ब्राडगेज संघर्ष समिति की बैठक 27 को

बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में काम को गति देने, सिवनी में अंडरब्रिज बनाने, भोमा से चौरई तक के रेलखण्ड को जल्द बनाने की होगी मांग
(ब्यूरो कार्यालय)
सिवनी (साई)। सिवनी जिले में भोमा से सिवनी होकर चौरई रेलखण्ड के अमान परिर्वतन सहित सिवनी जिले में रेल्वे की अनेक समस्याओं को लेकर रेल्वे संघर्ष समिति सिवनी के तत्वावधान में एक विशाल आंदोलन की रूपरेखा तैयार की जा रही है। शुक्रवार को ब्राडगेज संघर्ष समिति के बेनर तले रैली, सभा का आयोजन किया गया है।
ब्राडगेज संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप सिंह बैस ने बताया कि 27 अगस्त को रेल विभाग को दिए गए सात दिनों के अल्टीमेटम की अवधि समाप्त हो रही है जिसमें रेल विभाग द्वारा मंडला से सभी दिशाओं में,बालाघाट से सभी दिशाओं में लोकल ट्रेनें प्रारंभ करने की घोषणा नहीं की है साथ ही बालाघाट संसदीय क्षेत्र के सिवनी जिले के हिस्से में भोमा से सिवनी होकर चौरई तक के हिस्से में अमान परिवर्तन के काम में अनावश्यक विलंब कारित करने, पटरी डालने में हीला हवाला करने, भुरकल खापा क्षेत्र में उद्योग विभाग की जमीन, चरवाहों, ग्रामीणों आदि को पटरी पार करने की सुविधा नहीं प्रदाय करने, सिवनी शहर में बरघाट नाका, नागपुर नाका, छिंदवाड़ा नाका पर अंडर ब्रिज या ओव्हर ब्रिज का निर्माण नहीं करने, नैनपुर से केवलारी, भोमा, सिवनी होकर चौरई तक के हिस्से के विद्युतीकरण, सिवनी में यार्ड बनाने में विलंब आदि महत्वपूर्ण समस्याओं को लेकर सभा, रैली निकाली जाकर ज्ञापन सौंपा जाएगा। बालाघाट के सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन के द्वारा जून 2021 की समय सीमा एवं रेल्वे के द्वारा अगस्त 2021 की समय सीमा तय किए जाने के बाद भी काम पिछड़ने पर अधिकारियों की वेतनवृद्धि रोकने, ठेकेदार पर जुर्माना लगाने, काम को समय सीमा में पूरा कराने की मांग को लेकर रेल मंत्री, रेल्वे बोर्ड, जीएम बिलासपुर, डीआरएम नागपुर को ज्ञापन सौंपा जाएगा।
ब्राडगेज संघर्ष समिति के जिला संयोजक सुहेल अल्वी ने बताया कि इस रैली में महाकौशल के बालाघाट, मण्डला, छिंदवाड़ा, डिंडोरी, जबलपुर, सिवनी आदि अंचल के सर्वदलीय नेता, सामाजिक नेता, यूनियन के नेताओं सहित जनसामान्य की भागीदारी रहेगी।
उन्होंने बताया कि शुक्रवार 27 अगस्त को दोपहर दो बजे जिला मुख्यालय सिवनी में छिंदवाड़ा रोड पर बायपास के आगे स्थित बैनगंगा लान में बैठक रखी गई है। बैठक के उपरांत रैली रेलवे स्टेशन तक जाएगी जहां रेल अधिकारियों को ज्ञापन सौंपा जाएगा। उसके पश्चात रैली कलेक्ट्रेट में पहुंचेगी, जहां ज्ञापन सौंपा जाएगा।