सरकार बदलने पर राजद्रोह के मामले दायर करना परेशान करने वाली प्रवृत्ति : शीर्ष अदालत

नमस्कार, ये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया है। अब आप साई न्यूज की समाचार श्रंखला में सुनिये बृहस्पतिवार 26 अगस्त का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन.
——–
विश्व स्वास्थ्य संगठन की ओर से कोरोना वायरस की उत्पत्ति का पता लगाने के लिये चीन भेजे गये अंर्तराष्ट्रीय वैज्ञानिकों ने कहा है कि तलाश रुक गयी है। उन्होंने चेतावनी दी कि इस रहस्य पर से पर्दा उठाने के रास्ते तेजी से बंद हो रहे हैं। उन्होंने बताया कि अन्य बातों के साथ चीनी अधिकारी अब भी मरीजों की गोपनीयता का हवाला देते हुए कुछ आंकड़े देने को अनिच्छुक हैं। वहीं, भारत में एक बार फिर कोरोना का संक्रमण फन उठाता दिख रहा है। स्वास्थ्य मंत्रालय के अनुसार, देश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोरोना के 46 हजार 164 नए मामले सामने आये हैं और 607 लोगों की मौत हुई है। हालांकि इस दौरान 34 हजार 159 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त भी हुए हैं।
केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने कहा कि केरल में 01 लाख से ज्यादा सक्रिय मामले हैं। महाराष्ट्र, कर्नाटक, तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश में 10 हजार से 01 लाख सक्रिय मामले हैं। केरल में 51 प्रतिशत, महाराष्ट्र में 16 प्रतिशत और बाकी तीन राज्यों में देश के 04 से 05 प्रतिशत मामले हैं।
——–
प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने यूनिटेक के पूर्व निदेशकों को लेकर सुप्रीम कोर्ट में आश्चर्यजनक खुलासा किया है। एजेंसी ने बृहस्पतिवार को बताया कि उसने एक गुप्त भूमिगत कार्यालय का पता लगाया है जिसका संचालन पूर्ववर्ती यूनिटेक संस्थापक रमेश चंद्रा द्वारा किया जा रहा है। उनके बेटों- संजय चंद्रा और अजय चंद्रा ने पैरोल या जमानत पर रहने के दौरान इसका दौरा किया।
चंद्रा पिता-पुत्र और यूनिटेक के विरूद्ध मनी लॉन्ड्रिंग के आरोपों की जांच कर रही ईडी ने कहा कि संजय और अजय दोनों ने समूची न्यायिक हिरासत को निरर्थक कर दिया क्योंकि वे जेल के भीतर से खुलेआम अपने अधिकारियों से संपर्क करते रहे हैं उन्हें निर्देश देते रहे हैं और अपनी संपत्तियों से संबंधित मामले निपटाते रहे हैं।
न्यायमूर्ति डी.वाई. चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति एम.आर. शाह की पीठ को ईडी की ओर से पेश हुईं अतिरिक्त सॉलिसिटर जनरल माधवी दीवान ने बताया कि चंद्रा पिता-पुत्र ने अपने निर्देश बाहरी दुनिया तक पहुँचाने के लिये जेल के बाहर अपने अधिकारियों की नियुक्ति कर रखी है।
——–
सुप्रीम कोर्ट ने एक निलंबित आईपीएस अधिकारी को गिरफ्तारी से संरक्षण देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि सरकार बदलने पर राजद्रोह के मामले दायर करना एक परेशान करने वाली प्रवृत्ति है। अधिकारी के विरूद्ध छत्तीसगढ़ सरकार ने राजद्रोह और आय के ज्ञात स्त्रोतों से अधिक संपत्ति अर्जित करने के दो आपराधिक मामले दर्ज कराये थे। चीफ जस्टिस एन.वी. रमण और जस्टिस सूर्यकांत की बेंच ने राज्य पुलिस को इन मामलों में अपने निलंबित वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी गुरजिंदर पाल को गिरफ्तार नहीं करने का निर्देश दिया है। पीठ ने सिंह को जांच में एजेंसियों के साथ सहयोग करने के भी निर्देश दिये।
