गर्मी का सबसे अच्छा होता है जूस

 

 

देता है गर्मी से राहत और तत्काल एनर्जी

इस साल मार्च माह की लगभग समाप्त होते – होते ही सूर्य देव सुबह से शाम तक तमतमाये ही दिख रहे हैं। अप्रैल आते ही गर्मी काफी बढ़ जायेगी। ऐसे में सेहत का अभी से ध्यान रखना जरूरी है। कामकाजी लोग व स्टूडेंट न चाहते हुए भी धूप के संपर्क में आ रहे हैं।

अब जरूरत है कि लोग अपनी सेहत का ख्याल रखना आरंभ कर दें, ताकि वे बीमार न हों और उनके काम पर भी इफेक्ट न पड़े। चिकित्सकों का कहना है कि अब लोगों को गर्मी के अनुसार खान पान आरंभ कर देना चाहिये। इसके लिये वे अभी से तैयार हो जायें।

चिकित्सकों के अनुसार डाइट में लिक्विड फूड, फ्रेश फ्रूट्स, फ्रेश वेजिटेबल, फ्रेश जूस का ही सेवन करें। अपनी दिनचर्या में ऐसी चीजें शामिल करें जिनसे आप स्वस्थ्य रह सकें। चिकित्सकों की मानें तो बाजार के खुले में बिक रही चीजों को नजर अंदाज करना जरूरी है। घर से बाहर निकलने से पहले पानी पीकर जायें। बाहर से घर आते ही फौरन ठण्डा पानी पीने से बचें। थोड़ी सी सतर्कता बड़े काम आयेगी।

पानी की कमी से होता है कमजोरी का अहसास : गर्मी में यह जरूरी है कि शरीर में लिक्विड डाइट का इंटेक (तरील पदार्थ का सेवन ज्यादा किया जाये) बढ़ाया जाये। तापमान बढ़ने से बॉडी में पानी की कमी होने लगती है और कमजोरी का अहसास होता है। डाइट एक्सपर्ट ने बताया कि हर थोड़ी देर में पानी पीयें। साथ ही जूस, गन्ने का रस, नींबू पानी, नारियल पानी जैसी चीजों को पीते रहें। यह बॉडी में ग्लूकोज की मात्रा बनाये रखती है।

फ्रेश वेजिटेबल्स से मिलेगी एनर्जी : चिकित्सकों के अनुसार गर्मियों में आमतौर पर और मुलायम सब्जियां मिलती हैं। लौकी, खीरा, करेला जैसी सब्जियां बेहतर होती हैं। इनकी तासीर ठण्डी होती है और गर्मी में शरीर के लिये बेहद फायदेमंद भी होती है। यह सब्जियां पचने में आसान और पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं। सलाद का सेवन जरूर करें, क्योंकि इसमें फाइबर होता है जो पाचन तंत्र के लिये जरूरी है।

अंगूर सबसे ज्यादा फायदेमंद : अगर आप जूस नहीं लेते हैं तो मौसमी फलों का सेवन करें। न्यूट्रिशियन्स के अनुसार तरबूज, खीरा और अंगूर का सेवन करें। तरबूज और खरबूज 80 प्रतिशत पानी होता है। अंगूर भी इस मौसम में शरीर के लिये लाभकारी होता है। इन दिनों बेहतर यही है कि खुद को धूप से सेफ रखा जाये।

(साई फीचर्स)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *