किसी भी बच्चे को ऑन लाईन पढ़ाई से रोका नहीं जा सकता : कोर्ट

नमस्कार, ये समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया है। अब आप साई न्यूज की समाचार श्रंखला में सुनिये मंगलवार 14 सितंबर 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन.
——–
कोरोना की दूसरी लहर के बाद प्रदेश में छटवीं से 12वीं तक की कक्षाएं लग रही हैं। इन कक्षाओं में 50 फीसदी छात्रों की उपस्थिति रहती है। वहीं, अब जूनियर सेक्शन को भी खोलने का निर्णय सरकार ने लिया है। एमपी में क्लास एक से लेकर पांचवीं तक के स्कूल भी 20 सितबंर से खूल जाएंगे। प्राथमिक क्लासों में अभी छात्रों की उपस्थिति 50 फीसदी होगी।
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने घोषणा की है कि प्रदेश में समस्त शासकीय और अशासकीय शालाओं को फिर से प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है। सीएम की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में दिनांक 20 सितंबर से नियम के अनुसार कक्षाओं का संचालन होगा।
——–
प्रदेश में अब बीए के छात्रों को फर्स्ट ईयर में रामचरितमानस भी पढ़ाई जाएगी। सोमवार को प्रदेश के उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव ने बताया कि इससे छात्रों का पर्सनैलिटी डेवलपमेंट होगा और लीडरशिप स्किल विकसित होगी। सरकार के इस ऐलान के बाद इसका विरोध भी शुरू हो गया है। कुछ दिन पहले ही चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने बताया था कि प्रदेश में एमबीबीएस छात्रों को आरएसएस के संस्थापक केबी हेडगेवार और दीनदयाल उपाध्याय के विचारों के बारे में पढ़ाया जाएगा। इसके अलावा प्रदेश के विश्वविद्यालयों में कुलपति का नाम बदलकर कुलगुरु करने का प्रस्ताव भी है।
2021-22 सेशन से राज्य के उच्च शिक्षा विभाग ने फिलॉसफी के अंतर्गत रामचरितमानस के व्यावहारिक दर्शन को वैकल्पिक विषय के रूप में शामिल किया है। कॉलेज और यूनिवर्सिटी में बीए फर्स्ट ईयर के छात्रों के लिए यह विषय उपलब्ध होगा। उच्च शिक्षा विभाग ने इसका सिलेबस तैयार किया है। इसकी 100 नंबर की परीक्षा होगी। यह विषय केवल हिंदी और दर्शन शास्त्र के प्रोफेसर ही पढ़ाएंगे।
——–
केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गड़करी 16 सितंबर 2021 को इंदौर स्थित ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेंटर में लगभग 11 हजार करोड़ रूपये लागत की राष्ट्रीय राजमार्ग परियोजनाओं का भूमि-पूजन और लोकार्पण करेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान करेंगे।
केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी अपने निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार 16 सितंबर 2021 दोपहर 3 बजे रतलाम जिले में जावरा पहुँचेंगे। वहाँ पर दिल्ली-मुम्बई एक्सप्रेस-वे निर्माण कार्य का जायजा लेने के बाद हेलीकॉप्टर से शाम 5 बजे इंदौर पहुँचेंगे। श्री गड़करी शाम 6 बजे इंदौर में ब्रिलिएंट कन्वेंशन सेटर में आयोजित कार्यक्रम में भाग लेने के बाद, रात्रि विश्राम इंदौर में ही करेंगे। केन्द्रीय मंत्री 17 सितंबर को प्रातः 10 बजे विशेष विमान द्वारा बड़ोदरा (गुजरात) के लिए रवाना होंगे।
——–
प्रदेश की इंटेलिजेंस ने सूबे की पुलिस को अलग अलग जिलों में सांप्रदायिक फिजा बिगड़ने का अलर्ट जारी किया है। पुलिस के निर्देश दिये गए हैं कि, वो प्रदेश में इस तरह की साजिश पर नजर रखने और इसे नाकाम करने की व्यवस्था करें। साथ ही, इन संबंधित जिलों अतिरिक्त सतर्कता बरतने की नसीहत भी की गई है।
सूत्रों की मानें, तो इंटेलिजेंस की ओर से पुलिस को प्रदेश की राजधानी भोपाल, इंदौर, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, बुरहानपुर, खंडवा समेत 12 से अधिक शहरों में सांप्रदायिक माहौल बिगड़ने के इनपुट मिले हैं। इस इनपुट के बाद पुलिस मुख्यालय ने सभी जिलों की पुलिस को कानून और सुरक्षा व्यवस्था मजबूत करने के साथ ऐसी घटनाओं की जानकारी इकट्ठी करने को कहा गया है। साथ ही इस तरह की गतिविधि या साजिशों या प्लानिंग में लिप्त संदिग्ध के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश भी जारी किये गए हैं।
——–
संस्कारधानी जबलपुर में डेंगू के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। रांझी, मानेगांव, मोहनिया, कांचघर समेत कई और इलाकों में बड़ी संख्या में लोग डेंगू से पीड़ित हैं। इसे देखते हुए नगरीय सीमा में एक महीने के लिए कूलर का उपयोग प्रतिबंधित किया गया है। निगमायुक्त संदीप जीआर ने आदेश जारी कर स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जांच के निर्देश दिए। सर्वे में पता लगा है कि ज्यादातर घरों में लार्वा कूलरों में पाए जा रहे हैं। इसके कारण लोग संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ रहे हैं।
डेंगू से पीड़ित रांझी व गढ़ा इलाके में अपर आयुक्त परमेश जलोटे, महेश कोरी, स्वास्थ्य अधिकारी भूपेन्द्र सिंह ने कीटनाशक दवा का छिडक़ाव कराया। जिला मलेरिया प्रभारी डॉं राकेश प्रहरिया व समस्त संभागीय अधिकारियों, सहायक स्वास्थ्य अधिकारियों और मुख्य स्वच्छता निरीक्षकों ने घरों में जाकर डेंगू्र, चिकुनगुनिया व मौसमी बीमारियों से बचाव के लिए समझाइश दी।
——–
करीब दो साल से कोरोना ने कहर मचाया था। बार-बार कोरोना वायरस के चरित्र बदलने (नए स्ट्रेन) को लेकर विशेषज्ञ परेशान हैं। पूरी दुनिया के विशेषज्ञ हर कुछ दिन पर कोरोना वायरस के बदलते स्ट्रेन की काट खोजने में जुटे है। टीकों को लेकर भी संशय के बादल गहराने लगते हैं कि कौन सा टीका कोरोना के किस स्ट्रेन का मुकाबला करने में सक्षम है और कौन नहीं। ये सब चल ही रहा है कि अब सुनने में आ रहा है कि डेंगू मच्छर भी चरित्र बदलने लगा है। ऐसे में चिकित्सकों और वैज्ञानिकों का चिंतित होना लाजमी है।
स्वास्थ्य विभाग के डॉ संजय मिश्रा का कहना है तमाम डॉक्टरों से चर्चा करने के बाद इस बात के पूरे आसार नजर आ रहे हैं कि डेंगू का कोई नया स्ट्रेन आ गया है, जिससे पीड़ित मरीज की रिपोर्ट तो डेंगू निगेटिव आ रही है लेकिन उसके अंदर डेंगू के लक्षण मौजूद हैं। ऐसा इसलिए कहा जा रहा है कि क्योंकि मरीज में प्लेटलेट्स की संख्या लगातार कम हो रही है। विशेषज्ञों की मानें तो सामान्य तौर पर ब्लड प्लेटलेट्स काउंट 1 लाख 50 हजार से चार लाख तक होता है। लेकिन अभी बुखार आने के बाद बहुत तेजी से नीचे जा रहा है। लिहाजा अब डॉक्टरों की टीम इस नए पहलू पर मरीजों की जांच कर रही है।
——–
रीवा जिले के दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में ठगी की वारदात का एक अनोखा तरीका सामने आया है। ठग गिरोह ने खुद को सीबीआई अफसर बताकर एंट्री करने के बहाने सोने की चेन लेकर पीड़ितों को नकली चेन थमा दिया। इसके बाद फरार हो गए हैं। दोनों ही घटना को लेकर पीड़ियों ने पुलिस में मामला दर्ज कराया है। इसके बाद पुलिस ने जांच शुरू कर दी है।
दरअसल, रीवा जिले में बिगड़ती कानून व्यवस्था के बीच अपराधी खुलेआम सड़कों पर घूमने लगे हैं। अज्ञात बदमाशों ने जिले के दो अलग-अलग थाना क्षेत्रों में सीबीआई अफसर बनकर ठगी की है। बताया जा रहा है कि जिले में एक नया ठग गिरोह सक्रिय हो गया है जो अनोखे अंदाज में यह काम कर रहा है। इसे लेकर शहर के समान और सिविल लाइन थाने में शिकायत दर्ज कराई गई है।
——–
प्रदेश की कोई भी निजी स्कूल किसी भी बच्चे को महज फीस जमा न कर पाने के आधार पर आनलाइन क्लास में शामिल होने से रोक नहीं सकती। इस संबंध में हाई कोर्ट ने अपना रुख साफ कर दिया है। साथ ही राज्य शासन को अपना जवाब पेश करने कहा है। इससे पूर्व भी हाई कोर्ट कोरोना काल में निजी स्कूली छात्र-छात्राओं के लिए राहतभरा अंतरिम आदेश पारित कर चुका है। शिक्षा जैसे महत्वपूर्ण मुद्दे को लेकर हाई कोर्ट ने किसी तरह की लापरवाही बर्दाश्त न करने का मंतव्य व्यक्त कर दिया था।
मध्य प्रदेश हाई कोर्ट ने निर्देश दिया है कि फीस जमा नहीं करने पर बच्चों को आनलाइन क्लास से नहीं रोका जाए। मुख्य न्यायाधीश मोहम्मद रफीक और जस्टिस विजय कुमार शुक्ला की युगलपीठ ने इस मामले में राज्य सरकार को 23 सितंबर तक जवाब देने का निर्देश दिया है। जागरूक पालक संघ समिति इंदौर की ओर से दायर याचिका में कहा गया कि मध्य प्रदेश हाईकोर्ट ने चार नवंबर, 2020 को आदेश दिया था कि जब तक स्कूलों में सभी गतिविधियां शुरू नहीं हो जाती है, तब तक ट्यूशन फीस ही वसूली जाएगी। निजी स्कूल संचालकों को हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी।
——–
प्रदेश में अब मेडिकल छात्रों को हिन्दी में पढ़ाया जाएगा। पूरा कोर्स हिन्दी में ही होगा। यह घोषणा चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने की। उन्होंने कहा कि आज हिन्दी दिवस है। सभी को इसकी शुभकामनाएं। हमने हिन्दी दिवस के अवसर पर मध्यप्रदेश में मेडिकल की पढ़ाई हिन्दी में करने का निर्णय लिया हैं। जल्द ही इसके लिए एक कमेटी बनाई जाएगी।
मंत्री ने कहा कि यह एक मॉड्यूल को तैयार करेंगे। कमेटी के सुझाव के आधार पर ही पूरा पाठ्यक्रम हिन्दी में तैयार किया जाएगा। जल्द से जल्द इसकी शुरुआत करने जा रहे हैं, हालांकि अभी इसके लिए समय सीमा तय नहीं की गई है, लेकिन हमारा प्रयास रहेगा कि कम समय में इसे शुरू करें। इससे छात्रों को मेडिकल की पढ़ाई करने में आसानी होगी।
सारंग ने कहा कि पाठ्यक्रम को तैयार करने के लिए विशेष कमेटी कार्य करेगी। यह कोर्स से जुड़ी व्यवहारिक परेशानियों के साथ ही यह भी देखेगी कि कहीं किसी तरह की दूसरी परेशानी तो इससे खड़ी नहीं हो रही। छात्रों के भविष्य और उनके हित को देखते ही पूरा कोर्स हिन्दी में किया जाएगा।
——–
आप सुन रहे थे समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया की साई न्यूज में शरद खरे से मंगलवार 14 सितंबर 2021 का प्रादेशिक आडियो बुलेटिन। बुधवार 15 सितंबर 2021 को एक बार फिर हम ऑडियो बुलेटिन लेकर हाजिर होंगे, यदि आपको ये ऑडियो बुलेटिन पसंद आ रहे हों तो आप इन्हें लाईक, शेयर और सब्सक्राईब जरूर करें। अभी आपसे अनुमति लेते हैं, जय हिन्द।
(साई फीचर्स)

———