी की ओर से ट्विटर पर इस मुलाकात की तस्वीरें शेयर करने के बाद आमिर निशाने पर आ गए हैं। कश्मीर मुद्दे पर पाकिस्तान की भाषा बोलने वाली तुर्की की सरकार के साथ आमिर का यह मेल-जोल बहुत से लोगों को पसंद नहीं आया।
तुर्की के राष्ट्रपति की आधिकारिक वेबसाइट के अनुसार प्रथम महिला ने शनिवार को इस्तांबुल स्थित राष्ट्रपति आवास में अभिनेता से शनिवार को मुलाकात की। शनिवार को भारत का 74वां स्वतंत्रता दिवस भी था। प्रथम महिला ने इस मुलाकात के बारे में ट्वीट भी किया।
—–
अक्सर घातक मिसाइलों और हथियारों की बात करने वाले नॉर्थ कोरिया के तानाशाह किम जोंग, इन दिनों देश में खाने की कमी का सामना कर रहे हैं। इस संकट से निपटने के लिए उन्होंने अनाज खरीदने या खेती को बढ़ावा देने की बजाय कुत्तों की जान लेने का फरमान जारी कर दिया है। किम के आदेश से कुत्तों को पालने वाले लोग बेहद डरे हुए हैं और इस बात को लेकर फिक्रमंद हैं अब जिन्हें वे प्यार से पाल रहे थे उन्हें अब मार डाला जाएगा।
दरअसल, किम जोंग उन ने इस साल जुलाई में घोषणा की थी देश में अब कुत्ता पालना अवैध है। उन्होंने घर में कुत्तों को पालने को पूंजीपति विचारधारा से जोड़ा था। कोरिया के न्यूजपेपर के मुताबिक नॉर्थ कोरिया में अधिकारियों ने ऐसे घरों की पहचान आरंभ कर दी है जिनमें कुत्ते पाले जा रहे हैं। लोगों से जबरन उनके कुत्ते छीने जा रहे हैं। इन कुत्तों को सरकारी चिड़ियाघरों में रखा जा रहा है और यहां से कुत्तों का मांस परोसने वाले रेस्त्रां को बेचा जा रहा है।
—–
शिवसेना के राज्यसभा सांसद और प्रवक्ता संजय राउत के कंपाउंडर को बेहतर बताने वाले बयान से नया विवाद खड़ा हो गया है। डॉक्टर्स ने महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री और शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से शिकायत करते हुए राउत की इस्तीफे की मांग की है।
सांसद संजय राउत ने रविवार को मराठी चैनल के साथ बातचीत के दौरान कहा था, कंपाउंडर काफी बेहतर होते हैं.. मैं हमेशा कंपाउंडर से ही दवाएं लेता हूं। संजय राउत के इस बयान के बाद इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के ठाणे चैप्टर ने विरोध दर्ज कराया है।
———
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
————————-
जाने माने शास्त्रीय गायक पंडित जसराज नहीं रहे। सोमवार को कार्डिएक अरेस्ट की वजह से उनका अमेरिका में निधन हो गया। 90 वर्ष के जसराज पिछले कुछ समय से अपने परिवार के साथ अमेरिका में ही थे।
—–
उत्तर प्रदेश की योगी सरकार पर ब्राह्मणों के खिलाफ विपक्ष लगातार अत्याचार का आरोप लगा रहा है। अब इस कड़ी में योगी सरकार के अपने विधायक ने भी सवाल खड़े कर दिए हैं। सुल्तानपुर के भाजपा विधायक देवमणि द्विवेदी ने आगामी विधानसभा सत्र के लिए एक ऐसा ही सवाल किया है। देवमणि द्विवेदी ने सवाल किया है कि पिछले तीन साल में योगी सरकार के कार्यकाल में कितने ब्राह्मणों की हत्या हुई है और कितने हत्यारे पकड़े गए हैं।
उन्होंने सवाल में लिखा है कि क्या राज्य के गृह मंत्री बताने की कृपा करेंगे कि वर्तमान भाजपा सरकार के तीन साल से अधिक कार्यकाल में प्रदेश में कितने ब्राह्मणों की हत्या हुई, कितने हत्यारे पकड़े गए? कितने हत्यारों को पुलिस सजा दिलवाने में कामयाब हुई? ब्राह्मणों की सुरक्षा के लिए आगे सरकार की रणनीति क्या है? क्या ऐसे में सरकार ब्राह्मणों को शस्त्र लाइसेंस देने में प्राथमकिता देगी? कितने ब्राह्मणों ने शस्त्र के लिए एप्लाई किया और कितने लाइसेंस जारी हुए।
—-
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद 26 लाख 65 हजार 194 पहुंच गई है। इसमें से सक्रिय मरीजों की तादाद 06 लाख 76 हजार 231 और रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 19 लाख 37 हजार 215 है। इस बीमारी से र्हुइं मृत्यु का आंकड़ा 51 हजार 242 हो गया है। जिन राज्यों में कोरोना संक्रमितों के एक्टिव मरीजों की तादाद दस हजार से अधिक हो गयी है उनमें महाराष्ट्र में सर्वाधिक 01 लाख 58 हजार 395 एक्टिव मरीज हैं।
इसके बाद आंध्र प्रदेश में 85 हजार 945 एक्टिव मरीज, कर्नाटक में 81 हजार 510 एक्टिव मरीज, तमिलनाडु में 54 हजार 19, उत्तर प्रदेश में 51 हजार 537, बिहार में 30 हजार 989, पश्चिम बंगाल में 27 हजार 299, असम में 21 हजार 468, तेलंगाना में 21 हजार 420, उड़ीसा में 19 हजार 611, केरल में 15 हजार 310, राजस्थान में 14 हजार 451, गुजरात में 14 हजार 402, पंजाब में 10 हजार 963, दिल्ली में 10 हजार 823 और मध्य प्रदेश में 10 हजार 312 एक्टिव मामले हैं।
————
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में शरद खरे से सोमवार 17 अगस्त का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन। मंगलवार 18 अगस्त को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, यदि आपको ये ऑडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।