टिकट न मिलने से नाराज सपा नेता मंजू पाठक का विरोध प्रदर्शन

मंजू पाठक ने लगाए जिलाध्यक्ष पर गंभीर आरोप
(एल.एन. सिंह)
प्रयागराज (साई)। समाजवादी पार्टी में उम्मीदवारों की लिस्ट जारी होने के बाद बगावत का सिलसिला भी शुरू हो गया है। समाजवादी पार्टी ने मंगलवार को उम्मीदवारों की जो लिस्ट जारी की थी। उसमें प्रयागराज की 7 सीटों के उम्मीदवारों के नाम शामिल थे। उस लिस्ट के जारी होने के साथ ही पार्टी में आरोप प्रत्यारोप का दौर शुरू हो गया। प्रयागराज में टिकट न मिलने से नाराज सपा नेता मंजू पाठक ने जिलाध्य्क्ष योगेश यादव पर गंभीर आरोप लगाते हुए जमकर हंगामा किया।
सपा महिला कार्यकर्ता ने टिकट न मिलने पर सपा कार्यालय के बाहर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया। इसके साथ ही महिला नेता ने पार्टी के जिलाध्यक्ष पर भाजपा के साथ मिलकर काम करने और पैसे लेकर टिकट दिलवाने का भी आरोप लगाया है।जानकारी देतीं सपा नेता मंजू पाठक।सपा से टिकट न मिलने पर दावेदारों ने किया विरोध
प्रयागराज की 8 सीटों पर समाजवादी पार्टी ने उम्मीदवारों के नाम की लिस्ट जारी कर दी है। पहली लिस्ट में जारी हंडिया और शहर उत्तरी सीट से टिकट न पाने वाले दावेदारों ने विरोध भी शुरू कर दिया है। हंडिया विधानसभा में टिकट के दावेदार पूर्व विधायक प्रशांत सिंह के समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया। जबकि शहर उत्तरी सीट से टिकट की दावेदारी करने वाली मंजू पाठक ने समाजवादी पार्टी के जिला कार्यालय के गेट पर बैठकर विरोध प्रदर्शन किया।
यही नहीं मंजू पाठक ने सपा के जिलाध्यक्ष पर भाजपा के लिए काम करने का भी आरोप लगा दिया। उनका कहना है सपा से कमजोर उम्मीदवारों को टिकट दिलवाने का काम कर रहे हैं।टिकट न मिलने पर समर्थक हैं नाराज।समाजवादी पार्टी के द्वारा अभी तक 8 सीटों पर टिकटों के नाम की घोषणा कर दी गई है। जिसके बाद शहर उत्तरी के साथ ही गंगापार और यमुनापार में टिकट के दावेदारों के समर्थक विरोध कर रहे हैं।
गंगापार के हंडिया और फूलपुर के साथ ही यमुनापार के मेजा इलाके में टिकट बंटवारे के बाद से विरोध तेज हो गया है। हंडिया से पूर्व विधायक प्रशांत सिंह और फूलपुर से पूर्व सांसद नागेंद्र सिंह पटेल के समर्थक टिकट न मिलने से काफी नाराज हैं। समर्थकों के साथ ही टिकट न मिलने पर पूर्व सांसद और विधायक भी नाराज हैं, लेकिन वो खुलकर सामने नहीं आ रहे हैं। हालांकि टिकट न मिलने के बाद से जिस तरह से इन नेताओं के समर्थकों में आक्रोश है। उसका खामियाजा सपा को चुनाव में भुगतना पड़ सकता है।सपा उम्मीदवारों पर भारी पड़ सकती है बगावत।
समाजवादी पार्टी के टिकट बंटवारे के बाद टिकट न मिलने से नाराज दूसरे दावेदारों ने विरोध शुरू कर दिया है। सपा की शहर उत्तरी विधानसभा सीट से टिकट मांगने वाली सपा नेता मंजू पाठक का कहना है कि वो सालों से सपा में साथ जुड़ी हुई है। ब्राह्मण और महिला होने के बावजूद सपा ने ब्राह्मण बाहुल्य वाली शहर उत्तरी की सीट से उन्हें टिकट नहीं दिया गया। जबकि दूसरे जिले से आये नेता को सपा ने टिकट देकर भाजपा की जीत की राह आसान कर दी है। ऐसे में सपा नेता ने कहा कि उन्हें पार्टी हाई कमान से मिलाने का भरोसा दिया गया है। अगर समाजवादी पार्टी की तरफ से सही जवाब नहीं दिया गया तो सपा के ये नेता ने वाले चुनाव में पार्टी प्रत्याशी के लिए मुसीबत बन सकते हैं।सपा जिलाध्यक्ष ने दी सफाई
टिकट न मिलने से नाराज दावेदारों द्वारा लगाए गए आरोपों पर सफाई देते हुए जिलाध्यक्ष योगेश यादव ने कहा कि सारे आरोप निराधार हैं। जिलाध्यक्ष योगेश यादव का कहना है टिकट न मिलने पर नेताओं ने नाराजगी होती है, लेकिन सारे दावेदार पार्टी के नेता हैं। जल्द ही सभी की नाराजगी दूर कर ली जाएगी। उनका दावा है कि सभी नेता मिलकर सपा के घोषित उम्मीदवार को जीत दिलाने के लिए काम करेंगे।