सनमति हायर सेकेंडरी स्कूल बना देश का पहला ईट राईट स्कूल

ईट राईट चैलेंज के अंतर्गत नवाचार गतिविधि

(नन्द किशोर)


इन्दौर (साई)। माह नवंबर इन्दौर के लिए खुशियों भरा रहा है, 20 नवम्बर को स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 मे लगातार 5 वी बार पूरे देश मे नंबर 1 आने के बाद अब एक और उपलब्धि इन्दौर ने अपने नाम की है, राष्ट्रीय स्तर पर FSSAI (लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार नई दिल्ली ) द्वारा आयोजित ईट राईट स्कूल गतिविधि के अंतर्गत सभी अर्हताओं कों पूर्ण कर इंदौर स्थित सनमति हायर सेकेंडरी स्कूल देश का पहला और एकमात्र ऐसा स्कूल बन गया है जो की अब ईट राईट स्कूल है, इस गतिविधि के लिए पूरे भारत से 62804 स्कूल रजिस्टर्ड हुए है लेकिन कोई और अन्य स्कूल यह काम अभी तक नहीं कर पाया है
इंदौर अपनी स्वच्छता के लिए पूरे विश्व में प्रसिद्ध है और साथ ही साथ अपने खान-पान के लिए भी जाना जाता है


इसी कड़ी मे जिला प्रशासन और खाद्य सुरक्षा प्रशासन इंदौर द्वारा पूरे भारत वर्ष मे आयोजित की जा रही ईट राईट चैलेंज प्रतियोगिता के अंतर्गत आमजन मे सही खान-पान की प्रवृत्ति विकसित करने के उद्देश्य से कई गतिविधियां आयोजित की जा रही हैं, जिसमे से एक हैं ईट राईट स्कूल


कहते हैं- *किसी संदेश को अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचाने के लिए हमें संदेशवाहक की आवश्यकता होती है और यह माना जाता है कि बच्चे बहुत अच्छे संदेश वाहक होते हैं, इस गतिविधि का प्रमुख उद्देश्य बच्चों के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों तक सही खानपान के संदेश को पहुंचाना है


यह गतिविधि मुख्य रूप से सेफ एंड न्यूट्रीशियस फ़ूड एट स्कूल की परिकल्पना पर आधारित हैं जिसका उद्देश्य स्कूली बच्चों मे सुरक्षित खान-पान, पोषण युक्त आहार की संस्कृति विकसित करना हैं
ईट राईट स्कूल मे निम्नलिखित गतिविधियां सम्मिलित हैं
1. कोई भी सरकारी अथवा अशासकीय विद्यालय (कक्षा 01 से 08) इस गतिविधि हेतु ईट राइट स्कूल की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकता हैं
2. रजिस्ट्रेशन के उपरांत स्कूल अपने स्टाफ / विद्यार्थी/ अभिभावक में से किसी को भी हेल्थ एंड वैलनेस एंबेसडर नियुक्त करते हैं, जिनकी संख्या 01 से अधिक भी हो सकती हैं
3. नियुक्त किए गए हेल्थ एंड वैलनेस एंबेसडर ईट राइट स्कूल की वेबसाइट से प्राप्त लर्निंग मटेरियल का अध्ययन कर ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम में हिस्सा लेते हैं
4. हेल्थ एंड वैलनेस एंबेसडर, ऑनलाइन ट्रेनिंग प्रोग्राम कंप्लीट करने के उपरांत ऑनलाइन क्विज में हिस्सा लेकर 60% या अधिक मार्क्स प्राप्त करने के उपरांत हेल्थ एंड वैलनेस एंबेसडर सर्टिफिकेट प्राप्त करते हैं
5. इसके पश्चात हेल्थ एंड वैलनेस एम्बेसडर स्कूल में अपनी एक टीम तैयार करते हैं, जो स्कूली बच्चों के मध्य सही खानपान से संबंधित गतिविधियां संचालित करते हैं
6. इस कार्यक्रम मे भारतीय खाद्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (fssai ) नई दिल्ली द्वारा अलग-अलग आयु वर्ग के विद्यार्थियों हेतु प्रकाशित लर्निंग मटेरियल जैसे yellow book, activity book, Food safety Guide book आदि को स्कूली पाठ्यक्रम मे शामिल किया जाता हैं
7. उपरोक्त books मे दी गई सही खान-पान से संबंधित रोचक गतिविधियां संचालित की जाती हैं
8. उक्त गतिविधियों के अंतर्गत स्कूल में संचालित निम्नलिखित योजनाओं के आधार पर वैल्यूएशन किया जाता है
A. स्कूल में विद्यार्थियों हेतु टॉयलेट की व्यवस्था
B. स्कूल में पीने के पानी की व्यवस्था
C. विद्यार्थियों हेतु हाथ धोने की व्यवस्था
D. स्कूल द्वारा विद्यार्थियों के लिए जारी एक मानक डाइट प्लान
E. ईट राइट से संबंधित विभिन्न प्रतियोगिताएं जैसे पोस्टर रंगोली निबंध आदि

ईट राईट स्कूल प्रमाणन

सभी गतिविधियों के पूर्ण होने के पश्चात, स्कूल ईट राइट स्कूल के मैट्रिक्स को वेबसाइट पर ऑनलाइन भरते हैं, fssai द्वारा सभी गतिविधियों का उनके एविडेंस के आधार पर मूल्यांकन किया जाता है तथा मार्क्स प्रदान किए जाते हैं जिनके आधार पर स्कूल को ईट राईट स्कूल सर्टिफिकेट प्रदान किया जाता है

ईट राईट स्कूल मे इंदौर जिला प्रशासन द्वारा किया गया नवाचार

* ईट राइट चैलेंज प्रतियोगिता के अंतर्गत माह फरवरी 2021 में इंदौर जिले में खाद्य सुरक्षा प्रशासन द्वारा ईट राइट स्कूल गतिविधि हेतु कार्यवाही प्रारंभ की गई
* ईट राइट स्कूल हेतु जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय से कुछ स्कूलों की सूची प्राप्त की गई, जिनसे मोबाइल पर कांटेक्ट कर इस गतिविधि के बारे में बताया गया एवं उनका व्हाट्सएप नंबर प्राप्त कर एक व्हाट्सएप ग्रुप तैयार किया गया
* व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से आवश्यक जानकारियां स्कूलों को प्रदान की गई
* व्हाट्सएप ग्रुप में ही स्कूलों के रजिस्ट्रेशन से संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए जाकर रजिस्ट्रेशन कराया गया
* व्हाट्सएप ग्रुप के माध्यम से स्कूलों से हेल्थ एंड वैलनेस एम्बेसडर नियुक्त कर उन्हें लर्निंग मटेरियल दिया गया, साथ ही ऑनलाइन प्लेटफॉर्म का उपयोग कर मीटिंग् कर ट्रेनिंग प्रदान की गई
* माह मार्च 2021 मे स्कूलों द्वारा ट्रेनिंग प्राप्त कर हेल्थ एंड वैलनेस एंबेसडर के सर्टिफिकेट भी प्राप्त किए गए
* कोविड-19 महामारी के कारण चूंकि स्कूल ऑफलाइन प्रारंभ नहीं थे, अतः सभी गतिविधियों को ऑनलाइन क्लासेस में कराए जाने का निर्णय लिया गया, कुछ स्कूल ने ऑनलाइन माध्यम से ईट राईट गतिविधियां प्रारम्भ की
* अप्रैल एवं मई 2021 में कोविड-19 की दूसरी लहर आने के कारण एवं ग्रीष्म कालीन अवकाश के चलते गतिविधियां संचालित नही हो पाई


* माह जून में स्कूलों में ऑनलाइन क्लासेज फिर से शुरू हुई, जिनमें ईट राइट पाठ्यक्रम को शामिल किया गया तथा सप्ताह में एक या दो दिवसीय गतिविधियां ऑनलाइन माध्यम से संचालित की गई जो कि अभी तक चल रही है
* स्कूल टीचर, पेरेंट्स और विद्यार्थियों की प्रतिक्रिया के अनुसार विद्यार्थियों ने ईट राइट गतिविधियों में रुचि दिखाई
* माह अगस्त 2021 में एफएसएसएआई द्वारा ईट राइट चैलेंज प्रतियोगिता में से ईट राइट स्कूल गतिविधि को हटा दिया गया, इसका प्रमुख कारण यह था कि कोविड-19 महामारी के कारण स्कूल संचालित नहीं हो रहे थे जिसके कारण ईट राइट चैलेंज प्रतियोगिता में भाग लेने वाले कई शहरों ने इस गतिविधि को संचालित करने में असमर्थता दिखाई थी
* इंदौर जिले में इस गतिविधि को प्रारंभ हुए लगभग 6 माह हो चुके थे, स्कूल प्रबंधन, विद्यार्थी गण एवं खाद्य सुरक्षा प्रशासन ने आपस में यह निर्णय लिया कि इन गतिविधियों का संचालन ऑनलाइन माध्यम से ही आगे भी संचालित किया जाता रहेगा
* वर्तमान परिदृश्य में कोविड-19 महामारी के कारण आम जनता में सही खानपान, पोषण युक्त खाद्य पदार्थ, इम्यूनिटी बढ़ाने वाले खाद्य पदार्थों के प्रति जागरूकता बढ़ी है, इस स्थिति में जब इंदौर जिले में विद्यार्थियों को उनके नियमित पाठ्यक्रम के साथ-साथ सही खानपान की शिक्षा विभिन्न रोचक गतिविधियों के माध्यम से दी जा रही है तो इससे सभी पेरेंट्स और विद्यार्थियों ने पॉजिटिव रूप में लिया, जिसे देखते हुए खाद्य सुरक्षा प्रशासन ने यह निर्णय लिया कि चाहे हमें ईट राइट स्कूल सर्टिफिकेट प्राप्त हो या ना हो हम विद्यालय प्रबंधन की सहायता से इन गतिविधियों का संचालन जारी रखेंगे जो की व्यापक जनहित मे है
आखिरकार मेहनत रंग लाई
ज़ब पूरे देश मे कोविड -19 के कारण schools बंद थे, और fssai द्वारा ईट राईट चैलेंज से भी ईट राईट स्कूल गतिविधि कों हटा दिया तो किसी ने ये सोचा भी नहीं होगा की ईट राईट स्कूल गतिविधियों का संचालन इस तरह से किया जा सकता है, इन्दौर ने यह कर दिखाया है


खाद्य सुरक्षा प्रशासन इन्दौर उन सभी अध्यापक गण, स्कूल प्रबंधन, विद्यार्थी गण, अभिभावक गण को धन्यवाद प्रेषित करता है जिन्होंने इस कोविड-19 महामारी के दौरान विषम परिस्थितियों के होते हुए भी स्कूली पाठ्यक्रम के अतिरिक्त इस नवाचार गतिविधि को अपनाया है, आशा है हम अब और भी ईट राईट स्कूल सर्टिफिकेट प्राप्त करेंगे और हमारे इन्दौर के बच्चों कों सही – सुरक्षित एवं पोषण युक्त खाद्य पदार्थ के प्रति जागरूकता एवं उपयोग की संस्कृति विकसित कर सकेंगे