रविवार 06 सितंबर का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन पढिए

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में रविवार 06 सितंबर का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन, अब आप शरद खरे से समाचार सुनिए.
—–
अनुशासनहीनता के आरोप में पिछले साल कांग्रेस से, निष्कासित नेताओं के एक वर्ग ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर उनसे परिवार के मोह से ऊपर उठकर दल के संवैधानिक और लोकतांत्रिक मूल्यों को बहाल करते हुए उसे चलाने का आग्रह किया है। निष्कासित नेताओं में से पूर्व सांसद संतोष सिंह और पूर्व मंत्री सत्यदेव त्रिपाठी समेत नौ नेताओं ने दो सितम्बर को पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी को लिखे पत्र में कहा है कि पंडित जवाहर लाल नेहरू, इंदिरा गांधी और राजीव गांधी ने लोकतांत्रिक मूल्यों और विचारधारा के साथ कांग्रेस और देश को बनाया है, लेकिन विडम्बना यह है कि पिछले कुछ समय से पार्टी जिस तरह से चल रही है, उससे पार्टी कार्यकर्ताओं में असमंजस और अवसाद की स्थिति बन गई है। पत्र में नेताओं ने कहा कि ऐसे में जब देश लोकतांत्रिक मूल्य और सामाजिक सद्भाव के ताने-बाने के बिखराव के संकट से गुजर रहा है, कांग्रेस का जीवंत, गतिशील और मजबूत बने रहना देश के लिए आवश्यक है। पत्र में नेताओं ने अपने निष्कासन की तरफ इशारा करते हुए कहा कि संवाद के अभाव में पार्टी हित का चिंतन करना और सुझाव देना अनुशासनहीनता नहीं होती। ऐसे हालात को संज्ञान में लेकर उनका निदान करने की बजाए उन्हें भाजपा का आवरण पहनाना खुद को धोखा देने के बराबर है।
पत्र में सोनिया गांधी से कहा गया है कि आप परिवार के मोह से ऊपर उठकर परंपराओं के अनुसार विचारों की अभिव्यक्ति के साथ ही साथ पार्टी के संवैधानिक एवं लोकतांत्रिक मूल्यों की बहाली और परस्पर विश्वास तथा संवाद कायम कर संगठन को चलाएं। अगर आप अपने दायित्व से विमुख होती हैं तो कांग्रेस इतिहास की वस्तु बन जाएगी। इन नेताओं ने कहा है कि आज देश में कांग्रेस संवादहीनता, अनिर्णय, अनिश्चय और आंतरिक लोकतंत्र तथा विचारों की अभिव्यक्ति के अभाव में अपने अस्तित्व के संकट के कठिन दौर से गुजर रही है।
—–
देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में पहली तिमाही में लगभग एक-चौथाई की भारी गिरावट आने के सवाल पर पूर्व वित्त सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा है कि यह नुकसान देशव्यापी लॉकडाउन लगाने की रणनीति सही नहीं होने के कारण हुआ है। उनका आंकलन है कि अर्थव्यवस्था को चालू वित्त वर्ष में 20 लाख करोड़ रुपये की क्षति हो सकती है। सुभाष चंद्र गर्ग ने कहा कि लॉकडाउन से कोरोना वायरस महामारी का प्रसार आरंभ में धीमा जरूर पड़ा लेकिन अर्थव्यवस्था को इससे कहीं ज्यादा नुकसान हुआ।
उनका मानना है कि आर्थिक हालात कहीं जाकर चौथी तिमाही अर्थात जनवरी से मार्च 2021 तक ही सामान्य हो सकेंगे, तब तक देश के जीडीपी को, कोविड-19 और उससे जनित प्रभावों से, कुल 10 से 11 प्रतिशत यानी लगभग 20 लाख करोड़ रुपये की क्षति हो चुकी होगी। पूर्व प्रशासनिक अधिकारी ने अर्थव्यवस्था से जुड़े मुद्दों पर सुझाव दिया कि आत्मकृनिर्भर भारत पैकेज में सुधार कर इसका लाभ ज्यादा से ज्यादा सूक्ष्म और छोटे उद्यमों तक पहुंचाने और बेरोजगार हुए मजदूरों की विशेष सहायता करने में किया जाना चाहिए।
निर्मला सीतारमण ने 27 जुलाई को एक अहम घोषणा की थी और कहा था कि सरकार लगभग 23 पब्लिक सेक्टर की कंपनियों का निजीकरण करने की तैयारी कर रही है, जिसे पहले ही कैबिनेट की मंजूरी मिल चुकी है। हालांकि, उन्होंने ये नहीं बताया था कि ये कौन सी पब्लिक सेक्टर कंपनियां हैं, जिनका निजीकरण करने की तैयारी चल रही है। इसी को लेकर सरकार में एक आरटीआई दाखिल की गई थी, जिसमें इन कंपनियों का नाम, और निजीकरण के लिए शेयरिंग मॉडल पूछा गया था।
—–
