पीएम मोदी के नेतृत्व और राष्ट्रवाद हो सकती है BJP के प्रचार की थीम

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

नई दिल्‍ली (साई)। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) 2019 के लोकसभ चुनावों में पूरे आक्रामक तैयारी के साथ उतरेगी। पार्टी के चुनाव प्रचार में एक बार फिर पाकिस्तान के खिलाफ मोदी सरकार की आक्रामक रणनीति और प्रशासकीय क्षमता के साथ निर्णायक नेतृत्वको आधार बनाया जा रहा है। कांग्रेस के नेतृत्व में बनी यूपीए सरकार के साथ तुलना कर बीजेपी चुनावों के लिए आक्रामक तरीके से प्रचार के मूड में है।

बीजेपी के सोशल मीडिया के जरिए पिछले 2 दिनों से एक विडियो का काफी प्रचार हो रहा है। इस विडियो में आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री मोदी और बतौर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के फैसलों के विरोधाभास को दिखाया जा रहा है। पीएम मोदी कहते नजर आ रहे हैं कि मुंबई धमाकों के बाद सेना तैयार थी, लेकिन मनमोहन सिंह ने सर्जिकल स्ट्राइक का फैसला नहीं लिया। इसकी तुलना में विडियो में मोदी को अधिक अडिग और निर्णायक फैसले लेने की क्षमता से भरपूर दिखाया जा रहा है।

पीएम मोदी के निर्णय लेने की क्षमता पर जोर देते हुए एयर स्ट्राइक के बाद मोदी के पक्ष में बदले माहौल पर बीजेपी लगातार माहौल बनाने की कोशिश कर रही है। एयर स्ट्राइक से पहले तक बीजेपी और मोदी की रैलियों में विकास की थीम पर जोर दिया जाता था। एक और विडियो बीजेपी के सोशल मीडिया अकाउंट से शेयर किया गया है जिसमें बीजेपी विपक्षी पार्टियों पर तंज करती नजर आ रही है। इस विडियो में पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी को अपने देश के सभी दलों का समर्थन मिल रहा है, जबकि पुलवामा के बाद बुलाई सर्वदलीय बैठक में कई पार्टियों ने हिस्सा नहीं लिया था।

इन दो विडियो के जरिए बीजेपी की चुनाव रणनीति को आसानी से समझा जा सकता है। बीजेपी की चुनावी रणनीति में राष्ट्रीय सुरक्षा और राष्ट्रवाद का मुद्दा हावी रहनेवाला है। बीजेपी अपने चुनाव प्रचार को दो थीम मोदी है तो मुमकिन हैऔर फिर एक बार मोदी सरकारपर करने जा रही है। फिर एक बार मोदी सरकार को लिखने का काम जाने-माने गीतकार प्रसून जोशी ने किया है। इससे पहले 2014 में भी बीजेपी के चुनाव प्रचार के लिए लोकप्रिय गीत मैं देश नहीं झुकने दूंगा को भी जोशी ने ही लिखा था। पार्टी इसके साथ ही प्रचार के लिए सबका साथ सबका विकासटैगलाइन के साथ ही आगे बढ़ेगी।

सूत्रों का कहना है कि मोदी के आक्रामक चुनावी बयान, ‘घर में घुसकर मारेंगेऔर चुन-चुन के हिसाब लेना मेरी फितरत हैकैंपेन में प्रमुखता से प्रयोग किए जाएंगे। एनडीए के पुराने सहयोगियों को बीजेपी अपने साथ मजबूती से जोड़ने में कामयाब रही है। शिवसेना और बीजेपी का महाराष्ट्र में गठबंधन हो चुका है। तमिलनाडु में एआईएडीएमके और डीएमडीके जैसी क्षेत्रीय पार्टियों को भी बीजेपी अपनी नई सहयोगी बनाने में कामयाब रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *