गरीबी से जूझ रहे परिवार को मदद की है दरकार

 

(ब्यूरो कार्यालय)

घंसौर (साई)। आदिवासी बाहुल्य घंसौर विकासखण्ड के बरेला गाँव में गरीबी और बेरोजगारी से जूझ रहे परिवार ने मदद की गुहार लगायी है। शासकीय योजनाओं के लाभ से वंचित परिवार में तीन मासूम बच्चों का भरण पोषण करने दृष्टिहीन माता – पिता भिक्षा माँगने के लिये मजबूर हैं।

सुदूर अंचल बरेला गाँव में जर्जर व कच्चे मकान में रह रहे दंपत्ति के मुखिया विमल नेमा को दिव्यांग पेंशन मिल रही है जबकि पत्नि को इसका लाभ नहीं मिल रहा है। गरीबी रेखा का राशन कार्ड होने के बावजूद प्रधानमंत्री आवास योजना से वंचित इस परिवार के बच्चे बीते दिनों आँधी तूफान के दौरान कच्चे मकान की दीवार गिर जाने से चोटिल हो गये थे।

गरीबी से जूझ रहे परिवार के पास आय का कोई साधन न होने की वजह से उनका आर्थिक संकट दिन प्रतिदिन गहराता जा रहा है। वहीं सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे बच्चों के सामने उच्च शिक्षा ग्रहण करने की चुनौती दिखायी दे रही है।

3 thoughts on “गरीबी से जूझ रहे परिवार को मदद की है दरकार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *