सर्द हवाओं ने गिराया प्रदेश में तापमान

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में सोमवार 23 नवंबर 2020 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——-
प्रदेश में सर्द हवाओं के चलते अब तापमान में गिरावाट दर्ज की जा रही है। उत्तर की ओर से आ रही बर्फीली हवाओं से मध्य प्रदेश में भी ठिठुरन बढ़ गई है। राजधानी भोपाल सहित प्रदेशभर में पारा लगातार लुढ़क रहा है। रविवार रात प्रदेश के 17 शहरों में न्यूनतम तापमान 7 से 10 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहा।
मौसम विभाग के सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि इस बार ठंड ज्यादा पड़ेगी, क्योकि पश्चिमी विक्षोभ के लगातार आने का सिलसिला बना रहेगा। फिलहाल दक्षिणी अरब सागर में सुस्पष्ट निम्न दाब क्षेत्र अभी भी सक्रिय है, जबकि चक्रवातीय परिसंचरण अब ओडिशा में समुद्र तल से 0.9 किमी की ऊंचाई पर सक्रिय है। अद्यतन पश्चिमी विक्षोभ मध्य क्षोभ मंडल की पछुआ पवनों के बीच एक ट्रफ समुद्र तल से 3.1 किमी की ऊंचाई पर धुरी बनाते हुए सक्रिय है। साथ ही दक्षिणी बंगाल की खाड़ी, हिंद महासागर में एक निम्न दाब क्षेत्र सक्रिय हो चुका है। इससे मौसम में परिवर्तन हो रहा है। दिन में भी इसके कारण ठंडक बढ़ रही है।
——-
इस बार 25 नंवबर को देवउठनी एकादशी है। इस साल चार्तुमास के साथ अधिकमास होने से 5 महीने बाद देव बुधवार को जागेंगे तो एक बार फिर शहनाई बजेगी। बुधवार को तुलसी-सालिगराम विवाह के साथ शुरू होने वाले शुभ मुहूर्त 11 दिसंबर तक रहेंगे। इस दौरान 9 शुभ मुहूर्त हैं, जिसमें नवंबर में 3 और दिसंबर में छह हैं। इस महीने में 25 नवंबर को अबूझ मुहूर्त है। इस दिन जिसके लग्न का मुहूर्त नहीं निकल रहा हो उसका विवाह भी इस अबूझ मुहूर्त में करने से शुभ फलदायी माना जाता है।
यहां बता दें, कि शहर सहित अंचल में देव उठनी एकादशी के लिए मंदिरों में तैयारियां शुरू हो गई हैं। देव उठने के साथ ही शुभ कार्यों की शुरुआत हो जाएगी। अधिकमास और चातुर्मास के चलते पांच महीने मांगलिक कार्य पर लगी रोक हट जाएगी। देवउठनी एकादशी के दिन भगवान विष्णु की पूजा-अर्चना होगी।
पहले मुहूर्त का गणेशजी के दिन बुधवार से होगा और 11 दिसंबर को अंतिम शुभ मुहूर्त होने के बाद विवाह आदि मांगलिक कार्यों पर रोक लग जाएगी। 16 दिसंबर से मलवास (खरमास) प्रारंभ हो जाएगा। जबकि 12 से 15 दिसंबर के बीच मुहूर्त नहीं हैं। ऐसे में 25 नवंबर से 11 दिसंबर तक 16 दिन में 9 दिन ही विवाह के लिए शुभ मुहूर्त हैं। इसके बाद 24 अप्रैल 2021 को हटेगी। ऐसा ग्रहों के अस्त होने व खरमास होने के कारण होगा।
——-
राजधानी में औचक निरीक्षण पर निकले सीएम शिवराज सिंह चौहान की सुरक्षा में बड़ी लापरवाही सामने आई। घटना शहर की वीआईपी रोड की है जहां सीएम शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सीएम कमलनाथ के काफिले की गाड़ियां आपस में टकरा गईं। हादसे में कई गाड़ियां बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हुई हैं और कुछ लोगों को भी चोटें आई हैं।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का काफिला वीआईपी रोड से गुजर रहा था, तभी अचानक मुख्यमंत्री ने गाड़ी रुकवा दी। सीएम वीआईपी रोड पर लगाए गए पेड़ पौधों का निरीक्षण कर रहे थे। इसी दौरान अचानक काफिला रुकने के कारण कई वाहन आपस में टकरा गए। पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ का काफिला भी सीएम शिवराज के काफिले के पीछे आ रहा था और उनके काफिले का एक वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गया। इस दौरान कुछ मीडिया कर्मियों के वाहन भी अचानक ब्रेक लगने के कारण आपस में टकरा गए।
