चलती ट्रेन में पार्सल कोच से बुकमाल चोरी करने वाले गिरोह का खुलासा

(एल.एन. सिंह)
प्रयागराज (साई)। प्रयागराज आरपीएफ थाना छिवकी के द्वारा किए गए खुलासे में लगभग सोलह लाख सतहत्तर हजार साठ रुपए के चोरी के माल सहित तीन चोर और एक चोरी का माल खरीदने वाला व्यापारी को पकड़ा गया,एक मुलजिम फरार है। उसके लिए वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त रेलवे सुरक्षा बल मनोज कुमार सिंह के दिशा निर्देश में बनी टीम छापेमारी कर रही है।
छिवकी आरपीएफ थाने के प्रभारी निरीक्षक आर पी कुजूर ने मीडिया को बताया कि पकड़े चोरों ने पिछले 11जनवरी की रात्रि में हावड़ा से दिल्ली जाने वाली ट्रेन नंबर 12303 पूर्वा एक्सप्रेस तथा 22459बैजनाथ धाम एक्सप्रेस में बुक माल के कोच SLR के सील को खोलकर करछना और छिवकी के बीच लगभग अठारह लाख से अधिक की चोरी की गई।
इसमें कई बोरी बीड़ी, महंगे सिगरेट और पचास पीस ऑक्सीमीटर के थे।जब इसकी जानकारी आर पी एफ छिवकी को हुई तो वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त द्वारा एक आरपीएफ की टीम का गठन कर माल मुलजिम बरामदगी के लिए बनाई गई।
टीम द्वारा लगातार की जा रही छापेमारी से आज तीन मुलजिम सहित व्यापारी को लगभग 16 लाख 77000 के माल के साथ मुखबिर की सूचना पर सरस्वती हाई टेक सिटी के पास बने नाले से तब पकड़ा गया जब वे चोरी के माल को व्यापारी को बेचने की योजना बना रहे थे।प्रभारी निरीक्षक छिवकी आरपीएफ द्वारा मीडिया को बताया गया कि इस इस गैंग का सरगना दीपक कोल पुत्र शंकर कोल ग्रामसभा डीहा थाना करछना का निवासी है। दूसरा इसके सगे बुआ का लड़का विवेक कौल पुत्र मछंदर कोल ग्रामसभा लवाइन कला थाना औद्योगिक क्षेत्र नैनी प्रयागराज का निवासी है और तीसरा राजू निषाद पुत्र कालई निषाद ग्रामसभा लवाइन कला थाना औद्योगिक क्षेत्र नैनी प्रयागराज का निवासी है। जिस कबाड़ी को इन लोगों ने कुछ माल बेचा था उसका नाम सरताज सिद्दकी पुत्र गुलाम मुस्तफा ग्राम बलापुर डांडुपुर थाना घूरपुर प्रयागराज का निवासी है। जिसके पास से कुछ चोरी का माल बरामद हुआ।प्रभारी निरीक्षक आरपीएफ ने बताया कि दीपक को कई बार रेलवे की केबिल चोरी में पकड़ा गया था इसके ऊपर आरपीएफ थाना छिवकी में कई मुकदमे दर्ज हैं।जो मुलजिम फरार है उसका नाम विमलेश उर्फ बिरजू है वह भी ग्राम सभा लवाइन कला थाना औद्योगिक क्षेत्र नैनी का निवासी है।
बरामद किए गए माल में बीड़ी की कई बोरियां जो झाजा से फतेहपुर जा रही थी। महंगे सिगरेट की कई पेटियां और 50 पीस ऑक्सीमीटर जिनकी कीमत एक की 18 सौ रुपए है। ऑक्सीमीटर की पूरी रिकवरी कर ली गई है।वरिष्ठ मंडल सुरक्षा आयुक्त मनोज कुमार सिंह द्वारा बनाई गई टीम में छिवकी थाना प्रभारी आरपी कुजूर, उप निरीक्षक अतुल कुमार यादव, उप निरीक्षक ज्ञानचंद, हेड कांस्टेबल अजय कुमार यादव, हेड कांस्टेबल नागेंद्र मौर्य, हेड कांस्टेबल जनार्दन प्रसाद, कांस्टेबल श्याम सिंह बागड़ी और कांस्टेबल संतोष सिंह शामिल रहे जिनके द्वारा छापेमारी कर माल और मुलजिम की लगभग बरामदी की गई।