बेंच ने कहा, देश में यह बहुत परेशान करने वाली प्रवृत्ति है और पुलिस विभाग भी इसके लिये जिम्मेदार है। जब कोई राजनीतिक पार्टी सत्ता में होती है तो पुलिस अधिकारी उस (सत्तारूढ़) पार्टी का पक्ष लेते हैं। फिर जब कोई दूसरी नयी पार्टी सत्ता में आती है तो सरकार पुलिस अधिकारियों के विरूद्ध कार्यवाही करती है। इसे रोकने की आवश्यकता है।
——–
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज से चार दिवसीय दौरे पर उत्तर प्रदेश गये हुए हैं। रामनाथ कोविंद 26 अगस्त को विशेष विमान के जरिये दिल्ली से लखनऊ के चौधरी चरण सिंह हवाई अड्डे पर उतरेंगे, जहाँ से वे बाबा भीमराव अंबेडकर यूनिवर्सिटी के दीक्षांत समारोह में शामिल होंगे। इसके अलावा वे राजधानी लखनऊ, गोरखपुर और अयोध्या में विभिन्न कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे।
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के दौरे का मुख्य आकर्षण रविवार की ट्रेन यात्रा होगी जिससे वे अयोध्या जायेंगे और रामलला के दर्शन करेंगे।
——–
जरा सोचिए कि कभी आपको पता चले कि आप सड़क किनारे जिस व्यक्ति से सब्जी खरीद रहे हैं वो भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) का अधिकारी है तो आप कैसा महसूस करेंगे। उत्तर प्रदेश के एक आईएएस की ऐसी ही तस्वीरें इस समय सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रही हैं।
तस्वीरों में दिख रहा है कि दुकान पर टमाटर, तरोई, बैगन, लौकी, धनिया और मिर्ची सहित कई सब्जियां रखी हुई हैं। एक तस्वीर में वे कोई सब्जी, उठाकर ग्राहक को देते हुए दिखायी दे रहे हैं। एक तस्वीर में थोड़ी दूरी पर रखा उनका जूता भी नज़र आ रहा है। ये तस्वीरें उन्हों ने खुद फेसबुक पोस्ट पर साझा कीं तो देखते ही देखते इसे लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया। इन पर खूब लाइक और कमेंट्स मिलने लगे। तस्वीरें सोशल मीडिया में वायरल होने के कुछ समय बाद उन्होंने इन्हें अपनी फेसबुक पोस्ट से डिलीट कर दिया। हालांकि तब तक ये तस्वीरें काफी लोगों तक पहुँच चुकी थीं।
वे लिखते हैं कि वे कल सरकारी कार्य से प्रयागराज गये थे। वापस आते समय एक स्थान पर सब्ज़ी देखने के लिये रुके! सब्ज़ी विक्रेता एक वृद्ध महिला थी जिसने उनसे अनुरोध किया कि वे उसकी सब्ज़ी पर नज़र रखें वो एक पल में आती है, सम्भवतः उसका बच्चा दूर चला गया था। वे दुकान पर बैठे, इसी बीच ग्राहक आ गये तो वे सब्जी देने लगे। उनके एक मित्र ने मजाक में यह फोटो खींच ली और सोशल मीडिया पर डाल दी।
——–
राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं में होने वाली अनावश्यक देरी की रोकथाम के लिये सरकार ने नीतिगत बदलाव किया है। इसके तहत राजमार्ग परियोजनाओं में बदलाव (स्कोप ऑफ चेंज) के लिये सैद्धांतिक मंजूरी की रिपोर्ट अधिकतम छः महीने में सौंपने का प्रावधान किया गया है। यही नहीं, कंसल्टेंट, एथॉरिटी इंजीनियर, प्रोजेक्ट डायरेक्टर को सभी वर्तमान परियोजनाओं की रिपोर्ट 31 अगस्त तक देने का अल्टीमेटम दिया गया है। इसमें देरी होने की स्थिति में उन पर दंडात्मक कार्यवाही की जायेगी।
भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने 24 अगस्त को एक पॉलिसी सर्कुलर जारी किया है। इसमें उल्लेख है कि कंसल्टेंट-एथॉरिटी इंजीनियर कई बार राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं में बदलाव करने का प्रस्ताव एनएचएआई के पास भेजते हैं। लेकिन एनएचएआई के अधिकारी इस पर कोई निर्णय लिये बिना वापस कर देते हैं। सर्कुलर में स्पष्ट किया गया है कि कई मामलों में देखा गया है कि जो राजमार्ग परियोजनाएं देरी से चल रही हैं, उनके ठेकेदार को जुर्माने से बचाने के लिये यह हथकंडा अपनाया जाता है।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिये फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किये गये हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
काँग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक बार फिर से मोदी सरकार पर हमला बोला है और लोगों से कहा है कि कोरोना से स्वयं अपना ख्याल रखिए, क्योंकि सरकार बेचने में व्यस्त है। काँग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में कोविड-19 महामारी के मामलों में बढ़ौत्तरी को चिंताजनक करार देते हुए बृहस्पतिवार को कहा कि टीकाकरण की गति तेज करने की आवश्यकता है ताकि अगली लहर में महामारी के गंभीर प्रभाव से बचा जा सके।
राहुल गांधी ने लोगों से सावधानी बरतने की अपील की और राष्ट्रीय मौद्रिकरण पाइपलाइन (एनएमपी) का परोक्ष रूप से हवाला देते हुए यह आरोप लगाया कि केंद्र सरकार इस समय बेचने में लगी हुई है।
——–
पंजाब काँग्रेस की कप्तानी मिलने के बाद से ही फ्रंटफुट पर बैटिंग कर रहे नवजोत सिंह सिद्धू को सलाहकारों को लेकर काँग्रेस नेत्तृत्व की ओर से अल्टीमेटम मिला है। सीनियर काँग्रेस नेता और पंजाब काँग्रेस प्रभारी हरीश रावत ने कहा है कि नवजोत सिंह सिद्धू को अपने सलाहकारों को बर्खास्त कर देना चाहिये और यदि वे ऐसा करने में विफल रहते हैं, तो फिर पार्टी करेगी। हरीश रावत की यह फटकार, कैप्टन को आउट करने के प्रयास में जुटे नवजोत सिंह खेमे के लिये किसी बड़े झटके से कम नहीं है।
——–
अफगानिस्तान से बाहर आने के लिये काबुल हवाई अड्डे पर जमा हो रहे लोगों के लिये हालात बदतर होते जा रहे हैं। खौफ तो है ही और खाने-पीने के सामानों के दाम भी बेतहाशा बढ़ रहे हैं। आलम ये है कि पानी की बोतल 40 डॉलर, यानी लगभग 03 हजार रूपये और एक प्लेट चावल के लिये 100 डॉलर, यानी लगभग साढ़े सात हजार रूपये चुकाने पड़ रहे हैं।
रिपोटर््स के अनुसार, इस महंगाई के चलते वहाँ जमा हजारों लोगों के लिये स्थितियां बहुत मुश्किल होती जा रही हैं। परेशानी की बात ये भी है कि खाने-पीने की चीजों का दाम लोगों से अफगानी करेंसी में नहीं लिया जा रहा है। इसके लिये उन्हें डॉलर ही देने पड़ रहे हैं। काबुल हवाई अड्डे के बाहर के कुछ फुटेज भी सामने आ रहे हैं। इसमें लोग घुटने तक पानी और कचरे में खड़े दिख रहे हैं।
———
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में शरद खरे से बृहस्पतिवार 26 अगस्त का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन। शुक्रवार 27 अगस्त को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, जय हिन्द।
(साई फीचर्स)