अखिलेश के मुफ्त बिजली के वादे पर सीएम योगी का तंज, ”बाप मार डारिस अंधियारे में, बेटवा बना बा पॉवर हाउस”

(ब्यूरो कार्यालय)
लखनऊ (साई)। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 में मतदाताओं को रिझाने के लिए सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल की तर्ज पर ‘फ्री’ का दांव खेला है. अखिलेश ने वादा किया है कि अगर उत्तर प्रदेश में सपा की सरकार बनती है तो घरेलू उपभोक्ताओं को वह 300 यूनिट मुफ्त बिजली देंगे. साथ ही किसानों को सिंचाई के लिए बिजली मुफ्त कर देंगे.​

अखिलेश यादव के इस चुनावी वादे पर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक कहावत के जरिए निशाना साधा है. मुख्यमंत्री योगी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया है, ”बाप मार डारिस अंधियारे में, बेटवा बना बा पॉवर हाउस.” उनके इस ट्वीट पर खूब प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. उत्तर प्रदेश के ट्विटर यूजर्स अखिलेश को समाजवादी पार्टी की सरकार का कार्यकाल याद दिला रहे हैं, जब गांवों में 12 घंटे बिजली, एक हफ्ते दिन और एक हफ्ते रात की शिफ्ट में आती थी.

अखिलेश यादव ने मंगलवार को अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस में मुफ्त बिजली को लेकर समाजवादी पार्टी के ​अभियान के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि सपा 19 जनवरी से ‘नाम लिखाएं-300 यूनिट फ्री बिजली पाएं’ अभियान शुरू करेगी. अखिलेश ने कहा कि यूपी के जो लोग मुफ्त बिजली पाना चाहते हैं वे सपा की ओर से दिए जाने वाले फॉर्म में अपना नाम लिखवाएं. फॉर्म में वही लोग नाम लिखवाएं जिनके नाम से बिजली का कनेक्शन है और बिल आता है. यह अभियान सिर्फ घरेलू उपभोक्ताओं के लिए होगा.

योगी सरकार ने बीती 7 जनवरी को उत्तर प्रदेश में बिजली के दाम 50 फीसदी कम कर दिए थे. यूपी सरकार के इस निर्णय का फायदा घरेलू और व्यावसायिक दोनों तरह के उपभोक्ताओं के अलावा ट्यूबवेल कनेक्शन वाले किसानों को भी मिला. यूपी के ग्रामीण क्षेत्रों में मीटर्ड कनेक्शन पर 2 रुपये प्रति यूनिट की जगह 1 रुपये प्रति यूनिट ही चुकाने होंगे. इसके अलावा सरकार ने फिक्‍स चार्ज में भी छूट दी गई है.

अभी तक इस कनेक्शन पर 70 रुपये प्रति हॉर्सपावर का फिक्स चार्ज लिया जाता था. अब यह दर घटकर 35 रुपये प्रति हॉर्स पावर होगी. वहीं शहरी क्षेत्रों में मीटर्ड कनेक्शन पर उपभोक्ताओं को 6 रुपये की बजाय 3 रुपये प्रति यूनिट की दर से चार्ज देना होगा. इस कनेक्शन पर भी फिक्स चार्ज घटाकर 130 से घटाकर 65 रुपये प्रति हॉर्सपावर कर दिया गया है. योगी सरकार के इस फैसले का यूपी की जनता और किसानों ने तहे दिल से स्वागत किया था.