इंडोनेशिया के मुस्लिम गर्व करते हैं अपने आप को भगवान राम का वंशज मानने पर! : सीएम योगी

नमस्कार, आप सुन रहे हैं समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में बृहस्पतिवार 05 अगस्त का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन.
——–
रवि दहिया ने भारत को ओलंपिक में कुश्ती का रजत पदक दिलाया है। बृहस्पतिवार शाम को स्वर्ण पदक के लिए जारी मुकाबले में वे रुस के पहलवान को मात नहीं दे सके, लेकिन चांदी लेकर भारत लौट रहे हैं। यह भारत और रवि दहिया के लिए बड़ी उपलब्धि है। रवि दहिया ने ओलंपिक में पहली बार हिस्सा लिया था और पदक जीतकर लौट रहे हैं। भले ही रवि दहिया स्वर्ण पदक हासिल नहीं कर सके हैं, लेकिन कुश्ती में उन्होंने सुशील कुमार के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली है। 2008 के बीजिंग ओलंपिक के बाद से ही भारत लगातार कुश्ती में पदक हासिल कर रहा है। रवि दहिया ने भारत के लिये कुश्ती में दूसरा रजत जीता है, उनसे पहले 2012 के लंदन ओलंपिक के फ़ाइनल में पहुंचे पहलवान सुशील कुमार ने यह उपलब्धि हासिल की थी।
——–
कोरोना वायरस का डेल्टा वेरिएंट विश्व भर में फैलता दिख रहा है। कोरोना वायरस के डेल्टा वेरिएंट के बढ़ते मामलों को देखते हुए चीन ने नए यात्रा प्रतिबंध लगाए हैं। चीन के आधे हिस्सों में 500 से अधिक डेल्टा वेरिएंट के मामले सामने आने के बाद चीन की नींद उड़ गई है। चीन तेजी से टीकाकरण पर ध्यान देने की बजाय तेजी से पाबंदियों पर जोर दे रहा है। पूरे चीन में सबसे ज्यादा प्रभावित 144 क्षेत्रों में सार्वजनिक परिवहन और टैक्सी सेवाओं में कटौती की गई है। वहीं, बीजिंग में ट्रेन सेवा के साथ ही साथ मेट्रो पर भी अंकुश लगाया गया है।
बीजिंट में बुधवार को वायरस के तीन नए मामले सामने आए। हांगकांग ने भी यात्रियों पर फिर से क्वारंटाइन आवश्यक कर दिया है। चीनी अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को 94 नए मामलों की सूचना दी है। चीन का दावा है कि उसके यहाँ अभी तक 61 प्रतिशत जनसंख्या का टीकाकरण किया गया है। संक्रमण के ये नए मामले ऐसे कई लोगों में भी सामने आए हैं जिन्होंने कोविड-19 रोधी टीके की खुराक ले ली है।
वुहान में संक्रमण फैलने के दौरान चर्चा में आए शंघाई के डॉक्टर झांग वेनहोंग ने सोशल मीडिया पोस्ट में कहा कि संक्रमण के मामले फिर से फैल रहे हैं और वायरस से मुक्ति नहीं मिल पा रही है अतः चीन की रणनीति बदल सकती है। उन्होंने कहा, दुनिया को इस वायरस के साथ रहना सीखना होगा।
——–
मध्य प्रदेश और राजस्थान के कई क्षेत्र भारी बारिश और बाढ़ से बेहाल हैं। मध्य प्रदेश में ग्वालियर-चंबल अंचल के 1225 गाँव बाढ़ से प्रभावित हैं। लगभग दो हजार लोगों को रेस्क्यू करने में सेना, एन.डी.आर.एफ. व एस.डी.आर.एफ. के दल जुटे हुए हैं। उधर राजस्थान में भी मानसून अब कहर बनकर टूट पड़ा है। कोटा, बूंदी और धौलपुर में बाढ़ के हालात हैं। कोटा में हुई 08 इंच बारिश ने 43 वर्ष का रिकॉर्ड तोड़ दिया है। इसी तरह उत्तर प्रदेश के 09 जिलों में भी बाढ़ जैसे हालात हैं।
मध्य प्रदेश के ग्वालियर-चंबल अंचल के शिवपुरी, श्योपुर, दतिया, भिंड, मुरैना और ग्वालियर बाढ़ से बेहाल हैं। सबसे ज्यादा प्रभावित 90 गाँव शिवपुरी के हैं। रोजी-रोटी की तलाश में अब हजारों लोगों का पलायन भी आरंभ हो गया है।
बाढ़ से 02 दिन में ग्वालियर-चंबल अंचल के 06 बड़े पुल और दो दर्जन से ज्यादा पुलिया बह गई हैं। सबसे ज्यादा तीन पुल दतिया जिले के सेंवढ़ा में बहे हैं। इसके अलावा ग्वालियर-दतिया के बीच फोरलेन पर बने दो हिस्सों में से एक नए पुल में क्रेक आ गया है। शिवपुरी, श्योपुर, भिंड और दतिया में एक-एक पुल बहा है। इसके अलावा ग्वालियर- शिवपुरी और शिवपुरी-श्योपुर मार्ग क्षतिग्रस्त हो गए हैं। एक पुल की वर्तमान लागत लगभग पचास करोड़ रुपए है। इस तरह लगभग ढाई सौ से तीन सौ करोड़ के पुल और लगभग सौ करोड़ की पुलिया बह गई हैं।
——–
अनिवार्य रक्षा सेवा विधेयक, 2021 को बृहस्पतिवार को संसद की मंजूरी मिल गई जिसमें राष्ट्र की सुरक्षा एवं जन-जीवन और सम्पत्ति को सुरक्षित रखने के उद्देश्य से अनिवार्य रक्षा सेवाएं बनाये रखने का उपबंध किया गया है।
विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच राज्यसभा में इस विधेयक को ध्वनिमत से मंजूरी दी गई। लोकसभा में तीन अगस्त को पारित हो चुका यह विधेयक संबंधित अनिवार्य रक्षा सेवा अध्यादेश, 2021 का स्थान लेगा।
रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने चर्चा और पारित करने के लिए यह विधेयक उच्च सदन में पेश किया। पेगासस जासूसी विवाद, तीन केंद्रीय कृषि कानूनों और अन्य मुद्दों पर चर्चा की मांग को लेकर विपक्षी सदस्यों के हंगामे के बीच विधेयक पर संक्षिप्त चर्चा हुई।
विधेयक के उद्देश्यों एवं कारणों में कहा गया है कि देश की रक्षा तैयारियों के लिये सशस्त्र बलों को आयुध मदों की निर्बाध आपूर्ति बनाये रखना और आयुध कारखानों का बिना किसी व्यवधान के कार्य जारी रखना अनिवार्य है।
——–
राष्ट्रीय सुशासन केंद्र (एन.सी.जी.जी.) पड़ौसी देशों के नौकरशाहों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए विशिष्ट रूप से तैयार प्रशिक्षण मॉड्यूल और उनके क्रियान्वयन की दिशा में काम कर रहा है। बृहस्पतिवार को जारी एक आधिकारिक वक्तव्य में यह जानकारी दी गई।
हाल ही में, एन.सी.जी.जी. ने पड़ौसी देशों के लोक सेवकों के लिए लोक नीति एवं शासन विषय पर विभिन्न क्षमता निर्माण प्रशिक्षण कार्यक्रम किए थे। अब तक यह केंद्र बांग्लादेश, मालदीव, म्यांमार और कई अफ्रीकी देशों के लगभग 2,500 लोक सेवकों को प्रत्यक्ष (ऑफलाइन मोड में) प्रशिक्षण दे चुका है।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना की एक तस्वीर ट्वीट करके केंद्र सरकार पर तंज कसा है। राकेश टिकैत ने अनाज से भरी बोरी की तस्वीर शेयर करके लिखा, मोदी-योगी का तो बस थैला है, इसके अन्दर अनाज तो किसान ने भरा है। राकेश टिकैत का कहना है कि वे शुक्रवार को लखनऊ जा रहे हैं। टिकैत ने कहा कि मिशन यूपी को लेकर किसान पूरे सूबे में जाएंगे। उन्होंने कहा कि यदि किसानों को छेड़ा गया तो बाकी किसान भी तैयार बैठे हैं। टिकैत कहने लगे कि उत्तर प्रदेश में अबकी बार आर-पार की लड़ाई है।
किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि दिल्ली की सीमा पर चल रहा किसान आंदोलन अब तक का सबसे बड़ा आंदोलन है। यह आंदोलन तब तक चलेगा जब तक या तो यह सरकार है या जब तक किसान है। टिकैत ने इस आरोप को खारिज किया कि जहाँ चुनाव हैं किसान नेता वहीं जा रहे हैं । राकेश टिकैत ने कहा कि हम पूरे देश में जा रहे हैं।
——–
राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के प्रमुख सलाहकार के पद से स्तीफा दे दिया है। उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम लिखी चिट्ठी में सार्वजनिक जीवन से अस्थायी ब्रेक लेने के निर्णय का उल्लेख किया और कहा कि उन्हें अभी भी अपने आगे के कदमों पर विचार करना है।
बताया गया है कि प्रशांत किशोर ने चिट्ठी में कैप्टन से स्वयं को कार्यमुक्त करने की अपील करते हुए कहा है कि उन्होंने कभी सलाहकार के पद का प्रभार लिया ही नहीं। उन्होंने आगे लिखा, चूंकि मुझे अभी अपने भविष्य के कार्य के बारे में निर्णय लेना है, इसलिए मैं आपसे अनुरोध करता हूं कि मुझे इस जिम्मेदारी से मुक्त करें।
——–
उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को कहा कि भारत में हर कोई भगवान राम का वंशज है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जो यह नहीं मानता, उनका डी.एन.ए. ही संदेहास्पद है। योगी आदित्यनाथ ने अपनी दो दिवसीय यात्रा के दौरान गोरखपुर में यह टिप्पणी की।
अयोध्या में रामलीला के दौरान इंडोनेशिया के मुस्लिम कलाकारों के साथ अपनी बातचीत को याद करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कलाकारों के नाम संस्कृत भाषा से थे। इसके पीछे का कारण पूछते हुए, आदित्यनाथ ने कहा कि कलाकारों ने उनसे कहा कि वे इस्लाम को मानते हैं और उसका पालन करते हैं, लेकिन भगवान राम उनके पूर्वज हैं। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि जब विदेशी मुस्लिम कलाकार स्वयं को भगवान राम का वंशज कहने में गर्व महसूस करते हैं, तो भारत में लोग क्यों इस बात को मानने से इन्कार करते हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, हमें इस बात पर गर्व होना चाहिए कि राम हमारे पूर्वज थे। यदि इंडोनेशिया इस पर गर्व महसूस कर सकता है, तो हमें क्या रोक रहा है।
———
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में शरद खरे से बृहस्पतिवार 05 अगस्त का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन। शुक्रवार 06 अगस्त को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, नमस्कार।
(साई फीचर्स)