नाले पर अतिक्रमण, बेखबर है पालिका!

 

 

अपनी जमीन पर हो रहे बेजा कब्जों पर मौन है पालिका!

(अखिलेश दुबे)

सिवनी (साई)। अकबर वार्ड के ईश्वर नगर और इंद्रहास नगर से सटे नाले पर कुछ कॉलोनाईजर्स के द्वारा कब्जा किया जाकर इसे संकरा करने के आरोप लगने के पाँच साल बाद भी भाजपा शासित नगर पालिका परिषद की तंद्रा नहीं टूट पायी है। वार्ड के पार्षद द्वारा इस मामले में जिला कलेक्टर को पत्र लिखकर कार्यवाही की माँग की गयी थी।

नगर पालिका के विश्वस्त सूत्रों ने समाचार एजेंसी ऑफ इंडिया को बताया कि अकबर वार्ड में ज्यारत नाके के पास इंद्रहास नगर और ईश्वर नगर के निवासियों के द्वारा 14 जून 2014, 25 मई 2015 एवं 21 अगस्त 2015 को मुख्य नगर पालिका अधिकारी को एक आवेदन दिया जाकर इस नाले पर कब्जा होने की शिकायत की गयी थी।

सूत्रों का कहना है कि लगभग पाँच साल पहले दी गयी इस शिकायत में कहा गया था कि पूर्व में डालडा फैक्ट्री का गंदा पानी बींझावाड़ा रोड से आने वाले नाले से निकलता था। उस समय इस नाले से उठने वाली असहनीय दुर्गंध के चलते लोग यहाँ रहना पसंद नहीं करते थे।

उक्त संबंध में सूत्रों ने बताया कि इस आवेदन में नागरिकों ने कहा है कि इस नाले पर कुछ रसूखदार व्यक्तियों के द्वारा कब्जा कर अतिक्रमण कर लिया गया है। नागरिकों का कहना था कि इस नाले पर कब्जा किये जाने से यह नाला अत्यंत संकरा हो गया है जिसके चलते बारिश के दिनों में लोगों के घरों में पानी घुसता रहा है और इसके चलते उन्हें आर्थिक क्षति भी उठाना पड़ रही है।

सूत्रों ने बताया कि पूर्व में पदस्थ रहे तत्कालीन मुख्य नगर पालिका अधिकारी किशन सिंह ठाकुर के द्वारा नागरिकों की इस गंभीर शिकायत को ठण्डे बस्ते के हवाले किया जाकर नागरिकों को तकनीकि समस्या का हवाला देकर उस समय शांत करवा दिया गया था। सूत्रों ने कहा कि इस नाले के संकरे हो जाने के चलते बीते साल यहाँ इतना पानी भर गया कि आसपास के खेत और मकानों में भी लगभग एक से डेढ़ फीट पानी भर गया था।

नागरिकों ने संवेदनशील जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह से जनापेक्षा व्यक्त की है कि इस मामले में स्वसंज्ञान से कदम उठाकर शहर में हो रहे अतिक्रमणों को मुक्त कराने की दिशा में पहल की जाये।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *