विचित्र बीमारी की जद में आधा दर्जन गाँव!

 

 

स्वास्थ्य विभाग की नहीं टूट पा रही तंद्रा

(संजीव प्रताप सिंह)

सिवनी (साई)। जिला मुख्यालय के आसपास के लगभग आधा दर्जन से ज्यादा गाँवों में अजीब बीमारी ने लोगों को अपनी जद में ले लिया है। बीमारों के शरीर पर लाल लाल निशान हो रहे हैं, जो चेचक के मानिंद ही प्रतीत हो रहे हैं। अधिकांश बीमारों के परिजनों के द्वारा घरेलू उपचार का सहारा लिया जा रहा है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला मुख्यालय से उत्तरी दिशा के गाँव इससे ज्यादा प्रभावित हैं। मट्ठा टोला, भुरकुलखापा, सेलुआ, पलारी, छिड़िया, डूण्डा सिवनी, चूना भट्टी आदि ग्रामों में इस बीमारी के सैकड़ों मरीज मौजूद हैं। इसमें सबसे ज्यादा मरीज मट्ठा टोला में ही दिखायी दे रहे हैं।

मरीजों के परिजनों की मानें तो वे इसे चेचक (माता) मानकर इसका उपचार घरेलू तौर पर ही कर रहे हैं। अमूमन चेचक होने पर घर में झोंका बघारा खाना बंद कर दिया जाता है। इसके अलावा नीम के पत्तों से मरीज को हवा की जाती है। इस तरह का माहौल पीड़ितों के घरों में दिखायी दे रहा है।

वहीं, जानकारों का कहना है कि इन ग्रामों की आशा कार्यकर्त्ताओं आदि को इस बात की जानकारी है कि ग्रामों में इस तरह की बीमारी का प्रकोप बढ़ता जा रहा है, इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग के दल के द्वारा इन ग्रामों की ओर रूख करने की जहमत अभी तक नहंी उठायी गयी है।

लोगों का कहना है कि यह भी संभव है कि गर्मी के मौसम में दूषित पेयजल के सेवन से ग्रामीण इस बीमारी की जद में आ रहे होंगे। लोगों ने कहा कि गर्मी के मौसम में पानी की खपत बढ़ जाती है और पर्याप्त पानी न मिल पाने के कारण लोग दूषित जल का उपयोग करते हैं। लोगों ने जिला प्रशासन के ध्यानाकर्षण की जनापेक्षा व्यक्त की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *