कोरोना : मृत्यु प्रमाण पत्र मामले में विलंब पर सुको ने जताई नाखुशी!

नमस्कार, ये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया है। अब आप साई न्यूज की समाचार श्रंखला में सुनिये शुक्रवार 03 सितंबर का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन.
——–
देश में कोरोना संक्रमण की रफ्तार थमती नहीं दिख रही है। लगातार तीसरे दिन 40 हजार से ज्यादा कोरोना के नए मामले सामने आए हैं। सरकारी वेब साईट के अनुसार, बीते 24 घंटों के दौरान कोरोना के 45,624 नए मामले सामने आए हैं और 355 लोगों की मौत हुई है। सरकार ने कहा कि भारत में कोविड-19 के डेल्टा प्लस वेरिएंट के लगभग 300 मामले मिले हैं और टीका इस स्वरूप के विरूद्ध प्रभावी पाया गया है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद के महानिदेशक बलराम भार्गव ने प्रेस ब्रीफिंग में एक सवाल के जवाब में कहा कि डेल्टा प्लस स्वरूप के विरूद्ध टीके की प्रभावशीलता की जांच की गई है।
——–
दिल्ली पुलिस ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि 13 वर्ष की गायब हुई लड़की को कोलकाता से बरामद कर लिया गया है। आरोपी भी उसकी गिरफ्त में है। गोरखपुर से दो महीने पहले किडनैप हुई लड़की के मामले की छानबीन सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश पुलिस से लेकर दिल्ली पुलिस को सौंपी थी। दिल्ली में रहने वाली लड़की की माँ ने सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर कहा था कि उनकी बेटी गायब हुई है। उन्हें अंदेशा है कि उसे सेक्स ट्रेड में लगाया जा सकता है। सुप्रीम कोर्ट ने इस दौरान टिप्पणी में कहा कि इसमें उत्तर प्रदेश पुलिस का रवैया दिखता है।
——–
कोविड-19 के कारण जान गंवाने वाले लोगों के परिवार को मृत्यु प्रमाण पत्र जारी करने के लिए दिशानिर्देश तय करने में विलंब पर उच्चतम न्यायालय ने नाखुशी जताई है।
न्यायमूर्ति एम.आर. शाह और न्यायमूर्ति अनिरूद्ध बोस की पीठ ने कहा, हमने काफी पहले आदेश पारित किया था। हम एक बार समय अवधि में विस्तार कर चुके हैं। जब तक आप दिशानिर्देश बनाएंगे तब तक तीसरा चरण भी समाप्त हो जाएगा। याचिका दायर करने वाले वकील गौरव बंसल ने कहा कि विचाराधीन होने का बहाना करके चीजों में विलंब नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि शीर्ष अदालत 16 अगस्त को केंद्र को चार हफ्ते के समय का विस्तार दे चुकी है ताकि मुआवजे के भुगतान के लिए दिशानिर्देश बनाया जा सके लेकिन केंद्र सरकार अब और वक्त मांग रही है।
कुछ याचिकाकर्ताओं की तरफ से पेश हुए वकील समीर सोढ़ी ने कहा कि 30 जून को पारित पहले निर्देश का समय आठ सितंबर को समाप्त हो रहा है। पीठ ने कहा कि यह केंद्र सरकार पर निर्भर करता है कि वह उस समय अवधि के अंदर मुआवजे पर निर्णय करे और आज वह मामले को अन्य निर्देशों के अनुपालन के उद्देश्य से स्थगित कर रही है।
पीठ ने कहा कि 13 सितंबर का समय तय कीजिए क्योंकि सोलीसीटर जनरल ने 30 जून 2021 को दिये गए अन्य निर्देशों के अनुपालन के लिए समय मांगा है और अनुपालन रिपोर्ट 11 सितंबर या उससे पहले रजिस्ट्री के पास जमा करायी जाए।
——–
