सानन्द निपट गयी होली

 

 

(शरद खरे)

होली का त्यौहार भारत वर्ष में बहुत ही उल्लास के साथ मनाया जाता है। होली का इंतजार युवाओं और बच्चों को सबसे ज्यादा रहता है। इस दिन रंगों में सराबोर सभी पुराने गिले शिकवे भुलाने की चेष्टा करते हैं। सिवनी में होली का त्यौहार बहुत ही सादगी और परंपरागत उल्लास के साथ मनाया जाता रहा है।

लगभग एक डेढ़ दशक से सिवनी में होली के त्यौहार पर लड़ाई-झगड़े और विशेषकर शराब के नशे में होने वाली दुर्घटनाओं की तादाद में जमकर बढ़ौत्तरी दर्ज की गयी है। होली पर युवाओं में नशे का चलन बहुत तेजी से बढ़ा है। आज सामाजिक वर्जनाएं नशे के कारण तार-तार हो रही हैं।

पिछले कुछ सालों से होली के पर्व पर दुर्घटनाओें, लड़ाई-झगड़ों, वाद-विवाद आदि की घटनाओं में कमी आना निश्चित तौर पर शुभ संकेत ही माना जायेगा। वैसे भी होली वैमनस्य को भुलाकर गले लगने का त्यौहार माना जाता है। होली के पर्व पर एक बात अवश्य उभर कर सामने आयी है और वह यह है कि होलिका दहन की रात से धुरैड़ी तक ज्यादातर युवाओं को नशे में पूरी तरह धुत्त देखा गया।

होली के दिन पुलिस के द्वारा जिस तरह से सख्ती किन्तु लिबर्टी वाली सख्ती अपनायी गयी, उसके लिये जिले की पुलिस साधुवाद की पात्र है। चौक-चौराहों पर पुलिस दो पहिया वाहनों पर तीन सवारियों को रोकती और उन्हें समझाईश देकर रवाना करती। इस तरह सारे शहर में पुलिस की सख्ती का संदेश गया, जिससे दो पहिया वाहन पर तीन सवारियां बैठी कम ही दिखायी पड़ीं।

होली के दूसरे दिन जब लोग मिल बैठकर त्यौहार की समीक्षाएं करने जुटे तो लोगों ने पाया कि पिछले वर्षों की तुलना में इस वर्ष होली पर हुल्लड़ तो पूरी हुई किन्तु अश्लीलता और अभद्र व्यवहार के साथ होने वाली हुल्लड़ में कमी दर्ज की गयी। वैसे भी महंगाई के दौर में लोगों के अंदर अब तीज त्यौहार मनाने की इच्छाएं कम होती जा रही हैं।

होलिका दहन के दिन आसमान में बादल घुमड़े और हवा पानी के साथ जिले के अनेक स्थानों पर ओले भी गिरे। लोगों को आशंका थी कि रात में होलिका दहन के समय अगर पानी गिरा तो मुश्किल होगी। ओले और पानी से किसानों की फसलों पर इसका असर जमकर पड़ा है। काँग्रेस और भाजपा संगठनों के द्वारा जिस तरह सूखी और शालीन होली मनायी गयी उससे लगता है कि दोनों ही के मन में किसानों की प्रभावित फसलों की टीस अवश्य रही होगी।

कुल मिलाकर होली को परंपरागत उत्साह, उमंग के साथ ही साथ शांति पूर्ण तरीके से मनवाने के लिये जिला कलेक्टर प्रवीण सिंह अढ़ायच और जिला पुलिस अधीक्षक ललित शाक्यवार सहित जिला एवं पुलिस प्रशासन को जिले के नागरिक दिल से धन्यवाद ही दे रहे होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *