बोले मिर्ची बाबा, नहीं भागता तो मार डालते वे

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रृंखला में सोमवार 02 अगस्त 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन, अब आप रीना सिंह से समाचार सुनिए.
——–
प्रदेश में लगातार बारिश के बाद सोमवार को प्रदेश के 250 से अधिक गांव बाढ़ में घिर गए हैं। गुना, शिवपुरी, श्योपुर और भिंड जिलों में सबसे ज्यादा हालत खराब है। शिवपुरी और श्योपुर में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीम भेजी गई है। बाढ़ में फंसे लोगों को बचाने के लिए वायुसेना की मदद मांगी गई है। जल्द ही वायुसेना हेलीकॉप्टरों पहुंचने वाले हैं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि लोगों को बचाने के लिए वायुसेना के हेलीकाप्टर भेज दिए गए हैं। अब तक 60 से अधिक लोगों को निकाला जा चुका है। इधर, सीएम शिवराज सिंह चौहान ने शिवपुरी कलेक्टर से चर्चा कर बाढ़ की स्थिति के बारे में जानकारी ली।
इधर, श्योपुर जिले से खबर है कि कई क्षेत्रों में बाढ़ के हालात हैं। यहां पार्वती, कूनो,क्वारी और सीप नदी उफान पर होने के बाद स्थिति खराब है। क्वारी नदी के कई इलाके जलमग्न हो गए हैं। विजयपुर-टेंटरा मार्ग को जोड़ने वाला पुल पूरी तरह डूब गया है। विजयपुर बस स्टैंड की दुकानों में पानी भर गया है। खबर है कि नदी की बाढ़ में 50 लोग फंस गए हैं, जिन्होंने एक मैरिज गार्डन में शरण ले रखी है। उन्हें बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। प्रशासन मोटर बोट और टायर ट्यूब के जरिए लोगों को निकालने का काम कर रहा है।
——–
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि जहरीली शराब से लोगों की जान जाना अत्यंत गंभीर अपराध है। कानून में संशोधन कर अवैध शराब के कारोबार में लगे व्यक्तियों के लिए कठोरतम दंड का प्रावधान किया जाएगा। तात्कालिक रूप से अवैध शराब के कारोबार में संलग्न व्यक्तियों पर कठोरतम कार्यवाही की जाए। इसमें विलम्ब बर्दाश्त नहीं होगा। पड़ोसी राज्यों से लाई जा रही अवैध शराब को रोकने के लिए सघन रूप से हर संभव प्रयास किए जाएं। इसके लिए संबंधित राज्यों से बातचीत करें।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिये कि डिस्टलरी से निकलने वाले ओ.पी. अल्कोहल के टैंकरों का शत-प्रतिशत आवागमन ई-लॉक सिस्टम के साथ हो। प्रदेश की कोई भी डिस्टलरी यदि ओ.पी. अल्कोहल के अवैध परिवहन में लिप्त पाई जाती है तो उसे तत्काल बंद किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान अवैध शराब तथा कानून-व्यवस्था के संबंध में मंत्रालय में बैठक को संबोधित कर रहे थे।
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि अवैध शराब के कारोबार की जड़ों तक पहुँचने के लिए विशेष टीम गठित कर जाँच आरंभ की जाए। इसे प्रदेश से पूरी तरह से समाप्त किया जाए। बैठक में जानकारी दी गई कि शराब की बोतलों पर लगने वाले होलोग्राम की कापी नहीं हो और इसका दुरुपयोग न हो, इसके लिए सिक्यूरिटी प्रिंटिंग कार्पाेरेशन ऑफ इंडिया से क्यूआर कोड और ट्रेक एण्ड ट्रेस की व्यवस्था के साथ होलोग्राम बनवाये जाएंगे। इसमें बीस से पच्चीस सिक्यूरिटी फीचर्स होंगे। गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने बार में भी अवैध और अमानक शराब की चेकिंग की व्यवस्था की आवश्यकता बताई।
——–
कोरोना काल के बाद शुरू हुई ट्रेनों में रेलवे ने आरक्षण अनिवार्य कर दिया है। बिना आरक्षण सफर करने वालों के खिलाफ लगातार अभियान चलाकर जुर्माना लगाया जा रहा है। इससे जहां रेलवे की आय बढ़ रही है वहीं बिना टिकट सफर करने वालों पर रोक लगाने के प्रयास हो रहे हैं। बीते जुलाई माह में भी जबलपुर मंडल ने लगातार चेकिंग अभियान चलाया जिससे रेलवे को करीब 10 करोड़ रुपये की आय हुई जो मंडल के इतिहास में राजस्व वसूली का नया रिकार्ड है।
जबलपुर रेल मंडल के टिकट चेकिंग स्टाफ ने जुलाई माह में टिकट चेकिंग अभियान चलाया है। यह अभियान पूरे माह चला जिससे कि मंडल को सवा, दस करोड़ रुपये का राजस्व प्राप्त हुआ है। इस संबंध में वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक विश्वरंजन ने बताया कि मंडल के टिकट चेकिंग स्टाफ ने जुलाई माह में मंडल से गुजरने वाली सभी यात्री गाड़ियों में सघन टिकट जांच अभियान चलाया था। इस अभियान के तहत एक लाख 18 हजार यात्रियों को अनियमित टिकट अथवा बिना टिकट के यात्रा करते हुए पकड़ा गया।
इनसे 10 करोड़ 25 लाख रुपये का जुर्माना वसूल करके रेल राजस्व में जमा किया है। श्री रंजन ने बताया कि इसके पूर्व भी जून माह में मंडल के टिकट चेकिंग स्टाफ ने एक लाख 14 हजार प्रकरण बनाकर यात्रियों से 9 करोड़ 10 लाख रुपये का जुर्माना वसूल किया था। उन्होंने बताया कि जबलपुर रेल मंडल द्वारा किसी माह में 10 करोड़ से अधिक रेल राजस्व जुटाना एक बड़ी ऐतिहासिक व चुनौतीपूर्ण कार्रवाई है।
——–
मध्य प्रदेश हाई कोर्ट की न्यायमूर्ति अंजुलि पालो की एकलपीठ ने गांजा तस्करी की आरोपित जबलपुर निवासी महिला ममता पटेल की जमानत अर्जी मंजूर कर ली। आवेदक की ओर से अधिवक्ता ओमशंकर विनय पांडे व श्रीमती अंचन पांडे ने पक्ष रखा। उन्होंने दलील दी कि खमरिया पुलिस ने आवेदिका को साजिश के तहत फंसाया है। इसके पीछे दुर्भावना से इनकार नहीं किया जा सकता। वह रास्ते में खड़ी थी, जहां उसे लिफ्ट देने के नाम पर वाहन में बैठाया गया, इसी बीच उसकी वस्तुओं में गांजा रख दिया गया, जिसमें घास की मात्रा अधिक थी। इसक अलावा धारा-52 की कार्रवाई को भी पूरा नहीं किया गया।
प्रक्रिया पूर्ण किए बिना अदालत में पेश किया गया, जहां से न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया। कोरोना काल में एक महिला, जिसे फंसाया गया है, उसे अधिक समय जेल में रखना उचित नहीं होगा। हाई कोर्ट ने तर्क से सहमत होकर जमानत मंजूर कर ली।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चेनल पर रोजाना अपलोड होने वाले वीडियो जरूर देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य करवाने वालों आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 फीसदी तक सही साबित हुए हैं।
——–
कोविड की दूसरी लहर में शहर के सैकड़ों मरीजों को आक्सीजन की कमी से जूझना पड़ा था। स्थिति इस कदर बिगड़ी थी कि इंदौर में सेना के विमान से आक्सीजन टैंकर बुलवाना पड़े थे। कोविड की तीसरी लहर को देखते हुए शहर के सरकारी व निजी अस्पतालों में आक्सीजन के पुख्ता इंतजाम किए जा रहे है। ऐसे में अस्पताल में भर्ती मरीजों को अब तरल आक्सीजन टैंक पर निर्भर नहीं रहना पड़ेगा और अब अस्पतालों में लगे आक्सीजन जनरेशन प्लांट से मरीजों के उपचार में आसानी होगी है।
शहर के कुछ अस्पतालों में आक्सीजन प्लांट तैयार हो चुके है और कुछ में अभी धीमी गति से काम किया जा रहा है। शा पीसी सेठी अस्पताल में जहां मुख्मंत्री शिवराज सिंह चौहान के हाथों एक माह पहले आक्सीजन प्लांट का शुभारंभ किया गया था। यह प्लांट एक माह बाद भी अभी तक चालू नहीं हो सका है। अभी तक इसके शेड लगाने, विद्युत कनेक्शन व वार्ड से पाइप लाइन जोड़ने का काम ही पूरा नहीं हो सका है।
——–
ग्वालियर में वैराग्यानंद गिरी महाराज उर्फ मिर्ची बाबा पर रविवार देर रात 3 नकाबपोश बदमाशों ने हमला कर दिया। बदमाशों ने जड़ेरूआ आश्रम से निकलते ही उन्हें घेर लिया। पहले कार पर डंडे और पथराव किया। इस दौरान कांच लगने से मिर्ची बाबा घायल हो गए। हमलावर बाबा को निशाना बनाते, उससे पहले उन्होंने भागकर अपनी जान बचाई। हमला रविवार रात 11 बजे जड़ेरूआ आश्रम से निकलते ही हुआ।
बाबा पर हमले के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट कर लिखा कि शिवराज सरकार में साधु-संत भी सुरक्षित नहीं है। वहीं, मिर्ची बाबा ने कहा कि हमलावर कह रहे थे कि बहुत आंदोलन करता है। अब आंदोलन किया तो जान से मार देंगे। साथ ही बाबा ने ग्वालियर ैच् पर सूचना देने के बाद भी सुरक्षा न देने का आरोप लगाया है।
स्वामी वैराग्यानंद गिरी महाराज उर्फ मिर्ची बाबा को कमलनाथ सरकार में राज्यमंत्री का दर्जा प्राप्त था। मिर्ची बाबा काफी समय से ग्वालियर-चंबल अंचल में सक्रिय हैं और लगातार गायों को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे हैं। वे ग्वालियर के गोला का मंदिर स्थित जड़ेरूआ आश्रम से भी जुड़े हैं। रविवार रात को वह शिवपुरी से ग्वालियर पहुंचे। उन्होंने अपने आने की सूचना ग्वालियर एसपी अमित सांघी को दी। साथ ही सुरक्षा की मांग भी की। इसके बाद रात 11 बजे वह जडेरूआ आश्रम पहुंचे।
जब वह आश्रम से निकल रहे थे तो अचानक उनकी कार के सामने तीन नकाबपोश बदमाश आकर खड़े हो गए। बदमाशों ने बाबा को धमकी दी कि वह आश्रम ना आए और गौमाता के लिए जो आंदोलन कर रहे हैं, वह बंद कर दें। जब बाबा ने विरोध किया तो उनकी कार में तोड़फोड़ की गई। इस दौरान कार के कांच के टुकड़े लगने से वह घायल भी हो गए। हमलावर उन पर हमला करते उससे पहले उन्होंने भागकर अपनी जान बचाई। इसके बाद बाबा गोला का मंदिर थाना पहुंचे। मिर्ची बाबा का आरोप है कि दो घंटे तक बैठाए जाने के बाद पुलिस ने प्राथमिकी दर्ज की।
——–
आप सुन रहे थे रीना सिंह से समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में सोमवार 02 अगस्त 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। मंगलवार 03 अगस्त 2021 को एक बार फिर हम आडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, अगर आपको यह आडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें, फिलहाल इजाजत लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)

———