उद्घाटन से पहले सिवनी में 3 करोड़ का पुल नदी में बहा

(ब्‍यूरो कार्यालय)

सिवनी (साई)। आफत की बारिश के बीच एमपी के सिवनी जिले में भ्रष्टाचार की कलई खुल गई है। प्रधानममंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत नदी पर बना पुल बह गया है। यह पुल सिवनी जिले के सुनवारा गांव में वैनगंगा नदी पर करोड़ों की लागत से बना था। उद्घाटन से पहले ही पुल पर परिचालन शुरू हो गया था। लेकिन पानी के पहले ही सैलाब को यह पुल झेल नहीं पाया है। इसके बाद शिवराज सरकार विरोधियों के निशाने पर आ गई है। क्योंकि बाढ़ ने सरकार की कलई खोल दी है।

वीडियो देखिए कैसे बहा सुनवारा का पुल

प्रदेश में एक बार फिर से भ्रष्टाचार मुक्त शासन की कलई खुल गई है। सिवनी जिले में 3 करोड़ का पुल 2 महीने में पानी में बह गया है। वैनगंगा नदी में अब सिर्फ पुल का मलबा नजर आ रहा है, जो पानी के बीच बिखरा हुआ है। इसके साथ ही कुछ पिलर खड़े हैं। पानी के बीच खड़े पिलर इस बात की गवाही दे रहे हैं कि यह कभी पुल था।
सरकारी दस्तावेजों के अनुसार इस पुल के निर्माण में कुल लागत 3 करोड़ 7 लाख रुपये आई है। इसका निर्माण कार्य 1 सितंबर 2018 को शुरू हुआ था। पुल को 30 अगस्त 2020 तक बन कर तैयार होना था। स्थानीय लोग बताते हैं कि इसका काम निर्धारित समय से 2 माह पहले ही खत्म हो गया था। इसकी लंबाई 150 मीटर और ऊंचाई 9.28 मीटर है। 3 दिनों से इस क्षेत्र में भीषण बारिश हो रही है। ऐसे पुल पानी का एक सैलाब भी नहीं झेल पाया।
उद्घाटन से पहले इस्तेमाल शुरू

स्थानीय लोगों ने बताया कि पुल का निर्माण कार्य पूरा हो गया था। अभी तक इसका उद्घाटन नहीं हुआ था। लेकिन लोग इस्तेमाल करने लगे थे। नए पुल पर गाड़ियों की आवाजाही शुरू हो गई थी। बताया जा रहा है कि भारी बारिश की वजह भीमगढ़ डैम पूरा भर गया था। डैम के सभी 10 गेट खोल दिए गए। उसके बाद नदी में उफान आया और पुल बह गया।
जांच के दिए गए आदेश

वहीं, पुल बहने का वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल है। उसके बाद जिले के अधिकारियों में हड़कंप मच गया है। कलेक्टर ने पूरे मामले में जांच के आदेश दिए हैं। मीडिया से बात करते हुए प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के एग्जीक्यूटिव इंजीनियर ने कहा है कि गुणवत्ता में कोई कमी नहीं थी। ग्रामीणों ने कहा है कि कभी हम लोग इतना पानी नहीं देखे थे। शासन के निर्देश पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।