ब्रिटेन की अदालत में सोमवार को भगोड़े, हीरा व्यापारी नीरव मोदी के प्रत्यर्पण के मुकदमे की दूसरे चरण की सुनवाई आरंभ होगी और वह, वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पेश होगा। नीरव मोदी पर पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) से लगभग 14 हजार करोड़ रुपये की धोखाधड़ी का आरोप है। मार्च में गिरफ्तारी के बाद से ही वह लंदन की जेल में है। धन शोधन के मामले में भी भारत में 49 वर्षीय हीरा व्यापारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज है। ब्रिटेन की क्राउन अभियोजन सेवा (सीपीएस) के जरिए भारत सरकार ने नीरव के प्रत्यर्पण को लेकर, लंदन स्थित वेस्टमिंस्टर अदालत में मुकदमा दायर किया हुआ है। कोरोना वायरस प्रतिबंधों के मद्देनजर जिला न्यायाधीश सैम्युअल गूजी ने नीरव मोदी को वेंडसवर्थ जेल के ही एक कमरे से वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से पेश करने के निर्देश दिए हैं। पांच दिन चलने वाली यह सुनवाई शुक्रवार को समाप्त हो सकती है।
—–
भारतीय रेल ने रविवार को एक बयान जारी करते हुए उन मीडिया रिपोटर््स का खंडन किया है, जिसमें ट्रेनों में भीख मांगने को अब अपराध की श्रेणी से बाहर करने की बात कही जा रही थी। पूर्व में कुछ मीडिया रिपोटर््स में ऐसा दावा किया गया था कि रेलवे ने केंद्रीय कैबिनेट को प्रस्ताव भेजा है कि वह ट्रेन, प्लेटफॉर्म और स्टेशन में भीख मांगने को अपराध की श्रेणी से बाहर करने की अनुमति दे।
इन रिपोटर््स में किए गए दावे का खंडन करते हुए रेलवे ने कहा कि ऐसा कोई भी प्रस्ताव नहीं है, जिसमें कि स्टेशन या ट्रेन में भीख मांगने की अनुमति दी जाए या इसे अपराध न माना जाए।
—–
छत्तीसगढ़ सरकार ने राज्य में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों के मद्देनजर निजी अस्पतालों में उपचार का शुल्क तय कर दिया है। एक अधिकारी ने रविवार को बताया कि मरीजों को निजी अस्पतालों में उपचार का खर्च उठाना पड़ेगा जिसे अलग – अलग जिलों में उपलब्ध चिकित्सकीय सुविधा के आधार पर ए, बी और सी श्रेणियों में बांटा गया है। जनसंपर्क विभाग के अधिकारी ने बताया कि महामारी अधिनियम 1897, छत्तीसगढ़ सार्वजनिक स्वास्थ्य अधिनियम 1949 और छत्तीसगढ़ महामारी कोविड-19 नियम 2020 के तहत शनिवार को आदेश जारी किया गया है। रायपुर, दुर्ग, राजनांदगांव, बिलासपुर, कोरबा और रायगढ़ जैसे प्रमुख जिलों के अस्पतालों को ए श्रेणी में रखा गया है। वहीं सुरगुजा, महासमंद, धमतारी, कांकेर, जांजगीर-चंपा, बलौदा बाजार, भाटापारा, कबीर धाम और बस्तर जिलों को बी श्रेणी में शामिल किया गया है। अधिकारी ने बताया कि राज्य के शेष जिलों को, सी श्रेणी में रखा गया है। उन्होंने बताया कि ए श्रेणी में, राष्ट्रीय प्रत्यायन अस्पताल बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त अस्पताल मामूली रूप से बीमार मरीज से 6 हजार 200 रुपये प्रति दिन, गंभीर रूप से बीमार रोगी से 12 हजार रुपये प्रतिदिन और बहुत गंभीर रूप से बीमार मरीज से 17 हजार रुपये प्रति दिन ले सकते हैं।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
———
देश में कोरोना संक्रमित मरीजों की तादाद 41 लाख 41 हजार 290 पहुंच गई है। इसमें से सक्रिय मरीजों की तादाद 08 लाख 67 हजार 346 और रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 32 लाख 02 हजार 434 है। इस बीमारी से हुईं मृत्यु का आंकड़ा 70 हजार 889 हो गया है। कोरोना संक्रमितों के एक्टिव मरीजों की तादाद जिन राज्यों में 15 हजार से अधिक हो गयी है उनमें महाराष्ट्र में सर्वाधिक 02 लाख 20 हजार 661 एक्टिव मरीज हैं।
इसके बाद आंध्र प्रदेश में 99 हजार 689 एक्टिव मरीज, कर्नाटक में 99 हजार 617 एक्टिव मरीज, उत्तर प्रदेश में 59 हजार 963, तमिलनाडु में 51 हजार 580, तेलंगाना में 32 हजार 553, उड़ीसा में 29 हजार 658, असम में 28 हजार 507, पश्चिम बंगाल में 23 हजार 390, छत्तीसगढ़ में 22 हजार 320, केरल में 21 हजार 801, दिल्ली में 19 हजार 870, बिहार में 16 हजार 603, गुजरात में 16 हजार 268, पंजाब में 15 हजार 870, मध्य प्रदेश में 15 हजार 688, राजस्थान में 15 हजार 577 और झारखण्ड में 15 हजार 05 एक्टिव मामले हैं।
————
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया में रविवार 06 सितंबर का राष्ट्रीय आडियो बुलेटिन। सोमवार 07 सितंबर को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)