एक ही सीट से चुनाव में उतरे पति-पत्नी, वजह है खास

 

 

 

 

(ब्‍यूरो कार्यालय)

मुंबई (साई)। हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए सुजय विखे पाटिल महाराष्ट्र की अहमदनगर सीट से उम्मीदवार हैं। इसी सीट से उनकी पत्नी धनश्री पाटिल ने भी पर्चा दाखिल कर दिया है।

महाराष्ट्र की अहमदनगर लोकसभा सीट पति-पत्नी ने एक-दूसरे के खिलाफ ही पर्चा भर दिया है! अरे नहीं! चौंकिए मत। दरअसल, मामला कुछ यूं है कि भारतीय जनता पार्टी कैंडिडेट सुजय विखे पाटिल ने इस सीट से नामांकन कराया तो उनकी पत्नी ने भी इसी सीट से नामांकन कराया है। ऐसा इसलिए कराया गया है कि अगर किसी कारणवश सुजय का पर्चा रद्द हो जाए तो उनकी पत्नी चुनाव मैदान में बनी रहें और दावेदारी बरकरार रहे।

गुरुवार को सुजय की पत्नी धनश्री ने अहमदनगर सीट से पर्चा भरा। इस बारे में सुजय के ऑफिस की ओर से कहा गया, ‘यह महज एक एहतियाती कदम है कि अगर किसी तकनीकी कारण से सुजय के नॉमिनेशन में कोई समस्या आए तो दावेदारी बरकरार रह सके।आपको यह भी बता दें कि अभी अहमदनगर सीट से बीजेपी के ही दिलीप गांधी सांसद हैं लेकिन इस बार पार्टी ने उनकी जगह सुजय को चुनाव में उतारा है।

कांग्रेस से टिकट मांग रहे थे सुजय विखे पाटिल

हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए सुजय विखे पाटिल कांग्रेस के वरिष्ठ नेता राधा कृष्ण विखे पाटिल के बेटे हैं। वह कांग्रेस के टिकट पर अहमदनगर सीट से चुनाव लड़ने के इच्छुक थे लेकिन कांग्रेस और एनसीपी के गठबंधन में यह सीट एनसीपी के कोटे में चली गई। एनसीपी ने यह सीट सुजय को देने से इनकार कर दिया। जब सुजय कांग्रेस छोड़कर बीजेपी में शामिल हुए तो एनसीपी अध्यक्ष शरद पवार ने कहा था कि नेताओं के बेटों को संभालना उनका काम नहीं है।

आपको यह भी बता दें कि शरद पवार और विखे परिवार के बीच राजनीतिक प्रतिद्वंद्विता लंबे समय से चली आ रही है। राधा कृष्ण विखे पाटिल के पिता बाला साहब विखे शिवसेना से चुनाव लड़कर जीते भी थे और मंत्री भी बने थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *