बालाघाट और सिवनी की जनता के साथ अन्याय कर रहे सांसद डॉ. बिसेन : ब्रासंस

ब्रासंस राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप सिंह बैस के नेतृत्व मे सम्पूर्ण महाकौशल में हुआ उपवास आंदोलन
(ब्यूरो कार्यालय)


बालाघाट (साई)। गांधी जयंती के उपलक्ष मे एक फिर ब्राडगेज संघर्ष समिति ने सम्पूर्ण महाकौशल क्षेत्र मे धरना आंदोलन उपवास के माध्यम से रेल समस्याओं को रखते हुये उनके निराकरण की मांग की। ब्राडगेज संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप सिंह बैस के नेतृत्व मे बालाघाट मुख्यालय मे स्थित हनुमान चौक गांधी प्रतिमा के समक्ष भारी संख्या मे जागरूक नागरिकों ने भाग लिया।


इस अवसर पर आमसभा को सम्बोंधित करते हुऐ ब्राडगेज संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप सिंह बैस ने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यजनक है कि समुचे देश मे जहां एक ओर लोकल ट्रेने प्रारंभ कर दी गई है वही दूसरी ओर बालाघाट से जबलपुर तथा कटंगी – तिरोड़ी एवं नैनपूर मंडला के मध्य लोकल ट्रेन प्रारंभ नही की जा रही है जबकि इस नवनिर्मित ब्राडगेज मार्ग की रास्ता जिले की जनता वर्षाे से देख रही है। रेल विभाग ने स्पेशल ट्रेन के नाम पर यात्री किराया तीन गुना कर दिया है जिसे वापस लेकर पुरानी स्थिति बहाल की जानी चाहिए।


ब्राडगेज संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष अनूप सिंह बैस ने बालाघाट सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन पर आरोप लगाते हुए कहा कि सांसद के द्वारा बालाघाट संसदीय क्षेत्र में रेल सुविधाओं की उपेक्षा की जा रही है। इतना ही नहीं जनता के बीच पनपने वाले रोष और असंतोष के लावे को शांत करने के लिए रेलवे के अधिकारियों से पत्रकार वार्ता करवाकर स्थिति स्पष्ट करने से भी सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन कतराते दिख रहे हैं। उन्होंने कहा कि इस मामले में बालाघाट, सिवनी, मण्डला जिलों से हर दिन सैकड़ों की तादाद में ट्वीट भी प्रधानमंत्री, रेलमंत्री, भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष, रेलवे बोर्ड आदि को भेजे जा रहे हैं।


अनूप सिंह बैस के द्वारा बालाघाट के सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन पर आरोप लगाते हुए कहा कि जिस सिवनी जिले के द्वारा उन्हें चार बार विधायक बनाया जिसके बल पर डॉ. बिसेन प्रदेश में तीन विभाग के मंत्री बने, उसके बाद बालाघाट और सिवनी जिले की जनता ने उन्हें सांसद बनाया, वे डॉ. ढाल सिंह बिसेन सिवनी और बालाघाट के लोगों की भावनाओं की कदर नहीं कर रहे हैं। न तो बालाघाट में सवारी गाड़ियां आरंभ कराई जा रही हैं, जबकि मेमू के रैक आकर नैनपुर में रखे हैं, और न ही भोमा से सिवनी होकर चौरई के रेलखण्ड में पटरियां ही बिछवाई जा रही हैं। डॉ. बिसेन को रेल अधिकारियों को साथ लेकर पत्रकारों के साथ बैठकर सिवनी और बालाघाट में डॉ. ढाल सिंह बिसेन को जनादेश देने वाले लोगों के सवालों के जवाब देना चाहिए, जिससे वे बचते ही नजर आ रहे हैं।


उन्होंने कहा कि ब्राडगेज निर्माण मे जिन किसानों की भूमि अधिग्रहित की गई है उन किसानों मे से वर्ष 2013 के बाद अधिग्रहित की गई भूमि के किसान परिवार से एक सदस्यों को नौकरी नही दी जा रही है जबकि यह रेल विभाग का जमीन अधिग्रहण के समय वायदा था। समनापुर मे अंडरब्रिज ना मिलने से ग्रामीणों मे नाराजगी है साथ ही बालाघाट मे सरेखा चौकी, भटेरा चौकी एवं बैहर चौकी मे ओवर ब्रिज के लिए वास्तिविक तरीके से कार्य न करके नाटक नौटंकी की जा रही है।


सभा को सम्बोंधित करते हुये पूर्व विधायक अशोक सिंह सरस्वार, रहीम खान, विशाल बिसेन, भीम फूलसंूघे, श्याम पंजवानी, पवन अग्रवाल ने ब्राडगेज संघर्ष समिति के विगत 25 वर्षाे से किये जा रहे जन आंदोलन की सराहना करते हुए कहा कि जनता से जुड़ी हुई लोकल ट्रेन प्रारंभ करने की मांग को नजर अंदाज करते हुए बालाघाट सांसद डॉ. ढाल सिंह बिसेन जिस तरह से श्रेय लेने की राजनीति कर रहे है वह अत्यंत निदंनीय है एवं रेल विभाग को तत्काल इस दिशा मे संज्ञान लेते हुए गरीब आदमी की रेल गाड़ी लोकल ट्रेन को प्रारंभ करना चाहिए।


ब्राडगेज संघर्ष समिति का यह धरना प्रदर्शन आंदोलन उपवास प्रातः 10 बजे से प्रारंभ होकर श्याम 05 बजे तक चला, तत्पश्चात स्टेशन अधीक्षक को ज्ञापन सौपा गया। सम्पूर्ण महाकौशल क्षेत्र मे जिला मंडला, घंसौर, नैनपुर मे भी ब्राडगेज संघर्ष समिति के बैनर तले धरना आंदोलन उपवास किया गया जिसमें जनता द्वारा भारी संख्या मे भाग लिया गया।


उक्त आंदोलन मे प्रमुख रूप से त्रिलोक सुलाखे, समीम सिध्दीकी, विक्रम पांडे, मुकसुद खान, राजा नगपुरे, राहूल सिंह बैस, फईयाज अंसारी, अंशुल अवस्थि, प्रवीण जैन, सुरज वाधगुनेरे, अल्ल्हा रखा, श्रीमति शानु राय, श्रीमति जुबेदा अंसारी, सुमन केवलानी, मयूर मोटवानी, प्रवीण मदनकर, पप्पू मदनकर, मुकेश कारबेंडे, केवल सिंह झारिया, शबीर पटेल, हीरा गड़पाले, अशोक सिंह बैस, विनोद बंसकार, हरिप्रसाद दमाहे, संजय बसेने, संतलाल लिल्हारे, राजेश लांजेवार, दिलीप लिल्हारे, महेन्द दमाहे, मोनटी दशहरे, अजय बसेने, वैभव सिंह, नितेश सिंह राजपूत, रिकाब मिश्रा, परवेज पटेल, जीतू बर्वे, अशोक डहरवाल, विनोद भटट, नरेन्द्र मेश्राम एवं अनेक गणमाननीय नागरिक उपस्थित थे।