पेंशनर्स, वृद्ध नागरिक एवं दिव्यांग के लिये घर डोर स्टेप बैंकिंग की सेवा

 

 

 

 

(ब्यूरो कार्यालय)

नई दिल्ली (साई)। यदि आप रिटायर्ड कर्मचारी हैं एवं आपको पेंशन मिलती है और आपकी उम्र 70 साल से अधिक है या फिर आप दिव्यांग हैं एवं आपका बैंक में खाता है तो अब आपको ब्रांच के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं। बैंक अधिकारी खुद चलकर आपके घर आयेंगे और आपके सभी बैंकिंग काम पूरे करेंगे।

एसबीआई ने अपने ग्राहकों के लिये घर बैठे बैंकिंग सुविधा लॉन्च की है। इसके तहत कैश पिकअप और डिलीवरी की सुविधा मिलेगी। चैक पिकअप की सुविधा भी बैंक देगी। साथ ही चैक बुक स्लिप, लाईफ सर्टिफिकेट और फॉर्म 15एच पिकअप की सुविधा भी मिलेगी। ये सुविधा एसबीआई की कुछ खास ब्रांच में मिलेगी। आप एसबीआई की वेब साईट पर जाकर इन ब्रांच की लिस्ट चैक कर सकते हैं।

ये सेवा 70 साल से ज्यादा के उम्र के लोगों को मिलेगी। इसके अलावा दिव्यांग और दृष्टि बाधित लोगों को भी सुविधा मिलेगी। स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने कहा है कि जिन ग्राहकों की केवाईसी पूरी है उन्हें ही ये सुविधा मिलेगी। इनका मोबाईल नंबर रजिस्टर्ड होना चाहिये। इसके अलावा होम ब्रांच के 05 किलो मीटर के दायरे में ही ये सेवा मिलेगी।

डोर स्टेप बैंकिंग की सेवा ज्वाइंट एकाउंट, छोटे बच्चों के एकाउंट और नॉन पर्सनल एकाउंट को नहीं मिलेगी। पात्र ग्राहकों को इस सेवा के लिये फीस देनी होगी। अगर फाईनेंशियल ट्रांजेक्शन है तो 100 रूपये प्रति ट्रांजेक्शन देने होंगे। वहीं नॉन फाईनेंशियल ट्रांजेक्शन के लिये 60 रूपये फीस देनी होगी। इसके लिये आपको अपनी होम ब्रांच में जाकर रजिस्टर करना होगा। दिव्यांग ग्राहकों को इसके लिये मेडिकल सर्टिफिकेट भी देना होगा।

एसबीआई देश का सबसे बड़ा बैंक है। इसकी देश भर में 22 हजार ब्रांच हैं। इसके अलावा बैंक के पास 58 हजार एटीएम का नेटवर्क भी है। एसबीआई की मोबाईल बैंकिंग सेवा का उपयोग लगभग 06 करोड़ ग्राहक करते हैं।

3 thoughts on “पेंशनर्स, वृद्ध नागरिक एवं दिव्यांग के लिये घर डोर स्टेप बैंकिंग की सेवा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *