सात साल से मौन अचानक सुस्सुप्तावस्था से जागी कांग्रेस! : आम आदमी पार्टी

लगातार मौन रहने का जनता को दें जवाब, फिर करें किसी से प्रतिप्रश्न, जनता भाजपा से भी चाह रही जवाब : याहया आरिफ
(ब्यूरो कार्यालय)
सिवनी (साई)। पांच साल तक विपक्ष में नगर पालिका की कुल स्ट्रेंथ से आधे पार्षद वाली पालिका में लगभग दो दशकों से अधिक समय से विपक्ष में बैठने वाली कांग्रेस पार्टी के द्वारा नगर पालिका परिषद के भंग होने के लगभग दो साल बाद भाजपा के नेतृत्व वाली परिषद पर पार्षदों के द्वारा पारित प्रस्तावों के अनुरूप काम न करने के की बात कांग्रेस के प्रवक्ता के जरिए कांग्रेस के द्वारा कहा जाना हास्यास्पद ही है।
उक्ताशय की बात आम आदमी पार्टी के जिला संगठन मंत्री और संगठन सचिव एवं वरिष्ठ अधिवक्ता याहया आरिफ कुरैशी के द्वारा जारी विज्ञप्ति में कहीं गई है। याहया आरिफ कुरैशी ने आगे कहा कि पांच साल तक परिषद में कुल क्षमता से आधे पार्षद रखने वाली कांग्रेस पार्टी के द्वारा पांच साल तो भाजपा शासित नगर पालिका परिषद के कामों का विरोध न करते हुए भाजपा के द्वारा किए जाने वाले अनैतिक कामोें में भागीदार बनी रही।
उन्होंने कहा कि शहर के मामलों को लेकर कांग्रेस पार्टी के द्वारा अंतिम आंदोलन लगभग एक दशक पहले नेशनल लॉन के नाले को लेकर किया गया था। उसके बाद स्थानीय मामलों को लेकर कांग्रेस पूरी तरह मौन ही रही। 30 लाख रूपए की लागत से लगे यातायात सिग्नल लगभग नौ सालों से बंद पड़े हुए हैं, पर कांग्रेस ने इस ज्वलंत मुद्दे पर आवाज उठाना मुनासिब नहीं समझा। ये सिग्नल किसी पार्टी के पैसों की खैरात से नहीं वरन जनता के गाढ़े पसीने की कमाई से खरीदकर लगाए गए थे।
इसके साथ ही माडल रोड का काम आज भी पूरा नहीं हो पाया है। यहां तक कि माडल रोड पर सर्किट हाऊस के बाजू वाले हिस्से में जिस तरह की सड़क बनाई गई है उस पर वाहन चलाने वाला ऐसा ही प्रतीत होता है मानो शराब के नशे में हो। इस मामले में भी कांग्रेस पार्टी, उसके जिला, नगर अध्यक्ष सहित प्रवक्ता पूरी तरह खामोश ही रहे।
और तो और नवीन जलावर्धन योजना जब भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रही थी, उस समय भी नगर पालिका में विपक्ष में बैठी कांग्रेस के द्वारा किसी तरह की आवाज न उठाया जाना आश्चर्य का ही विषय माना जा सकता है। कांग्रेस के पार्षद दिल पर हाथ रखकर बता दें कि उनके वार्ड में नगर पालिका के द्वारा कीटनाशक, रसायन आदि का छिड़काव कब कब कराया गया! कब कब उनके घरों के नलों ने साफ पानी उगला! इसके बाद भी वे आखिर मौन क्यों रहे यह अपने आप में एक बहुत बड़ा सवाल है।
आम आदमी पार्टी के जिला संगठन मंत्री और संगठन सचिव एवं वरिष्ठ अधिवक्ता याहया आरिफ कुरैशी ने कहा कि इन सारे प्रश्नों के जवाब जनता कांग्रेस पार्टी से तो चाह ही रही है जो सात सालों तक खामोश रहने के बाद अब आवाज बुलंद कर रही है। इसके साथ ही साथ जनता आने वाले चुनावों में यही बात भारतीय जनता पार्टी से भी जानना जरूर चाहेगी।
ज्ञातव्य है कि कांग्रेस के प्रवक्ता के द्वारा जारी विज्ञप्ति के अनुसार सवनी नगर पालिका में वर्षो पहले दलसागर तालाब में दलपत शाह जी की प्रतिमा लगाने व सिवनी नगरपालिका अंतर्गत कचहरी चौक, बाहुबली चौक, सोमवारी चौक, बुधवारी बाजार, छिन्दवाड़ा चौक, डूण्डासिवनी चौक, दलसागर तालाब के बाजू में शौचालय बनाने के प्रस्ताव, नगर के विभिन्न क्षेत्रों में गार्डन का निर्माण किये जाने जैसे अनेक नगर विकास कार्य कांग्रेस पार्षद दल ने परिषद की बैठक में लाये थे वह कार्य आज भी अपूर्ण है बहुत से कार्य प्रारंभ नही हो सकें।
जिला कांग्रेस प्रवक्ता राजिक अकील ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि इन प्रस्ताव को सर्वसम्मति से परिषद में पास भी किया गया था। कांग्रेस पार्षद दल के अनेक प्रयासों के बाद भी यह कार्य समय पर प्रारंभ नही हो सकें, सायद इसलिऐ नगर विकास के यह प्रस्ताव कांग्रेस पार्षदो द्वारा लाये गये है, भाजपा शासित नगरपालिका नगर के मुख्य विकास कार्यो को छोड़ सामाग्री खरीदी पर विशेष ध्यान दिया, उनके द्वारा ऐसी सामाग्री व मशीने खरीदी गई जो आज भी नगर में बिना कार्य किये छिन्दवाड़ा चौक फिल्टर प्लांट में छूल खा रही है इन सामाग्रियों को क्रय करने का प्रमुख मकसद कमीशनखोरी है इनकी उपयोगिता के बारे में कभी विचार ही नहीं किया गया। नगर में बनने वाले अनेक निर्माणाधीन शौचालय नगर के लिए अत्यंत आवश्यक थे, आज भी कुछ शौचालयों का कार्य पूर्ण नही हो सका। कचहरी चौक में सुलभ शौचालय की अत्यंत आवश्यकता है, महीनों से इस शौचालय का काम बंद पड़ा है नगरपालिका के अधिकारी, कर्मचारी इस ओर बिलकुल भी ध्यान नही दे रहे है। बुधवारी बाजार विशाल मेडिकल स्टोर के सामने महिला पेशाबघर को तोड़कर भाजपा नेताओं के ईशारों पर उस स्थान पर अतिक्रमण कर ठेला रखवा दिया गया। जिससे मुख्य मार्ग सकरा हो गया है पूरे बुधवारी बाजार क्षेत्र में एक ही पेशाबघर होने के कारण बाजार आने जाने वालो को बहुत अधिक परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।
लगभग 2 वर्षो से परिषद भंग है सिवनी नगरपालिका में बहुत अधिक हस्तक्षेप करने वाले भाजपा के जनप्रतिनिधि एवं नेताओं को पूर्व में परिषद द्वारा नगर विकास के पास किये गये प्रस्ताव पर ध्यान देकर रूके हुये कार्यो को पूर्ण कराना चाहिये। जिससे नगर के लोगो को होने वाली असुविधा से छुटकारा मिल सकें।