जबलपुर गोंदिया रेलखण्ड में यात्री गाडियों के परिचालन की तैयारियां आरंभ!

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में रविवार 08 नवंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
—–
मध्य प्रदेश की संस्कारधानी जबलपुर को महाराष्ट्र प्रदेश के गोंदिया से सीधे जोडऩे वाली जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज परियोजना का काम पूरा हो गया है। सीआरएस ने निरीक्षण के बाद रेलवे बोर्ड को रिपोर्ट भी सौंप दी है। इस रूट पर दिसम्बर से यात्री ट्रेनों का संचालन शुरू हो सकता है। वर्तमान में ट्रैक पर डिमांड के आधार पर मालगाड़ी चलाई जा रही है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे इस रूट पर यात्री ट्रेन के संचालन के लिए जल्द ही प्रदेश शासन और रेलवे को प्रस्ताव भेजने जा रहा है। अनुमति मिलते ही ट्रेन का संचालन शुरू हो जाएगा।
आपको बता दें कि इसके पहले नैनपुर तक ब्रॉडगेज का काम पूरा होने पर नैनपुर तक यात्री ट्रेन का संचालन शुरू हुआ था। अब इसे गोंदिया तक चलाया जाएगा। ट्रेन की रवानगी, स्टॉपेज, स्टेशन पर रुकने और रवानगी के समय की जानकारी के लिए नई समय सारिणी बनाई जा रही है। रेलवे अधिकारियों की मानें तो जबलपुर से नागपुर के बीच एक ही ट्रेन चल रही है, जो नागपुर होते हुए अमरावती तक जाती है। परियोजना के पूरा होने के बाद नागपुर और जबलपुर के बीच एक और ट्रेन का संचालन हो सकता है। जबलपुर-गोंदिया ब्रॉडगेज का काम पूरा होने से उत्तर भारत और दक्षिण भारत की दूरी 275 किमी कम हो गई है। अब इस ट्रैक पर संघमित्रा, जबलपुर-तिरूनावेल्ली, अमरावती, दरभंगा बैंगलूरु के साथ ही उत्तर भारत की ओर से आने वाली ट्रेनों को भी इसी रूट से चलाया जा सकता है।
—–
मध्य प्रदेश विधानसभा की 28 सीटों पर उपचुनाव में सरकार के खिलाफ यात्रा निकालने वाले कंप्यूटर बाबा अब सरकार के निशाने पर आ गए हैं। कंप्यूटर बाबा के आश्रम पर रविवार को जिला प्रशासन ने शिकंजा कसते हुए उनके अवैध निर्माण को तोड़ने की कार्रवाही शुरू की। निगम का पीला पंजा गोम्टीगिरी स्तिथ आश्रम के अतिक्रमण पर चला है। उधर, कार्रवाई में अड़चन बन रहे कंप्यूटर बाबा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है।
इंदौर नगर निगम की ओर से इसे लेकर दो महीने पहले नोटिस भेजा गया था। कलेक्टर मनीष सिंह के निर्देशन में एडीएम अजय देव शर्मा और, एसडीएम तथा पुलिस अधिकारियों की मौजूदगी में निगम की टीम सुबह से कार्रवाई कर रही है।
—–
एक तरफ जहां दुनियाभर की तरह मध्य प्रदेश भी कोरोना से जूझ रहा है, वहीं सरकार द्वारा प्रदेश के हर व्यक्ति को बेहतर स्वास्थ सेवाएं देने का दावा किया जाता है। लेकिन, हकीकत में मध्य प्रदेश की स्वास्थ सेवाओं की हालत बेहद दयनीय है। कोरोना से इतर अगर आम स्वास्थ सेवाओं की ही बात करें, तो प्रदेश में प्रति 2500 की आबादी पर सिर्फ 1 डॉक्टर की व्यवस्था है, यानी दस हजार की आबादी पर सिर्फ 4। चौकाने वाली बात ये है कि, नर्स और अन्य सहयोगी स्टाफ की संख्या प्रदेशभर में सिर्फ 8 है।
डब्ल्यूएचओ की गाइडलाइन को मानें तो, प्रदेश में कम से कम प्रति 1000 लोगों पर एक डॉक्टर तो होना ही चाहिए। लेकिन, भारत में औसतन 1,445 लोगों पर सिर्फ एक डॉक्टर है। जबकि, उत्तर-पूर्वी राज्यों में 500 लोगों पर एक डॉक्टर है, यानी ये वो राज्य हैं, जहां की स्वास्थ व्यवस्थाओं को डब्ल्यूएचओ के नियमानुसार औसत माना जा सकता है। लेकिन, अगर आगर बात मध्य प्रदेश की करें, तो यहां की स्वास्थ व्यवस्थाओं को बद से बदतर कहा जा सकता है।
—–
निवाड़ी जिले में 200 फीट गहरे बोरवेल में गिरे पांच साल के बालक को कड़ी मशक्कत के बाद रविवार सुबह बाहर तो निकाल लिया लेकिन उसे बचाया नहीं जा सका। देशभर में चार दिनों से इस बच्चे की सलामती की दुआएं की जा रही थीं। आर्मी और एनडीआरएफ समेत जिला प्रशासन की टीमें 24 घंटे रेस्क्यू ऑपरेशन में जुटी थी, लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था। सभी के प्रयास विफल रहे। पांच साल का प्रहलाद कुशवाह बोरवेल से तो बाहर निकला, लेकिन वो अपनी आंखें नहीं खोल पाया।
चार दिनों से बोरवेल में उल्टे फंसे प्रहलाद को बाहर निकलने और उसकी एक झलक देखने के लिए हजारों की संख्या में लोग जमा थे। कई लोग आसपास के पेड़ों पर चढ़कर बच्चे को बाहर निकलता देखने के लिए बैठे थे। कई लोग टीवी पर निगाह लगाए हुए थे। मंदिरों में पूजा अर्चना की जा रही थी।
—–
प्रदेश के छिंदवाड़ा जिले में एक दिल दहला देने वाली वारदात सामने आई है। मामला लवाघोगरी थाना इलाके की है। यहां गांव गढ़ागोंडी में अज्ञात हत्यारे खेत में सो रहे किसान का सिर काट कर ले गए। इस घटना ने पूरे गांव में दहशत का माहौल पैदा कर दिया है। वहीं इस बेरहम कत्ल के मामले ने पुलिस प्रशासन की भी नींद उड़ा दी है। प्रारम्भिक जांच में किसान की किसी से दुश्मनी को लेकर कयास लगाये जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि किसान से दुश्मनी के चलते ही हत्यारों ने इतनी बेरहमी से उसकी हत्या की है। हालांकि फिलहाल इस बारे में कुछ भी स्पष्ट नहीं हुआ है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार गढ़ागोंडी निवासी 45 वर्षीय रामजी बोसम शनिवार को गांव से 3 किलोमीटर दूर पहाड़ी पर अपने खेत में मक्के की कटी हुई फसल की रखवाली के चलते सोया हुआ था। उसी दौरान अज्ञात हत्यारे उसका सिर काटकर ले गए और धड़ खटिया पर ही छोड़ दिया। छिंदवाड़ा पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और हत्या की गुत्थी सुलझाने का प्रयास किया जा रहा है। पुलिस अधीक्षक विवेक अग्रवाल ने खुद मौके पर पहुंच सघन जांच पड़ताल शुरू करवाई है। फिलहाल पुलिस रामजी की आसपास गांव में किसी से दुश्मनी होने के एंगल पर जांच कर रही है।
—–
कोरोना संक्रमण के चलते जबलपुर शहर में दीपावली पर्व मनाने की तैयारियां जोर-शोर से जारी हैं। इस समय अधिकांश घर-दुकान व संस्थानों की रंगाई-पुताई का काम भी चल रहा है। रंग विक्रेताओ की दुकानों पर सुबह से शाम तक भीड़ जमा देखी जा रही है। जबकि इन दुकानों में पहुंचने वाले अधिकांश ग्राहक कोरोना से बचने फफूंद व शीत रोधक रंग और कैमिकल की मांग करते हैं। यानी कोरोना महामारी के डर से नागरिक अब घर-दुकान की दीवारों पर फफूंद या शीत आना तक पसंद नहीं कर रहे हैं।
—–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
—–
कम्प्यूटर बाबा के गोम्मटगिरी आश्रम जिला प्रशासन दघ्वारा तोड़े जाने के साथ ही इस पर राजनीति शुरू हो गई है। इंदौर सांसद शंकर लालवानी ने कम्प्यूटर बाबा को लेकर बयान दिया है कि उन्हें धर्म की पताका फहराना चाहिए थी, लेकिन वो राजनीति का वायरस फैला रहे थे। उन्हें धर्म को आगे ले जाना चाहिए, लेकिन वो उस तरह के काम न करते हुए जिस तरह की भाषा का प्रयोग कर रहे थे, वो किसी संत को शोभा नहीं देता।
सांसद शंकर लालवानी ने इस दौरान कम्प्यूटर बाबा के आश्रम को लेकर टिप्पणी करते हुए कहा कि ये जमीन गौशाला के लिए दी गई थी, वहां गौशाला ही बनना चाहिए। उन्होंने कहा कि गौशाला की जमीन पर कम्प्यूटर बाबा को लेकर जैन समाज लगातार शिकायतें करता रहा है। उन्होंने कम्प्यूटर बाबा के आश्रम से निकले सामान को लेकर भी बाबा पर निशाना साधा कि वहां पर जो खुद को फक्कड़ बोलते हैं, जो कहते हैं कि हमें इन सभी की आवाश्यकता नहीं है। उनके यहां एसी और अन्य आलीशान सामान मिला है, जो चिंता का विषय है। उन्होंने बाबा को सीख दी कि संतों को पूजा अर्चना कर धार्मिक काम करना चाहिए न कि राजनीति।
कम्प्यूटर बाबा के आश्रम पर कार्रवाई का पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह ने भी विरोध किया। सिंह ने ट्वीट करते हुए कहा कि इंदौर में बदले की भावना से कम्प्यूटर बाबा का आश्रम व मंदिर बिना नोटिस दिए तोड़ा जा रहा है। यह राजनीतिक प्रतिशोध की चरमसीमा है। मैं इसकी निंदा करता हूं।
—–
देश प्रदेश में कोरोना के मरीजों की तादाद में लगातार ही कमी आ रही है। अचानक कमी आना राहत की बात मानी जा सकती है, पर जिस तरह से अचानक ही ये कम हुए हैं, उससे अनेक संदेह भी लोगों के दिमाग में उभर रहे हैं। देश में यह आंकड़ा 85 लाख को पार कर गया है। वर्तमान में यह आंकड़ा 85 लाख 10 हजार 219 पहुंच गया है। देश में कुल एक्टिव मरीजों की तादाद से लगभग 73 लाख 55 हजार से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। देश में अब तक कुल 85 लाख 10 हजार 219 मरीजों में से सक्रिय मरीजों की तादाद 05 लाख 13 हजार 366 एवं रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 78 लाख 68 हजार 841 है, एवं जिनका निधन हुआ है उनकी संख्या 01 लाख 26 हजार 184 है। अब तक देश में कुल 11 करोड़ 77 लाख 36 हजार 791 लोगों का कोविड परीक्षण कराया जा चुका है। वहीं, मध्य प्रदेश में संक्रमित मरीजों की तादाद का आंकड़ा एक लाख 76 हजार को पार कर गया है। यहां कुल संक्रमित मरीजों की तादाद से लगभग 01 लाख 57 हजार 979 से ज्यादा लोग स्वस्थ्य हो चुके हैं। प्रदेश में आंकड़ा 01 लाख 76 हजार 468 पहुंच गया है, जिसमें एक्टिव मरीजों की तादाद 07 हजार 736, रिकव्हर्ड मरीजों की तादाद 01 लाख 65 हजार 715 एवं जिनका निधन हुआ है उनकी तादाद 03 हजार 17 है। प्रदेश में अब तक 31 लाख 20 हजार से ज्यादा लोगों का कोविड टेस्ट कराया जा चुका है।
—–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में रविवार 08 नवंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। सोमवार 09 नवंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———