तालिबान के शासन तले अफगानिस्तान की भूमि का उपयोग भारत के विरूद्ध आतंकवादी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए किए जाने की आशंका के बीच समूह ने कहा है कि उसे कश्मीर सहित हर कहीं मुस्लिमों के पक्ष में बोलने का अधिकार है। हालांकि उसने कहा कि उसकी किसी भी देश के विरूद्ध सशस्त्र अभियानों को अंजाम देने की नीति नहीं है। दोहा में तालिबान के राजनीतिक कार्यालय के प्रवक्ता सुहैल शाहीन ने बृहस्पतिवार को वीडियो लिंक के जरिए बीबीसी को दिए विशेष साक्षात्कार में कहा, हम आवाज उठाएंगे और कहेंगे कि मुस्लिम आपके अपने लोग हैं, आपके अपने नागरिक और उन्हें आपके कानून के तहत समान अधिकार मिलने चाहिए। शाहीन ने कहा कि मुस्लिम होने के नाते यह समूह का अधिकार है कि वह कश्मीर तथा किसी भी अन्य देश में रह रहे मुस्लिमों के लिए आवाज उठाए।
——–
इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने बुधवार को एक निर्णय में कहा कि वैज्ञानिक मानते हैं कि गाय ही एकमात्र पशु है जो ऑक्सीजन लेती और छोड़ती है तथा गाय के दूध, उससे तैयार दही तथा घी, उसके मूत्र और गोबर से तैयार पंचगव्य कई असाध्य रोगों में लाभकारी है। न्यायमूर्ति शेखर कुमार यादव ने याचिकाकर्ता जावेद की जमानत याचिका खारिज करते हुए यह टिप्पणी की। जावेद पर आरोप है कि उसने अपने साथियों के साथ मिलकर वादी खिलेंद्र सिंह की गाय चुराई और उसका वध किया।
अदालत ने अपने निर्णय में कहा, हिंदू धर्म के अनुसार, गाय में 33 कोटि देवी देवताओं का वास है। ऋग्वेद में गाय को अघन्या, यजुर्वेद में गौर अनुपमेय और अथर्वेद में संपत्तियों का घर कहा गया है। भगवान कृष्ण को सारा ज्ञान गौचरणों से ही प्राप्त हुआ। अदालत ने कहा, ईसा मसीह ने एक गाय या बैल को मारना मनुष्य को मारने के समान बताया है। बाल गंगाधर तिलक ने कहा था कि चाहे मुझे मार डालो, लेकिन गाय पर हाथ न उठाओ। पंडित मदन मोहन मालवीय ने संपूर्ण गो हत्या का निषेध करने की वकालत की थी। भगवान बुद्ध गायों को मनुष्य का मित्र बताते हैं. वहीं जैनियों ने गाय को स्वर्ग कहा है।
कोर्ट ने कहा, भारतीय संविधान के निर्माण के समय संविधान सभा के कई सदस्यों ने गोरक्षा को मौलिक अधिकारों के रूप में शामिल करने की बात कही थी। हिन्दु सदियों से गाय की पूजा करते आ रहे हैं। यह बात गैर हिन्दु भी समझते हैं और यही कारण है कि गैर हिन्दु नेताओं ने मुगलकाल में हिन्दु भावनाओं की कद्र करते हुए गोवध का पुरजोर विरोध किया था।
——–
इंडो तिब्बत बॉर्डर पुलिस (आईटीबीपी) में काफी लंबे अरसे से सेवाएं दे रहे तीन स्निफर डॉग्स के हुनर की परीक्षा अब नक्सल प्रभावित छत्तीसगढ़ के बस्तर अंचल में होगी। पुलिस सूत्रों के अनुसार रूबी, माया और बॉबी नाम के ये स्निफर डॉग्स अब तक अफगानिस्तान में आईटीबीपी के कमांडोज के साथ तैनात थे। वहां पर हाल के घटनाक्रमों के चलते कमांडोज और स्निफर डॉग्स का पूरा दल भारत लौट आया है। इन्हीं में से तीन स्निफर डॉग्स की तैनाती बस्तर अंचल में करने का निर्णय लिया गया है और ये शीघ्र ही यहां पहुंच जाएंगे। सूत्रों ने कहा कि विशेष प्रशिक्षण प्राप्त ये स्निफर डॉग्स विस्फोटक सामग्री आदि की पहचान में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।
——–
समाचारों के बीच में हम आपको यह जानकारी भी दे दें कि मौसम के अपडेट जानने के लिए समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के चैनल पर प्रतिदिन अपलोड होने वाले वीडियो अवश्य देखें। मौसम से संबंधित अपडेट मूलतः किसानों, निर्माण कार्य, यात्रा या समारोह आदि के लिए फायदेमंद साबित हो सकते हैं। समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया के द्वारा अब तक मौसम के जो पूर्वानुमान जारी किए गए हैं, वे 95 से 99 प्रतिशत तक सही साबित हुए हैं।
——–
देश में कोरोना से सबसे ज्यादा प्रभावित राज्य केरल में सरकार शालाओं को खोलने पर विचार कर रही है। प्रत्येक दिन राज्य में 30 हजार से ज्यादा नए केस मिल रहे हैं, लेकिन इस बीच बुधवार को हुई एक मीटिंग में पिनराई विजयन को एक्सपटर््स ने सुझाव दिया कि यह समय शालाओं को खोलने का है। बृहस्पतिवार को भी राज्य में 32,097 नए केस मिले हैं और 188 लोगों की मौत हो गई है। केरल देश का अकेला ऐसा राज्य नहीं है, जहां शालाओं को खोलने पर विचार हो रहा है।
उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने शालाओं को 01 सितंबर से खोल दिया है। दो पाली में शालाओं को खोला जा रहा है। राजधानी दिल्ली में 9वीं से 12वीं तक के बच्चों के लिए 01 सितंबर से कक्षाएं आरंभ हुई हैं। नियम तय किया गया है कि कक्षा में एक समय में कुल क्षमता के 50 प्रतिशत बच्चे ही रहेंगे। मध्य प्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार ने मध्य प्रदेश में भी 01 सितंबर से 9वीं से 12वीं तक के बच्चों के लिए शालाएं खोल दी हैं।
——–
दिल्ली विधानसभा में बृहस्पतिवार को एक सुरंगनुमा ढांचा खोजा गया है। विधानसभा के स्पीकर राम निवास गोयल ने कहा कि यह सुरंग विधानसभा को लालकिले से जोड़ती है। उन्होंने बताया कि ब्रिटिशर्स स्वतंत्रता सेनानियों को एक से दूसरे स्थान पर ले जाने के लिये इसका उपयोग करते थे।
गोयल ने यह भी कहा- जब मैं 1993 में विधायक बना, तो ऐसी बातें सुनता था कि यहां सुरंग मौजूद है जो लाल किले तक जाती है। मैंने भी इतिहास जानने के लिए इस सुरंग को खोजने की कोशिश की, लेकिन इसे लेकर कभी कुछ साफ नहीं हुआ। अब हमें इस सुरंग का प्रवेश द्वार मिल गया है, लेकिन हम इसे आगे नहीं खोद रहे हैं। मुमकिन है कि सुरंग के आगे का रास्ता मेट्रो प्रोजेक्ट और सीवर इंस्टॉल करने में नष्ट हो गया हो।
गोयल ने कहा कि जब देश की राजधानी कोलकाता से दिल्ली लाई गई तो, दिल्ली विधानसभा केंद्रीय विधानसभा के तौर पर इस्तेमाल की जाती थी। 1926 में इसे कोर्ट में तब्दील कर दिया गया और इस सुरंग के जरिए अंग्रेज स्वतंत्रता सेनानियों को कोर्ट तक लेकर आते थे।
——–
नीतीश कुमार की पार्टी जनता दल यूनाइटेड के विधायक गोपाल मंडल की एक शर्मसार करने वाली हरकत सामने आई है। वे बृहस्पतिवार रात पटना (राजेन्द्र नगर) से नई दिल्ली जा रही 02309 तेजस राजधानी एक्सप्रेस में सफर कर रहे थे। इस दौरान वे ट्रेन में सिर्फ बनियान और अंडरवियर में टहलते दिखे। यात्रियों ने कड़ी आपत्ति जताई तो उनसे गाली-गलौज करने लगे।
विधायक ने चलती ट्रेन में खूब हंगामा किया। यात्रियों की शिकायत पर ट्रेन में एस्कॉर्ट कर रही आरपीएफ की टीम मौके पर पहुंची। समझाने के बाद विधायक अपने ए-1 कोच के कूपे में चले गए। वहीं दिल्ली में यात्री की शिकायत पर विधायक गोपाल मंडल पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है।
———
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज की समाचार श्रंखला में शरद खरे से शुक्रवार 03 सितंबर का राष्ट्रीय ऑडियो बुलेटिन। रविवार 05 सितंबर को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर उपस्थित होंगे, आपको ये ऑडियो बुलेटिन यदि पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब अवश्य करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, जय हिन्द।
(साई फीचर्स)