——-
प्रदेश में अपराध की रोकथाम करने के लिए सिटीजन सर्विलांस सिस्टम के नाम पर प्रमुख स्थान चौराहों और इलाकों में लगाए गए सीसीटीवी कैमरे पुलिस की सहायता नहीं कर पा रहे हैं। सीसीटीवी कैमरों की जो फुटेज कंट्रोल रूम में पुलिस को दिखाई देती है वह बहुत स्पष्ट नहीं है और इसमें अपराधी के चेहरे भी पहचान में नहीं आते हैं। प्रदेश के अनेक जिलों में इस तरह के हालात ही बने हुए हैं, जिसमें सीसीटीवी कैमरों में आरोपियों के चेहरे भी दिखाई नहीं दे पा रहे हैं।
कई इलाके ऐसे हैं जो ब्लाइंड स्पॉट बने हुए हैं और वहां पर किसी प्रकार का कोई सीसीटीवी कैमरा नहीं लगा है। शहर के ऐसे अनेक इलाके हैं जो ब्लाइंड स्पॉट होने की वजह से पुलिस की निगरानी से छूटे हुए हैं। यहां ना तो पुलिस के कैमरे लगे हैं और ना ही किसी आम नागरिक ने अपने कैमरे की कनेक्टिविटी पुलिस की भोपाल आई योजना के नाम पर उपलब्ध करवाई है।
सिटी सर्विलेंस सिस्टम विकसित करने के लिए मध्य प्रदेश पुलिस हेड क्वार्टर ने सभी जिलों की पुलिस को करोड़ों रुपए की राशि आवंटित की थी। पुलिस हेड क्वार्टर टेलीकॉम शाखा और जिला स्तर पर साइबर पुलिस की निगरानी में इन कैमरो की स्थापना करवाई गई थी लेकिन अब इनका कोई खास फायदा दिख नहीं रहा है।
——-
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमारा किसान दिन-रात पसीना बहाकर उत्पादन करता है परन्तु अधिक मुनाफा बिचौलिए ले जाते हैं। ऐसी बाजार व्यवस्था विकसित करें, जिससे किसानों को उनकी उपज का सही दाम मिले। सब्जियों के थोक व खुदरा मूल्य में अधिक अंतर नहीं होना चाहिए। सब्जियों के समर्थन मूल्य निर्धारित किए जाने के संबंध में रिपोर्ट तैयार की जाए।
मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में सब्जियों के दाम के संबंध में उद्यानिकी विभाग की उच्च स्तरीय बैठक ले रहे थे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि किसानों को उनकी सब्जियों आदि उपज का समुचित मूल्य दिलवाना हमारा लक्ष्य है। इसके लिए अन्य राज्यों की व्यवस्थाओं का अध्ययन कर सब्जियों के न्यूनतम समर्थन मूल्य निर्धारित किए जाने संबंधी रिपोर्ट तैयार कर उनके समक्ष 2 दिन में प्रस्तुत की जाए।
बैठक में बताया गया कि केरल आदि राज्यों में सब्जियों के न्यूनतम समर्थन मूल्य घोषित किए जाने की व्यवस्था है। केरल में इसके लिए किसानों का पंजीयन किया जा रहा है।
——-
मंदसौर जिले के सीतामऊ थाना क्षेत्र के ग्राम बेलारी में फरार इनामी बदमाश अमजद लाला के आने की सूचना पर टीआई अमित सोनी उसे पकड़ने पहुंचे थे। बेलारी गांव में इनामी बदमाश अमजद लाला को देखते ही टीआई अमित सोनी ने ललकारा और उसे पकड़ने के लिए भागे। अमजद लाला ने अपने पास मौजूद अवैध पिस्टल से टीआई पर फायर कर दिया। लेकिन थाना प्रभारी अमित सोनी की सूझबूझ से गोली उनके सीने के पास से निकल गई। बदमाश गोली चलाने के बाद मौके से फरार हो गया।
मंदसौर के पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने घटना की जानकारी मिलते ही आस पास के सभी थानों से मौके पर फोर्स भेज दिया। इस घटना में अमित सोनी को चोट लगी है। अमजद लाला सीतामऊ थाने का लिस्टेड गुंडा है उस पर पुलिस अधीक्षक सिद्धार्थ चौधरी ने इनाम घोषित कर रखा था। उस पर रतलाम और मंदसौर मिला कर करीब 15 लाख रुपए का इनाम घोषित है।
——-
नेटफ्लिक्स के वेब सीरीज ए सूटेबल बॉय को लेकर देश के हृयद प्रदेश में बवाल बढ़ता जा रहा है। सरकार भी इसे लेकर अब सख्त है। मध्य प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने साफ कर दिया है कि मंदिर में चुंबन सीन बर्दाश्त नहीं है। गृह मंत्री कार्रवाई को लेकर आज अधिकारियों के साथ अहम बैठक करेंगे। उसी में निर्णय होगा कि वेब सीरीज के निर्माता और निर्देशक के ऊपर क्या कार्रवाई की जाएगी।
गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने जानकारी दी है कि वेब सीरीज ए सूटेबल बॉय में आपत्तिजनक दृश्यों के लिए ओटीटी प्लेटफॉरम नेटफ्लिक्स के प्रबंधन से जुड़ीं मोनिका शेरगिल और अंबिका खुराना के खिलाफ रीवा के सिविल लाइंस थाने में धारा 295 ए के तहत एफआईआर दर्ज की गई है।
उन्होंने यह भी कहा है कि वेब सीरीज ए सूटेबल बॉय में कुछ भी सूटेबल नहीं है। फिल्म में मंदिर के अंदर ऐसे आपत्तिजनक दृश्य क्यों फिल्माए जाने चाहिए, जिससे किसी की भावनाएं आहत हों। ये गलत है। इस संबंध में आज गृह और विधि विभाग के अफसरों की बैठक बुलाई है। इसी बैठक में तय करेंगे कि आगे क्या कार्रवाई होगी।
——-
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जाने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——-
सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के अंतर्गत दिव्यांगों को 600 रुपए पेंशन देकर सरकार उनका मजाक बना रही है। विधायकों और सांसदों की पेंशन में लगातार बढ़ोतरी की जाती है लेकिन दिव्यांगों को दी जा रही पेंशन में कोई बढ़ोतरी नहीं होती। दिव्यांगों को छह साल की उम्र में पेंशन की पात्रता आती है, लेकिन मानसिक रूप से बीमार दिव्यांगों की परवरिश के लिए उनके जन्म से ही पैसों की जरूरत पड़ती है। देश के कई राज्य हैं जहां दिव्यांगों को 600 रुपए से ज्यादा पेंशन दी जा रही है। मप्र में भी दिव्यांगों को दी जाने वाली पेंशन की न्यूनतम राशि ढाई हजार रुपए महीना की जाना चाहिए।
यह बात उस जनहित याचिका में कही है जिस पर सोमवार को मप्र हाई कोर्ट की इंदौर खंडपीठ में सुनवाई हुई। युगलपीठ ने याचिकाकर्ता के तर्क सुनने के बाद शासन से इस संबंध में जवाब मांगा है। शासन को चार सप्ताह में अपना जवाब प्रस्तुत करना होगा। याचिका इंदौर निवासी आदित्य तिवारी ने जबलपुर के एडवोकेट आदित्य संघी के माध्यम से दायर की है। याचिका में कहा है कि एक तरफ तो सरकार कहती है कि उसकी मंशा दिव्यांगों की मदद करने की है लेकिन दूसरी तरफ दिव्यांगों को नाममात्र की पेंशन देकर उनका मजाक बनाया जा रहा है। सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के तहत दिव्यांगों को सिर्फ 600 रुपए दिए जाते हैं, लेकिन इस महंगाई में इससे ज्यादा खर्च तो पेंशन की राशि प्राप्त करने में हो जाता है। योजना के अंतर्गत छह से 18 वर्ष की आयु के दिव्यांगों को पेंशन दी जाती है, लेकिन मानसिक रूप से बीमार दिव्यांगों में ज्यादातर जन्म से ही दिव्यांग होते हैं।
——-
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में सोमवार 23 नवंबर का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 24 नवंबर को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, सब्सक्राईब कैसे करना है यह हर वीडियो के आखिरी में हम आपको बताते हैं। फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———