बाघदेव बंजारी के जंगल हो रहे गुलज़ार!

 

 

सुनसान इलाकों में प्रेमी युगलों का लगता है जमघट

(अपराध ब्यूरो)

सिवनी (साई)। शहर के आसपास के उपनगरीय क्षेत्रों में प्रेमी युगलों के मिलन स्थलों पर युवाओं की टोलियों के द्वारा किये जाने वाले दुर्व्यवहार की शिकायतों में तेजी से इजाफा होता नजर आ रहा है।

बताया जाता है कि बरघाट रोड पर बाघदेव बंजारी के जंगलों में प्रेमी युगलों के द्वारा एकांत का जमकर उपयोग किया जा रहा है तो युवाओं की टोलियों के द्वारा इनके साथ अभद्र व्यवहार किया जाकर इनके शोषण की शिकायतें भी मिल रही हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शहर के आसपास खाली पड़े मैदानों और सुनसान इलाकों में प्रेमी युगल अनेक बार घण्टों बैठे बतियाते दिख जाते हैं तो कुछ आपत्ति जनक स्थिति में भी दिख जाते हैं। बरघाट रोड पर बाघदेव बंजारी के आसपास के जंगलों में प्रेमी युगलों के द्वारा एकांत का जमकर फायदा उठाया जा रहा है।

बताया जाता है कि बरघाट रोड के ही किसी ग्राम के निवासी युवाओं की टोली इस तरह के प्रेमी युगलों की टोह लेती रहती है। प्रेमी युगल जैसे ही किसी छांव में जाकर बैठते हैं, ये युवा वहाँ पहुँचकर उनकी फोटो खींचकर उन्हें धमकाते नजर आते हैं। इतना ही नहीं इन युवाओं की टोलियों के द्वारा प्रेमी युगलों का मोबाईल और पैसे तक छुड़ा लिये जाते हैं।

बताया जाता है कि युवाओं की इस टोली में बोरी ग्राम के कुछ युवक भी शामिल हैं। इन युवकों पर आरोप है कि ये प्रेमी युगलों को पकड़कर उनसे पैसे वसूलते हैं और कभी – कभी तो युवतियों को धमकाकर उनके साथ दुष्कर्म तक करते हैं। बताया जाता है कि मामला चूँकि शर्म हया और बदनामी से जुड़ा होता है इसलिये बात वहीं के वहीं रफा दफा कर दी जाती है।

चर्चाएं तो यहाँ तक हैं कि बबरिया, शंकराचार्य पार्क, अशोक नगर के बगीचे, पी.जी. कॉलेज, स्टेडियम के आसपास सहित अनेक निर्जन इलाकों में प्रेमी युगलों के साथ मनचलों के द्वारा जमकर छेड़छाड़ की जाती है। इन निर्जन स्थानों पर मयजदों के द्वारा बिना किसी डर के जाम टकराये जाते हैं। इस बात की चुगली निर्जन स्थानों पर पड़ी शराब की बोतलें, नमकीन के पैकेट, बीड़ी सिगरेट के डुट्ठे करते दिखते हैं।

युवाओं में जिन तरह नशे का चलन बढ़ा है वह आने वाले समय के लिये घातक ही माना जा सकता है। नाबालिगों को शराब या तंबाखू उत्पाद विक्रय न किये जाने के स्पष्ट निर्देशों के बाद भी अनेंकों नाबालिगों के द्वारा इन नशीले पदार्थों का उपयोग जमकर किया जा रहा है।

लोगों का कहना है कि कुछ साल पहले तक निर्जन स्थानों पर आपत्ति जनक हालत में मिलने वाले युगलों के खिलाफ निर्भया मोबाईल द्वारा कार्यवाही की जाती थी, किन्तु लंबे समय से निर्भया मोबाईल के द्वारा भी इस तरह की कार्यवाही को अंजाम न दिये जाने के कारण इसकी कार्यप्रणाली पर भी प्रश्न चिन्ह लगते दिख रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *